Politics

CM शिंदे के बीच-बचाव के बाद फिर भिड़े MLA, एक बोला- घुसकर मारेंगे, दूसरे ने कहा- तलवार…

20221105 101534 min
आर्टिकल को शेयर ज़रूर करें :-

महाराष्ट्र (Maharashtra) के अमरावती (Amravati) में दो विधायकों के बीच विवाद सुलझने का नाम नहीं ले रहा (Amravati MLA Verbal Fight Eknath Shinde). बच्चू कडू और रवि राणा. मामला इतना बढ़ गया कि मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे और डिप्टी सीएम देवेंद्र फडणवीस को लड़ाई सुलझाने के लिए हस्तक्षेप करना पड़ा. लेकिन कुछ घंटे बाद ही फिर दोनों भिड़ गए. घर में घुसकर मारने की धमकी तक दे दी.

मंगलवार, 1 नवंबर को सीएम और डिप्टी सीएम के हस्तक्षेप के बाद अमरावती में कडू ने राणा को माफ करने की बात कही. लेकिन उनका लहजा कुछ सख्त था. उन्होंने समर्थकों को संबोधित करते हुए कहा – रवि राणा ने खेद व्यक्त किया है… मैं इससे खुश हूं. उसे अपनी गलती का अहसास हो गया है. वो दो कदम पीछे हट गया है और मुझे चार कदम पीछे जाने में कोई आपत्ति नहीं है. मैं इस तरह के तुच्छ मुद्दों पर अपनी ऊर्जा बर्बाद नहीं करना चाहता.

इंडियन एक्सप्रेस के मुताबिक, उन्होंने आगे कहा – हम किसी को परेशान नहीं करते लेकिन अगर कोई हमें सुई भी चुभाएगा तो हम उसे नहीं बख्शेंगे. हमें सत्ता की परवाह नहीं है… पिछले 20 साल से मैं अपने खिलाफ 350 मामलों का सामना कर रहा हूं.

ये भी पढ़ें -: गुजरात चुनाव से पहले आम आदमी पार्टी को झटका, इंद्रनील राजगुरु ने थामा इस पार्टी का हाथ…

कडू की ये भाषा और लहजा राणा को बिल्कुल पसंद नहीं आया. राणा ने सीधे-सीधे कडू पर दादागिरी करने का आरोप लगा दिया. बुधवार, 2 नवंबर की शाम को निर्दलीय विधायक राणा ने मीडिया को बताया – कडू और मैंने शिंदे और फडणवीस के साथ तीन घंटे से अधिक समय तक चर्चा की. मैंने उनकी सलाह पर माफी भी मांगी. अब कडू ने जनसभा में मुझे फिर से धमकाया और दादागिरी की भाषा का इस्तेमाल किया, जिसे हम बर्दाश्त नहीं करेंगे. हम घर में घुस कर मारेंगे.

इस पर फिर कडू का रिएक्शन सामने आया. संवाददाताओं से बोले – मैं राणा को चुनौती देता हूं … उसे मेरे घर में तलवार के साथ आने दो, मैं उस पर फूल चढ़ाऊंगा. मुझे झगड़े को और आगे बढ़ाने में कोई दिलचस्पी नहीं है.

बता दें कि दोनों विधायकों के बीच जुबानी जंग तब शुरू हुई जब रवि राणा ने आरोप लगाया कि कडू को महा विकास अघाड़ी सरकार को गिराने और शिंदे के नेतृत्व वाले गुट का समर्थन करने के लिए 50 करोड़ रुपये की रिश्वत की पेशकश की गई थी. तभी से दोनों के बीच विवाद है.

ये भी पढ़ें -: एलन मस्क ने भारत में ट्विटर की पूरी टीम को निकाला, थे करीब 250 कर्मचारी

ये भी पढ़ें -: अफगानिस्तान की हार के बाद मोहम्मद नबी ने छोड़ी कप्तानी, कही ये बात…


आर्टिकल को शेयर ज़रूर करें :-