India

धर्म संसद मामले में SC की फटकार के बाद दिल्ली पुलिस ने दर्ज की FIR

delhi-police-new-affidavit-in-delhi-dharm-sansad-hate-speech-case
आर्टिकल को शेयर ज़रूर करें :-

देश की राजधानी दिल्ली में पिछले साल दिसंबर में हुए धर्म संसद को लेकर हेट स्पीच के मामले में दिल्ली पुलिस ने अपना रुख बदल लिया है। बता दें कि सुप्रीम कोर्ट की फटकार के बाद दिल्ली पुलिस ने हेट स्पीच को लेकर एफआईआर दर्ज कर ली है। इसको लेकर दिल्ली पुलिस ने सुप्रीम कोर्ट में एक नया हलफनामा दाखिल कर जानकारी दी है।

दरअसल इससे पहले दिल्ली पुलिस ने धर्म संसद में हेट स्पीच को लेकर दायर किये अपने पहले हलफनामे में कहा था कि सबूतों और सामग्री की जांच के बाद नतीजों से पता चलता है कि धर्म संसद में दिये भाषण में किसी विशेष समुदाय के खिलाफ कोई घृणास्पद शब्द नहीं था। धर्म संसद में आए लोग अपने समुदाय की नैतिकता को बचाने के उद्देश्य से जमा हुए थे।

ये भी पढ़ें -: लाउडस्पीकर से अजान पर एक्शन, दो मस्जिदों के खिलाफ मामला दर्ज

पुलिस ने अपने पहले हलफनामे में कहा था कि धर्म संसद में ऐसे किसी शब्दों का प्रयोग नहीं किया गया जिसकी मुसलमानों के नरसंहार के लिए खुले आह्वान के रूप में व्याख्या की जा सकती है। बता दें कि इस हलफनामे को लेकर सुप्रीम कोर्ट ने दिल्ली पुलिस को फटकार लगाते हुए बेहतर हलफनामा दाखिल करने को कहा था।

दिल्ली पुलिस द्वारा दायर किये गये पहले हलफनामे पर सुप्रीम कोर्ट में न्यायमूर्ति एएम खानविलकर ने कहा था, “यह हलफनामा पुलिस उपायुक्त द्वारा दायर किया गया है। क्या वो इससे सहमत हैं? या उन्होंने उप निरीक्षक स्तर पर की गई जांच रिपोर्ट को आगे बढ़ा दिया?वहीं सुप्रीम कोर्ट की फटकार के बाद अब दिल्ली पुलिस ने एक नया हलफनामा दायर किया है।

ये भी पढ़ें -: महिला की IG से शिकायत: पति नपुंसक, रिटायर्ड IAS ससुर ने की शारीरीक संबंध बनाने की कोशिश

नए हलफनामे में पुलिस ने कहा है कि उसने सामग्री की जांच के बाद FIR दर्ज की है। इस मामले में कानून के मुताबिक कार्रवाई की जाएगी। दिल्ली पुलिस ने कहा है कि शिकायत में दिए गए सभी लिंक और सार्वजनिक डोमेन में मौजूद अन्य सामग्रियों को जांचा गया और एक वीडियो यूट्यूब पर भी मिला। बता दें कि इस मामले में अब 9 मई को सुनवाई होनी है।

गौरतलब है कि पिछले साल दिसंबर में हिंदू युवा वाहिनी की तरफ से दिल्ली के गोविंदपुरी मेट्रो स्टेशन के पास बनारसीदास चांदीवाला सभागार में एक कार्यक्रम आयोजित किया गया था। इस कार्यक्रम को लेकर आरोप लगा कि इसमें हेट स्पीच के जरिए लोगों की भावनाओं को भड़काया गया था।

ये भी पढ़ें -: अयोध्या में शिवसेना के पोस्टर मैं BJP और राज ठाकरे पर निशाना- असली आ रहा रहा है नकली से सावधान

ये भी पढ़ें -: BJP नेता की HC मैं याचिका- ताजमहल के 20 कमरों को खोला जाए, ताकि पता लगाया जा सके कि…

सोर्स – jansatta.com


आर्टिकल को शेयर ज़रूर करें :-