BJP सांसद प्रज्ञा ठाकुर पर कर्नाटक में दर्ज हुई FIR, दिया था ये बयान…

BJP सांसद प्रज्ञा ठाकुर पर कर्नाटक में दर्ज हुई FIR, दिया था ये बयान…
आर्टिकल को शेयर ज़रूर करें :-

भारतीय जनता पार्टी की सांसद प्रज्ञा सिंह ठाकुर पर बुधवार को कर्नाटक के शिवमोग्गा जिले में उनके कथित अभद्र भाषा को लेकर मामला दर्ज किया गया. शिवमोग्गा जिला कांग्रेस कमेटी के एचएस सुंदरेश की शिकायत के आधार पर प्रज्ञा ठाकुर के खिलाफ FIR दर्ज की गई है. प्रज्ञा ठाकुर, लोकसभा में भोपाल का प्रतिनिधित्व करती हैं औरर उनके ऊपर आईपीसी की धाराओं – 153ए, 153बी, 268, 295ए, 298, 504 और 508 के तहत मामला दर्ज किया गया है.

रविवार को शिवमोग्गा में हिंदू जागरण वेदिके के दक्षिण क्षेत्र वार्षिक सम्मेलन में बोलते हुए, प्रज्ञा ठाकुर ने समुदाय से अपने चाकुओं को तेज रखने का आह्वान किया था. प्रज्ञा ठाकुर ने कहा था, ‘अपने घरों में हथियार रखो और कुछ नहीं तो कम से कम सब्जी काटने वाले चाकू, धारदार रखो. पता नहीं क्या स्थिति पैदा हो जाए, आत्मरक्षा का अधिकार सबका है. अगर कोई हमारे घर में घुसकर हम पर हमला करता है तो मुंहतोड़ जवाब देना हमारा अधिकार है.

प्रज्ञा ठाकुर ने कहा था, ‘उनके यहां जिहाद की परंपरा है, अगर कुछ नहीं करते हैं तो लव जिहाद करते हैं. अगर वे प्यार करते हैं तो भी उसमें जिहाद करते हैं. हम (हिंदू) भी प्यार करते हैं, भगवान से प्यार करते हैं, एक संन्यासी अपने भगवान से प्यार करता है.

ये भी पढ़ें -: उपराज्यपाल मनोज सिन्हा बोले- कश्मीर में हो रही हत्याओं को धर्म के आधार पर देखना बंद करें

उन्होंने आगे कहा था,‘संन्यासी कहते हैं कि ईश्वर द्वारा बनाई गई इस दुनिया में सभी अत्याचारियों और पापियों का अंत करो, अन्यथा प्रेम की सच्ची परिभाषा यहां नहीं बचेगी. तो लव जिहाद में शामिल लोगों को उसी तरह जवाब दो. अपनी बेटियों की रक्षा करो, उन्हें सही मूल्य सिखाओ.

प्रज्ञा ठाकुर के खिलाफ FIR दर्ज बता दें कि विवादास्पद विधायक के खिलाफ यह इस मामले में एक और FIR है. इससे पहले तृणमूल कांग्रेस के प्रवक्ता साकेत गोखले और तहसीन पूनावाला द्वारा दो शिकायतें भी दर्ज कराई जा चुकी हैं.

गौरतलब है कि इस बयान पर कांग्रेस महासचिव जयराम रमेश ने आपत्ति जताई थी. उन्होंने कहा था कि ये मामला हेट स्पीच से जुड़ा हुआ है और इसको लेकर सुप्रीम कोर्ट भी जाएंगे. उन्होंने कहा था कि प्रज्ञा ठाकुर ने जो कहा है, वो साफ तौर पर हेट स्पीच का मामला है और उनके खिलाफ हेट स्पीच का मामला चलना चाहिए. दरअसल, जयराम रमेश का आरोप है कि कर्नाटक के शिवमोग्गा में एक समारोह में बीजेपी सांसद प्रज्ञा सिंह ठाकुर की टिप्पणी नफरत फैलाने वाले भाषण का एक स्पष्ट उदाहरण है.

ये भी पढ़ें -: 85 साल के हुवे रतन टाटा: फोर्ड के मालिक से मिले रिजेक्शन का अपने अंदाज में लिया था बदला

ये भी पढ़ें -: मैं चुनाव में आऊंगी… लेकिन यह नहीं कहूंगी कि लोधियों तुम बीजेपी को वोट करो : उमा भारती


आर्टिकल को शेयर ज़रूर करें :-