India

टारगेट को पूरा करने के लिए महीनों पहले मरे हुए व्यक्ति का भी हो गया टीकाकरण ? जानें पूरा मामला

fake-vaccination-for-completing-the-target-in-gwalior-madhya-pradesh
आर्टिकल को शेयर ज़रूर करें :-

ऐसा लगता है कि वैक्सीनेशन का आंकड़ा पूरा करने के लिए अधिकारी किसी भी हद तक जाने को तैयार हैं। ग्वालियर में हुआ यह मामला तो ऐसा ही कुछ संकेत दे रहा है। असल में यहां पर एक ऐसे व्यक्ति को वैक्सीन लगाने का दावा किया जा रहा है जिसकी कुछ महीने पहले मौत हो चुकी है। स्वास्थ्य विभाग की इस करतूत से सरकार के वैक्सीनेशन के आंकड़ों पर भी सवाल उठने लगा है।

यह भी पढ़ें -: CM योगी व PM मोदी की Photo पर बोले अखिलेश यादव- सियासत में कभी ये भी करना पड़ता है

यह भी पढ़ें -: कृषि कानून की वापसी पर बोली उमा भारती, कहा- PM ने जो कहा वो बहुत व्यथित कर गया

10 मई को हो चुकी है मौत – यह मामला है मध्य प्रदेश के शहर ग्वालियर का। यहां पर भितरवार वार्ड-3 निवासी विनोद पाठक स्वास्थ्य विभाग में कर्मचारी हैं। उनके पिता 81 वर्षीय शिवचरण पाठक की गैंगरीन के चलते 10 मई 2021 को मौत हो चुकी है। शिवचरन की मौत से पहले 9 अप्रैल 2021 को उनको वैक्सीन की पहली डोज लगवाई गई थी। रजिस्ट्रेशन के लिए बेटे विनोद का मोबाइल नंबर यूज किया गया था।

यह भी पढ़ें -: राकेश टिकैत का ओवैसी पर पलटवार, बोले- BJP और ओवैसी चाचा भतीजे जैसे

यह भी पढ़ें -: CJI बोले- फैसले लेने से पहले, शासकों को गहराई से सोचने की जरूरत, लोकतंत्र में जनता ही सर्वोपरि

अब हो रही जांच की बात – शिवचरन की मौत के बाद उनका डेथ सार्टिफिकेट भी बन गया था। लेकिन 17 नवंबर 2021 को विनोद के पास एक मैसेज आया जिसमें लिखा था कि आपको वैक्सीन का दूसरा डोज सफलतापूर्वक लग गया है। यह देखकर खुद विनोद भी हैरान रह गए। इसकी जानकारी के लिए विनोद भितरवार स्वास्थ्य केन्द्र पहुंचे। उन्होंने यहां पता किया तो कोई जानकारी नहीं मिली। मामले में सीएमएचओ डॉ. मनीष शर्मा का कहना है कि वह इसकी जांच कराएंगे कि ऐसा कैसे हो गया।

यह भी पढ़ें -: किसान महापंचायत में बोले राकेश टिकैत- संघर्ष विराम का ऐलान केंद्र ने किया है, हमने नहीं

यह भी पढ़ें -: NBDSA ने ज़ी न्यूज़ को फटकार लगाते हुवे 2 वीडियो वापस लेने को कहा

सोर्स – livehindustan.com.


आर्टिकल को शेयर ज़रूर करें :-