BJP के टिकट पर जीते सलीम खान के समधी अनिल शर्मा, पिता भी रहे हैं केंद्रीय मंत्री

BJP के टिकट पर जीते सलीम खान के समधी अनिल शर्मा, पिता भी रहे हैं केंद्रीय मंत्री
आर्टिकल को शेयर ज़रूर करें :-

BJP vs Congress Election Result 2022: हिमाचल प्रदेश (Himachal Pradesh) के मंडी सीट (Mandi) से भाजपा (BJP) प्रत्याशी अनिल शर्मा (Anil Sharma) की जीत हुई है। उन्होंने कांग्रेस की चंपा ठाकुर (Champa Thakur) को 10,006 वोटों के अंतर से हराया है। अनिल शर्मा पूर्व केंद्रीय मंत्री सुखराम (Sukh Ram) के बेटे और बॉलीवुड के दिग्गज सलीम खान (Salim Khan) के समधी हैं। अनिल शर्मा के बेटे आयुष शर्मा (Aayush Sharma) ने बॉलीवुड सुपरस्टार सलमान खान (Salman Khan) की बहन अर्पिता (Arpita) से शादी की है।

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, आयुष ने पिता बधाई देते हुए विरासत जिंदा रहने की बात कही है। उन्होंने लिखा है, ”विरासत जिंदा रहती है। बधाई पापा और मंडी के सभी मतदाताओं को हमारे परिवार पर विश्वास बनाए रखने के लिए धन्यवाद।”

बता दें, अनिल शर्मा इस सीट पर पहली बार साल 1993 में कांग्रेस की टिकट पर जीते थे। इसके बाद शर्मा 2007 और 2012 में भी मंडी से कांग्रेस की टिकट पर विधायक बने। 2017 के हिमाचल विधानसभा चुनाव से पहले शर्मा भाजपा में शामिल हुए थे। अनिल शर्मा 2017 से 2019 के बीच हिमाचल सरकार में मंत्री भी रहे थे।

ये भी पढ़ें -: MCD के बाद हिमाचल भी BJP के हाथ से गया, उपचुनावों में भी सातों सीटों पर पीछे

चार बार विधायक रहे अनिल शर्मा को इस चुनाव में कुल 30,204 वोट मिले हैं। शर्मा के सामने चुनाव लड़ रहीं कांग्रेस प्रत्याशी चंपा ठाकुर को 20,424 वोट मिले हैं। इस सीट पर कुल 56,552 वोट पड़े थे यानी शर्मा ने चंपा को 9780 मतों के अंतर से हराया है।

आयुष शर्मा के दादा और अनिल शर्मा के पिता पंडित सुखराम शर्मा भारत के सम्मानित नेता रहे हैं। वह 1993 से 1996 तक देश के केंद्रीय संचार और सूचना प्रौद्योगिकी मंत्री रहे थे। वह पांच बार विधायक और तीन बार सांसद रह थे। साल 1963 से 1984 तक वह मंडी विधानसभा सीट से विधायक रहे थे। इसके बाद वह राजीव गांधी सरकार में मंत्री बन गए थे। उन्हें रक्षा उत्पादन और आपूर्ति, योजना और खाद्य और नागरिक आपूर्ति राज्य मंत्री बनाया गया था।

संचार मंत्री के तौर पर उन पर भ्रष्टाचार के आरोप भी लगे थे। साल 2011 में भ्रष्टाचार के एक मामले में उन्हें 5 साल जेल की सजा भी सुनाई गई थी। मई 2022 में पंडित सुखराम शर्मा का निधन हो गया था।

ये भी पढ़ें -: MCD में किसका बनेगा मेयर? दिल्ली भाजपा अध्यक्ष आदेश गुप्ता बोले- आगे कुछ भी संभव है, मेयर…

ये भी पढ़ें -: ‘रिंकिया के पापा’ गाने पर झूम के नाचे AAP कार्यकर्ता, BJP पर इस तरह साधा निशाना…


आर्टिकल को शेयर ज़रूर करें :-