Politics

चाचा से लड़ाई में चिराग ने तेजस्वी को बनाया भाई,  बिहार में बदल सकते हैं समीकरण?

chirag-paswan-says-tejashwi-yadav-younger-brother
आर्टिकल को शेयर ज़रूर करें :-

लोक जनशक्ति पार्टी (LJP) में फूट के बाद से बिहार में सियासी पारा चढ़ा हुआ है। लोजपा अध्यक्ष चिराग पासवान अपने चाचा पशुपति पारस से सियासी लड़ाई लड़ रहे हैं। चाचा भतीजे की यह लड़ाई अब जिला लेवल तक पहुंच गई है। इसी बीच चिराग ने नेता प्रतिपक्ष तेजस्‍वी यादव को छोटा भाई बताया है और बताया कि वे उनसे लगातार संपर्क में हैं।

चिराग के चाचा पशुपति कुमार पारस ने लड़ाई को जिला लेवल तक पहुंचा दिया है। वे अब बिहार के जिला स्तर पर पार्टी के संगठनात्मक ढांचे को बालने की तैयारी में हैं। वे नई कार्य समिति बनाने जा रहे हैं। इसके तहत अधिकांश जिलों में नए जिला अध्यक्ष बनाए जाएंगे। वहीं चिराग पासवान ने तेजस्वी यादव को छोटा भाई बताया और कहा कि उनसे लगातार बार हो रही है। उन्होंने पहली बार सार्वजनिक रूप से स्वीकार किया कि तेजस्वी और वे संपर्क में हैं।

ये भी पढ़ें -: राकेश टिकैत की ललकार- लालकिला तो कुछ भी नहीं, अब संसद जाएंगे ट्रैक्टर औऱ…

चिराग ने कहा कि तेजस्वी मेरे छोटे भाई हैं ये हमेशा मैंने ऑनरिकॉर्ड कहा है। उनके और मेरे पिता दोनों बहुत अच्छे दोस्त रहे हैं। दोनों ने लंबे समय तक काम किया है। ऐसे में मेरी उनसे बात होती रहती है। वहीं राष्ट्रीय जनता दल (RJD) ने अपने दफ्तर में 5 जुलाई को रामविलास पासवान की जयंती मनाने की घोषणा की है।

वरिष्ठ नेता और पूर्व मंत्री श्याम रजक ने ‘दैनिक भास्कर’ को बताया कि RJD कोरोना प्रोटोकॉल का पालन करते हुए अपना 25वां स्थापना दिवस मनाएगी। लेकिन उससे पहले लोजपा के संस्थापक रामविलास पासवान की जयंती मनाई जाएगी। इसके लिए प्रखंड स्तर तक वर्चुअल मीटिंग होगी। पार्टी ऑफिस में एलइडी लगाई जाएगी। यह कार्यक्रम 5 जुलाई को दोपहर 3 बजे से शाम 6 बजे तक चलेगा।

ये भी पढ़ें -: अनुपम खेर बोले- मैं चुल्लू भर पानी में डूब सकता हूं ?

इससे पहले तेजस्वी यादव ने बुधवार को चिराग को भाई बताया था और कहा था कि चिराग के साथ गलत हो रहा है। तेजस्वी ने कहा “2005 और 2010 में भी लोजपा को तोड़ने की कोशिश नीतीश कुमार ने की थी। 2010 में एक एमएलए और एक एमपी नहीं था लोजपा में, तब लालू प्रसाद ने रामविलास पासवान को आरजेडी कोटे से राज्यसभा सदस्य बनाया था।

आरजेडी नेता ने कहा “अब चिराग भाई को तय करना है कि संविधान निर्माता अंबेडकर का संविधान मानने वालों के साथ रहेंगे या बाबा गोलवलकर की विचारधारा के साथ?

ये भी पढ़ें -: कांग्रेस नेता बोले- धारा 370 बहाल होनी चाहिए तो संबित पात्रा ने भड़के हुवे कही ये बात… Video देखें

सोर्स – jansatta.com


आर्टिकल को शेयर ज़रूर करें :-