India

बाल-बाल बचे लखीमपुर हिंसा के मुख्य गवाह, बदमाशों ने बरसाई गोलियां

attackers-fired-at-the-car-dilbag-singh-is-a-witness-in-the-tikuniya-violence-case
आर्टिकल को शेयर ज़रूर करें :-

लखीमपुर खीरी के भारतीय किसान यूनियन टिकैत ग्रुप के जिलाध्यक्ष और तिकुनिया हिंसा कांड के मुख्य गवाह पर हमले के मामले में एसपी ने उनके गनर को सस्पेंड कर दिया। गनर विकास खैवाल को 10 दिन पहले ही दिलबाग सिंह की सुरक्षा के लिए नियुक्त किया गया था। वह बिना छुट्‌टी की अर्जी दिए हुए अपने घर चला गया था। अब प्रशासन ने दिलबाग सिंह की सुरक्षा के लिए नये गनर गौरव कुमार की नियुक्ति की है। दिलबाग की सुरक्षा के लिए अभी तक दो गनर बदले जा चुके हैं। सबसे पहले मनोज यादव को नियुक्त किया गया था। उसके बाद विकास खैवाल को नियुक्त किया गया था। अब गौरव कुमार को तैनात किया गया है।

मंगलवार की रात 9:30 बजे भाकियू के जिलाध्यक्ष दिलबाग सिंह पर हमला हो गया। बाइक सवार हमलावरों ने उनकी कार पर गोलियां बरसाईं। इसमें वह बाल-बाल बच गए। इससे पहले भी दो गवाहों पर हमला हो चुका है। मामले में एसपी संजीव सुमन ने कहा कि हम लोगों की जांच और फॉरेंसिक टीम की जांच में मामला संदिग्ध लग रहा है। हम लोग वादी पक्ष की शिकायत के अनुसार जांच करेंगे। जो सच होगा सबके सामने होगा।

ये भी पढ़ें -: सिंगर कृष्णकुमार कुन्नाथ (KK) के चेहरे और सिर पर दिखे चोट के निशान, दर्ज हुवी FIR

उन्होंने बताया कि यह घटना मंगलवार रात 9.30 बजे की है। दिलबाग सिंह संधू ने बताया कि उनके ऊपर फायरिंग की गई है। उन पर तीन बार फायरिंग की गई। उनको 1 गोली पैर पर लगी। दो गोली छूकर निकल गई। सूचना पर क्षेत्राधिकारी पुलिस बल के साथ मौके पर पहुंचे। मौके का मुआयना किया गया। बदमाशों के खिलाफ रात में एफआईआर दर्ज कर ली गई थी। घटना की जांच कराई जा रही है। भारतीय किसान यूनियन टिकैत ग्रुप के जिलाध्यक्ष दिलबाग सिंह सन्धू ने बताया कि वह शाम को अपने घर मूड़ा फार्म से अलीगंज के लिए गए हुए थे। अलीगंज से वापस आते समय मूड़ा सवारान से पहले उनकी ब्रिजा कार पर बाइक सवार कुछ लोगों ने गोलियां चला दीं। हमले में पहली गोली गाड़ी के टायर पर चलाई गई। इससे उनकी कार रुक गई। घटना भदेड़ और मूड़ासवारान के बीच की हुई।

कार के रुकने के बाद हमलावर उनकी गाड़ी के नजदीक आ गए। कार का शीशा खटखटाते हुए गेट खोलने के लिए कहा। इस पर उन्होंने अपनी सीट फोल्ड कर ली। गेट नहीं खोलने पर हमलावरों ने गोलियां चला दीं। दो गोलियां उनके गाड़ी के शीशे पर लगीं। गोला गोकर्णनाथ क्षेत्राधिकारी राजेश कुमार यादव ने मौके पर पहुंचकर जांच-पड़ताल की है। मौके पर भाकियू के तमाम कार्यकर्ता और आसपास के लोग पहुंच गए।

ये भी पढ़ें -: आम आदमी पार्टी के अमानतुल्लाह खान की याचिका पर हाईकोर्ट ने दिल्ली पुलिस को जारी किया नोटिस

लखनऊ से एफएसएल की टीम बुलाई गई है, जो बैलेस्टिक रिपोर्ट देगी। बुधवार तक हमारे पास रिपोर्ट आ जाएगी। पूछताछ में दो व्यक्तियों का नाम सामने आया है। घटना से थोड़ी देर पहले छोटू और जितेंद्र ने दिलबाग को उनके घर के पास ड्राप किया। इसके बाद 700 मीटर दूरी पर उनके साथ यह वारदात हुई।

टेक्निकल टीम की मदद ली जा रहा है। सीसीटीवी कैमरों को देखा जा रहा है। दिलबाग को सुरक्षा प्राप्त है। दिलबाग ने अपने गैनमैन को दो छुट्‌टी दे दी थी। जिसके बाद यह घटना हुई। इसकी भी जांच की जाएगी। जांच में जो बात निकलकर सामने आएगी उसके आधार पर कार्रवाई की जाएगी।

मामले में पहले भी 2 बार हमले किए जा चुके हैं। तिकुनिया कोतवाली में पांच लोगों के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कराई गई थी। निघासन इलाके के कुल्हौरी गांव के रहने वाले किसान दिलजोत सिंह पुत्र जरनैल सिंह भी तिकुनिया कांड के गवाह हैं। उन्हें सुप्रीम कोर्ट की ओर से सुरक्षा भी दी गई है।

ये भी पढ़ें -: महेंद्र सिंह धोनी की दिव्यांग फैन लावण्या पिलानिया धोनी से मिलने पर हुवी भावुक, आंसू पोछते हुवे धोनी बोले…

ये भी पढ़ें -: अलीगढ़ के श्री वार्ष्णेय कॉलेज के प्रोफेसर भेजे गए ‘छुट्टी’ पर, कॉलेज कैंपस पढ़ रहे थे नमाज

सोर्स – bhaskar.com


आर्टिकल को शेयर ज़रूर करें :-