India

ईद की खुशियां बदलीं मातम में: तीन घरों से एकसाथ उठे चार जनाजे, एक परिवार के बुझ गए दोनों चिराग

bijnor-four-youth-died-due-to-sank-into-the-river-included-two-brother
आर्टिकल को शेयर ज़रूर करें :-

उत्तर प्रदेश के बिजनौर में मंगलवार को ईद की खुशियां मनाने कोटद्वार गए चार युवकों की पानी में डूबने से मौत हो जाने से तीन परिवारों की ईद की खुशियां मातम में बदल गईं। मरने वालों में दो सगे भाई हैं, जबकि एक मासूम सहित चार लोगों की जान बच गई। मरने वालों में जैब और गुड्डू दो सगे भाई थे।

सभी ने मिलकर ईद की खुशियां दोगुनी करने के लिए पिकनिक पर जाने की योजना बनाई। गर्मी के मौसम को देखते हुए आठ लोग कार में सवार होकर कोटद्वार के नजदीक नदी किनारे हंसी खुशी त्योहार मना रहे थे। इसी दौरान चार युवक नदी में नहाने लगे। इसी दौरान हादसे का शिकार हो गए। एक एक कर चारों युवक नदी से गायब होता देख किनारे बैठे परिजनों में कोहराम मच गया।

ये भी पढ़ें -: लाउडस्पीकर विवाद के मुंबई में 803 मस्जिदों को मिली लाउडस्पीकर लगाने की इजाजत

शोर मचने पर आसपास के लोग मौके पर पहुंचे और पुलिस को सूचना दी। पुलिस ने गोताखोरों की मदद से युवकों की तलाश कराई। तकरीबन दो घंटे की मशक्कत के बाद युवकों के शव बरामद हो सके। नगीना के मोहल्ला लाल सराय निवासी साजिद के पुत्र जैब व गुड्डू अपने घर के ठीक सामने रहने वाले रिश्तेदार नदीम व नगर के मोहल्ला शेख सराय निवासी गालिब तथा एक मासूम सहित आठ लोग अपनी गाड़ी से मंगलवार की दोपहर कोटद्वार से आगे ईद की खुशियां मनाने गए थे।

बताया जाता है कि कोटद्वार से आगे नदी में नहाते समय जैब, गुड्डू, नदीम व गालिब की मृत्यु हो गई, जबकि सलमान (27), शाहाबाज (29, बिलाल (10) व एक तीन वर्षीय मासूम कसफ की जान बच गई। ईद के मौके पर चार युवकों की मौत की खबर नगीना में पहुंचते ही मातम छा गया। मृतकों में जैब व गुड्डू सगे भाई थे।

ये भी पढ़ें -: क्या राहुल गांधी के संसदीय क्षेत्र वायनाड से चुनाव लड़ेंगी स्मृति ईरानी?, दिया ये जवाब…

कोटद्वार के पास नदी में डूबने से जैब व गुड्डू की मौत से परिवार के चिराग बुझ गए। बताया जाता है की साजिद के चार बेटियां व दो बेटे थे। डूबने से दोनों ही पुत्रों की मौत होने से उनके ऊपर गमों का पहाड़ टूट गया। मोहल्ले में रिश्तेदारों और आसपास के लोगों की भीड़ लग गई। देर शाम तक लोग वहीं पर जमा थे।

साजिद का पूरा परिवार गुरुग्राम में ही रहता है तथा ईद मनाने सोमवार को पूरा परिवार नगीना आया था। साजिद गुरुग्राम में ही ठेकेदारी करते हैं, जबकि दोनों उनके पुत्र मैकेनिक का काम करते थे। नदीम भी गुरुग्राम में ही मोटर मैकेनिक का काम करता था जबकि चौथा मृतक गालिब कक्षा 11 का छात्र था।

ये भी पढ़ें -: साहा को ‘धमकी’ देना पत्रकार को पड़ा महंगा, BCCI ने 2 साल के लिए किया बैन

ये भी पढ़ें -: बढ़ती महंगाई के बीच आम लोगों को एक औऱ झटका: महंगा होगा लोन, चुकानी होगी ज्यादा EMI

ये भी पढ़ें -: शिलान्यास कार्यक्रम में पहुंचे BJP विधायक श्याम प्रकाश जनता से बोले- ‘नमक हरामी मत करना…’

सोर्स – amarujala.com


आर्टिकल को शेयर ज़रूर करें :-