Politics

पश्चिम बंगाल के आसनसोल लोकसभा उपचुनाव में तृणमूल कांग्रेस और शत्रुघ्न सिन्हा ने इत‍िहास रच द‍िया

asansol-lok-sabha-bypoll-result-shatrudhan-sinha-tmc-agnimitra-paul-bjp
आर्टिकल को शेयर ज़रूर करें :-

पश्चिम बंगाल के आसनसोल लोकसभा उपचुनाव (Asansol Lok Sabha by-election Result) में तृणमूल कांग्रेस और शत्रुघ्न सिन्हा (Shatrughan Sinha ) ने इत‍िहास रच द‍िया है। आसनसोल सीट पर अब तक जीत को तरस रही टीमएसी को शत्रुघ्न सिन्हा ने प्रचंड जीत के मुहाने पर पहुंंचा द‍िया है। बतौर तृणमूल कांग्रेस उम्मीदवार शत्रुघ्न सिन्हा ने शुरुआती बढ़त को आख‍िर तक कायम रखा। अब तक की ग‍िनती में स‍िन्‍हा सबसे बड़ी जीत दर्ज करने की ओर अग्रसर हैं। इस सीट पर बीजेपी उम्‍मीदवार डेढ़ लाख से अध‍िक वोटों से पीछे हैं।

दरअसल आसनसोल लोकसभा सीट पर अब तक कांग्रेस, सीपीआईएम और बीजेपी का कब्‍जा रहा है। पिछले साल पश्चिम बंगाल में विधानसभा चुनावों के तुरंत बाद बाबुल सुप्रियो ने बीजेपी छोड़ दी और तृणमूल कांग्रेस में शामिल हो गए। उन्होंने आसनसोल लोकसभा सदस्य के रूप में इस्तीफा दे दिया, जिसके बाद यहां उपचुनाव कराया गया। इसमें टीएमसी पहली बाद जीत दर्ज करके इत‍िहास रचने जा रही है।

ये भी पढ़ें -: पति-पत्नी में हुआ झगड़ा, मां ने कर दी मासूम बेटी की गला दबाकर हत्या

12.30 बजे तक के अपडेट के मुताब‍िक, आसनसोल से टीएमसी उम्‍मीदवार शत्रुघ्न सिन्हा 156425 वोटों से आगे चल रहे हैं। अब तक की ग‍िनती में शत्रुघ्न सिन्हा को 375026 वोट म‍िले हैं, जबक‍ि बीजेपी की अग्निमित्रा पाल को 218601 वोट म‍िले हैं। इसके अलावा कम्युनिस्ट पार्टी आफ इंडिया (मार्क्‍ससिस्‍ट) के पार्थ मुखर्जी को 50786 वोट म‍िले हैं।

पश्चिम बंगाल में आसनसोल संसदीय क्षेत्र और बालीगंज विधानसभा क्षेत्र में टीएमसी की जीत लगभग तय है। ऐसे में मुख्यमंत्री और टीएमसी प्रमुख ममता बनर्जी ने आसनसोल संसदीय क्षेत्र और बालीगंज विधानसभा क्षेत्र के वोटरों को निर्णायक जनादेश देने के लिए धन्यवाद दिया। आसनसोल से टीएमसी के शत्रुघ्न सिन्हा और बालीगंज से बाबुल सुप्रियो आगे चल रहे हैं। आसनसोल सीट के इतिहास को देखें तो 1957 से 1967 तक यह सीट कांग्रेस के पास थी। 1967 से 1971 तक आसनसोल में संयुक्त सोशलिस्ट पार्टी ने जीत दर्ज की। 1971 से 1980 तक सीपीआई (एम) ने यहां राज किया।

ये भी पढ़ें -: अपना लाउडस्पीकर बंद करें संजय राउत, नहीं तो…’ MNS ने लगाए धमकी भरे पोस्टर

1989 से 2014 तक इस सीट पर सीपीआई (एम) ने दोबारा शासन किया। 2014 के लोकसभा चुनाव में बीजेपी ने पहली बार इस सीट पर जीत दर्ज की और बाबुल सुप्रियो सांसद नियुक्त हुए। बाबुल सुप्रियो ने 2019 में दोबारा बीजेपी के टिकट पर आसनसोल से जीत हासिल की। वह नरेंद्र मोदी के नेतृत्व वाली केंद्र सरकार में मंत्री भी बने।

शत्रुघ्न सिन्हा सिन्हा, अटल बिहारी वाजपेयी की अगुवाई वाली राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (NDA) सरकार में मंत्री थे। उन्होंने बाद में बीजेपी छोड़कर कांग्रेस के टिकट पर 2019 में पटना साहिब से लोकसभा चुनाव लड़ा था। इस चुनाव में वह रवि शंकर प्रसाद से हार गए थे। इससे पहले सिन्हा दो-दो बार राज्यसभा और लोकसभा के सदस्य रह चुके हैं। वहीं आसनसोल सीट पर अब तक जीत को तरस रही टीएमसी ने उपचुनाव में शत्रुघ्न सिन्हा को उम्‍मीदवार बनाया। इस पर शत्रुघ्न सिन्हा ममता के भरोसे पर खरे उतरे और प्रचंड जीत दर्ज की।

ये भी पढ़ें -: केंद्रीय मंत्री के कार्यक्रम में बड़ा हादसा टला, बाल-बाल बचे अर्जुन मेघवाल

ये भी पढ़ें -: पंजाब CM भगवंत मान के खिलाफ पुलिस में शिकायत दर्ज, जानें पूरा मामला…

सोर्स – navbharattimes.indiatimes.com


आर्टिकल को शेयर ज़रूर करें :-