Politics

भूपेश बघेल का BJP पर वार, बोले- झंडे में शांति का सफेद रंग गायब, इसलिए अशांति फैलाती है BJP

chhattisgarh-cm-bhupesh-baghel-attacks-on-bjp-flag-colour-in-durg
आर्टिकल को शेयर ज़रूर करें :-

मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) और छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh) के मुख्यमंत्री इन दिनों रंगों को लेकर एक-दूसरे पर निशाना साध रहे हैं. पहले एमपी के सीएम शिवराज सिंह चौहान (CM Shivraj Singh Chouhan) ने छत्तीसगढ़ की बघेल सरकार पर भगवा को कुचलने का आरोप लगाया. इसके बाद अब छत्तीसगढ़ के सीएम भूपेश बघेल (CM Bhupesh Baghel) ने शिवराज सिंह चौहान को जवाब दिया है. उन्होंने कहा कि बीजेपी (BJP) के झंडे में शांति गायब है, इसलिए अशांति फैलती है.

दरअसल सीएम भूपेश बघेल शनिवार को दुर्ग रवाना होने से पहले रायपुर हेलीपैड पर मीडिया से बातचीत के दौरान शिवराज सिंह चौहान के बयान पर पलटवार किया.

ये भी पढ़ें -: RTI में खुलासा: द कश्मीर फाइल्स कोई डॉक्यूमेंट्री नहीं, ड्रामा श्रेणी की फिल्म

सीएम भूपेश बघेल ने कहा, “रंगों से कोई फर्क नहीं पड़ता है, सात रंगों से अलग-अलग रंग बने हैं. भगवा हमारे साधु-संतों का रंग है, जिन्होंने सांसारिक मोह-माया से त्याग कर लिया, भगवा सर्वोच्च त्याग का है. इन्होंने कौन सा त्याग कर लिया, जो भगवा धारण कर रहे हैं. बीजेपी के लोग सब हड़पने के लिए भगवा रंग धारण करते हैं.”

उन्होंने बीजेपी पर तंज कसते हुए आगे कहा कि कांग्रेस के झंडे में सबसे पहला भगवा ही रंग है, दूसरा सफेद और तीसरा हरा है. हमारा रिप्रेजेंटेशन पूरे देश और समाज का है. ये लोग भी हरा रंग रखे हुए हैं, लेकिन उसमें शांति नहीं है. क्योंकि बीच का सफेद रंग, जो शांति का है, वह गायब है, इसलिए अशांति फैलती है.

ये भी पढ़ें -: यूपी में मुस्लिम महिलाओं को रेप की धमकी, वीडियो हुआ वायरल

आपको बता दें कि खैरागढ़ विधानसभा उपचुनाव में प्रचार करने पहुंचे एमपी के सीएम शिवराज सिंह चौहान ने जनसभा को संबोधित करते हुए सीएम भूपेश बघेल सरकार पर भगवा को कुचलने का आरोप लगाया था. उन्होंने कहा था कि छत्तीसगढ़ में अगर कोई भी भगवा पहनता है तो भूपेश सरकार उसे कुचलने का काम करती है. सनातन धर्म की संस्कृति को मिटाने का काम बघेल सरकार कर रही है.

ये भी पढ़ें -: आतंकी हाफिज सईद को 31 साल जेल की सजा, पाकिस्तानी कोर्ट का फैसला

ये भी पढ़ें -: श्रीलंका ने पकड़े भारत के करीब 12 मछुआरे, जमानत के लिए मांगे 1-1 करोड़ रुपये

सोर्स – abplive.com


आर्टिकल को शेयर ज़रूर करें :-