World

जॉनसन सरकार पर सांसद नुसरत गनी का आरोप- मुस्लिम होने के नाते कैबिनेट से किया गया बेदखल

British Lawmaker Nusrat Ghani
आर्टिकल को शेयर ज़रूर करें :-

British Lawmaker Nusrat Ghani : ब्रिटेन में प्रधानमंत्री बॉरिस जॉनसन (Boris Johnson) की सरकार पर धार्मिक भेदभाव का आरोप लगा है. पार्टी सांसद और सरकार में जूनियर ट्रांसपोर्ट मिनिस्टर रही नुसरत गनी (Nusrat Ghani) ने आरोप लगाते हुए कहा कि, मुझे पद से इसलिए हटा दिया गया क्योंकि मैं मुस्लिम (Muslim) थी और कैबिनेट साथी मेरे मजहब को लेकर असहज महसूस करते थे. संडे टाइम्स (Sunday Times) को दिए इंटरव्यू में नुसरत गनी ने ब्रिटेन सरकार पर यह गंभीर आरोप लगाए.

49 वर्षीय नुसरत गनी को फरवरी 2020 में जूनियर ट्रांसपोर्ट मिनिस्टर के पद से हटा दिया गया था. नुसरत गनी ने बताया कि, एक व्हिप के जरिए उन्हें इस बात की सूचना दी गई कि उन्हें मंत्री पद से हटा दिया गया है. मेरा मुस्लिम होना और मेरे मजहब को लेकर कैबिनेट के अन्य साथियों को परेशानी थी.

यह भी पढ़ें -: संघर्ष से भरी है U19 स्टार अंगकृष रघुवंशी की कहानी- 11 साल की उम्र में छोड़ा दिया था घर

नुसरत गनी के आरोपों पर अब तक बोरिस जॉनसन या डाउनिंग स्ट्रीट की ओर से कोई बयान नहीं आया है. वहीं सरकार के चीफ व्हिप मार्क स्पेंसर ने एक बयान में कहा है कि नुसरत गनी ने उन पर व्यक्तिगत आरोप लगाए हैं और ये झूठे व अपमानजनक है. मार्क स्पेंसर ने बताया कि उन्होंने कभी नुसरत गनी से यह नहीं कहा कि उन्हें मुलसमान होने की वजह से पद से हटाया गया. उन्होंने यह भी कहा कि जब नुसरत गनी ने यह मुद्दा पहली बार उठाया था तो हमने आंतरिक जांच कराने की बात कही थी लेकिन नुसरत गनी ने इससे इनकार कर दिया था.

संडे टाइम्स से बात करते हुए नुसरत गनी ने कहा कि कैबिनेट में बदलाव को लेकर पीएम आवासा डाउनिंग स्ट्रीट में मीटिंग हुई थी. इस बैठक में मुझसे कहा गया कि मेरे मुस्लिम होने के कारण कैबिनेट के साथियों को परेशानी होती है. व्हिप की यह बात सुनकर मैं हैरान थी. मैंने कभी नहीं सोचा था कि मेरे मजहब से किसी को दिक्कत हो सकती है.

यह भी पढ़ें -: Indore Latest News: आख़िर क्यों इंदौर शहर में लगे उमा भारती के गायब होने के पोस्टर?

वहीं नुसरत गनी के इन आरोपों के बाद बोरिस जॉनसन सरकार की मुश्किलें बढ़ सकती है. क्योंकि इससे पहले भी कंजर्वेटिव पार्टी पर इस्लामोफोबिया के आरोप लग चुके हैं. मई 2021 में आई एक रिपोर्ट में कहा गया था कि पार्टी मुसलमानों से भेदभाद के मामलों में कार्रवाई नहीं करती है. नुसरत गनी के कैबिनेट सहयोगियों ने कहा कि वह इस मामले को लेकर पुलिस में शिकायत दर्ज कराएंगे. उधर विपक्षी दल लेबर पार्टी के लीडर कियर स्ट्रेमर ने कहा कि, नुसरत गनी ने गंभीर आरोप लगाए हैं और इसकी फौरन जांच होनी चाहिए.

यह भी पढ़ें -: BJP मैं शामिल होते ही बोली अपर्णा यादव- राष्ट्रवाद की वजह से थामा BJP का हाथ, इस पार्टी ने…

यह भी पढ़ें -: आख़िर क्यों बोले अरविंद केजरीवाल कि पंजाब चुनाव से पहले सत्येंद्र जैन की गिरफ्तारी हो सकती है?

यह भी पढ़ें -: बंगाल में नेताजी की जयंती पर भिड़े BJP और TMC के कार्यकर्ता, एक-दूसरे पर भांजीं लाठियां

सोर्स – hindi.news18.com. British Lawmaker Nusrat Ghani


आर्टिकल को शेयर ज़रूर करें :-