Politics

लड़की से छेड़खानी पर पड़ोसी ने डांटा तो छत पर रख दिया IED, आतंकी बता पुलिस को दी सूचना, खुद गिरफ्तार

delhi-police-arrested-a-muzamil-alvi-for-planting-ied-on-neighbors-roof
आर्टिकल को शेयर ज़रूर करें :-

दिल्ली पुलिस (Delhi Police) की स्पेशल सेल की टीम और स्वाट कमांडो की टीम ने दिल्ली से सटे गाजियाबाद के लोनी में 31 जुलाई को एक घर पर छापा मारा था. पुलिस को सूचना मिली थी कि घर के मालिक अंसार खान ने फरवरी 2020 के दिल्ली दंगों (Delhi Riots) के दौरान हिंसा को बढ़ावा देने के लिए बम सप्लाई किये थे. पुलिस टीम को छत पर जंग लगे कंटेनर में पाइप बम छिपे हुए मिले. जांच में पता पता चला कि अंसार खान के पड़ोसी मुजम्मिल अल्वी ने अंसार की छत पर ये बम रखे थे.

मुजम्मिल की अंसार से पुरानी दुश्मनी थी इसलिए उसने अंसार को फंसाने के लिए ये सब किया था. पुलिस ने मुजम्मिल को गिरफ्तार कर लिया है. पुलिस के सामने एक अजीबोगरीब चुनौती थी: पांच बम और एक संदिग्ध, लेकिन इस बात का कोई सुराग नहीं कि संदिग्ध ने आईईडी कैसे प्राप्त किया या उन्हें कैसे बनाया?

मुखबिर ने पुलिस को जो छत की फ़ोटो भेजी थी उसमें लापता लिंक था. तस्वीर में पीले-हरे धब्बों वाली एक छत दिखाई दे रही थी जबकि खान की छत पर ऐसे निशान नहीं थे. जाहिर है, तस्वीर इस खास छत की नहीं थी. इस आधार पर तेजी से काम करते हुए, पुलिस ने पाया कि अल्वी ने खान को फंसाया था.

स्पेशल सेल के डीसीपी प्रमोद कुशवाहा ने गहराई से जांच करने के लिए टीम को निर्देश दिए. जांच में पता चला कि मुजम्मिल के खिलाफ लड़कियों ने शोषण के आरोप लगाए थे और एक पंचायत में अंसार ने मुजम्मिल को इसे लेकर उसे फटकारा था.

जैसा कि पुलिस के मुखबिर ने सुझाव दिया था कि संदिग्ध अंसार के आतंकवादियों से संबंध हैं, छापेमारी करने वाली टीमें हथियारों से लैस हो गई थीं. कार्रवाई में खान को हिरासत में ले लिया गया था. पुलिस को छत पर एक जंग लगा हुआ बेलनाकार कंटेनर मिला, जिसे जब बम निरोधक दस्ते की मौजूदगी में खोला गया, तो मकान मालिक हैरान रह गया, जिसमें कागजों में लिपटे पाइप बम दिखाई दिए. बमों को निष्क्रिय कर दिया गया, जब्त कर लिया गया और मलखाना में जमा कर दिया गया.

इस दौरान अंसार लगातार कहता रहा कि वो बेगुनाह है. इसके बाद जांच टीम को लगा कि अंसार की बात सही हो सकती है. इसके बाद पुलिस ने अंसार के पड़ोसी मुज्जमिल अल्वी को पकड़ा. उसके बयानों में विरोधाभास था, पूछताछ के बाद उसने चौंकाने वाला कबूलनामा किया. मुज्जमिल ने स्वीकार किया कि बम उसने ही बनाये हैं और उन्हें खान की छत पर लगाया था क्योंकि वह खान द्वारा अपने परिवार पर लाए गए कथित अपमान का बदला लेना चाहता था.

मुज्जमिल ने बताया कि उसने स्थानीय बाजार से पोटैशियम और अन्य सामग्री खरीदी थी और फिर बांस के खंभे का उपयोग करके खान की छत पर आईईडी लगाए थे. उसने अपनी छत पर बमों की तस्वीर खींची थी. इस बीच, जब्त किए गए लोहे के पाइप बमों की जांच विशेषज्ञों द्वारा की गई जिन्होंने उनमें विस्फोटक और पोटेशियम की मौजूदगी की पुष्टि की.

चूंकि बमों की बरामदगी यूपी के लोनी से की गई थी और इसका दिल्ली से कोई संबंध नहीं था, इसलिए बरामद बम और मुज्जमिल अल्वी को यूपी पुलिस को सौंप दिया गया. वहां उसे गिरफ्तार कर लिया गया. खान को क्लीन चिट दे दी गई है. रिहाई के बाद जब उन्हें घर ले जाया गया तो उनके परिवार के लोगों ने दिल्ली पुलिस का शुक्रिया अदा किया.

ये भी पढ़ें -: RTI से बड़ा खुलासा, कोरोनिल किट के COVID 19 में उपयोगी होने का सरकार के पास नहीं कोई रिकॉर्ड

ये भी पढ़ें -: RTI से बड़ा खुलासा, कोरोनिल किट के COVID 19 में उपयोगी होने का सरकार के पास नहीं कोई रिकॉर्ड

सोर्स – ndtv.in


आर्टिकल को शेयर ज़रूर करें :-