Politics

पुलिस हिरासत में मौत पर ओवैसी का योगी सरकार पर हमला- बंदूक से राज करना चाहते हैं…

asaduddin-owaisi-attacked-yogi-adityanath-over-death-of-prisoner-in-custody
आर्टिकल को शेयर ज़रूर करें :-

सोमवार को उत्तरप्रदेश के मुज़फ्फरनगर जेल में शाहिद नाम के एक कैदी ने फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। हालांकि कैदी के परिवार वालों ने हत्या का आरोप लगाया है। हिरासत में कैदी की मौत होने पर एआईएमआईएम के नेता और सांसद असदुद्दीन ओवैसी ने उत्तरप्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ पर हमला बोला है। ओवैसी ने ट्वीट करते हुए कहा कि योगी आदित्यनाथ राज्य में बंदूक से राज करना चाहते हैं।

एआईएमआईएम के नेता और हैदराबाद से सांसद असदुद्दीन ओवैसी ने ट्वीट करते हुए लिखा कि आखिर मानवाधिकार आयोग हमेशा क्यों चुप्पी साधे हुए रहता है। यदि आप पश्चिम बंगाल के लिए तत्काल जांच का आदेश दे सकते हैं तो उत्तरप्रदेश सरकार के लिए क्यों नहीं, जिनके मुख्यमंत्री बंदूक से राज करने में यकीन रखते हैं।

ये भी पढ़ें -: क्या महाराष्ट्र की गठबंधन सरकार में सबकुछ ठीक नहीं? तो क्या शिवसेना-बीजेपी फ़िर एक होंगें…

कृपया उत्तरप्रदेश में पुलिस के द्वारा किए जा रहे अत्याचारों, खासकर हिरासत में हो रही हिंसा के खिलाफ कार्रवाई करें। आगे उन्होंने लिखा कि शाहिद का जीवन व्यर्थ नहीं था. कोई भी इसके लायक नहीं है।

क्या है मामला: एक साल पूर्व मुजफ्फरनगर पुलिस ने न्याजूपुरा निवासी शाहिद को एनडीपीएस एक्ट में जेल भेजा था। तभी से उसकी जमानत नहीं हुई थी। मंगलवार को ही उसकी जमानत होने वाली थी. लेकिन सोमवार को ही उसका शव जेल के बैरक के गेट पर लटका मिला। जेल अधीक्षक के अनुसार सोमवार सुबह उसने अंगौछे का फंदा बनाकर फांसी लगा ली।

ये भी पढ़ें -: ज्योतिरादित्य सिंधिया की सुरक्षा में बड़ी चूक, 14 पुलिसकर्मी सस्पेंड, जानें पूरा मामला…

हालांकि जेल प्रशासन को यह पता नहीं चल पाया कि आखिर किन कारणों से उसने आत्महत्या की। मृतक के परिजनों को जैसे ही फांसी लगाने की जानकारी मिली तो उन्होंने हत्या का आरोप लगाते हुए डीएम दफ्तर पर जाकर प्रदर्शन किया और निष्पक्ष जांच की मांग की।

ये भी पढ़ें -: सपा नेता IP Singh का PM मोदी पर तंज, बोले- ये आदमी ध्यान बंटाने में गज़ब…

पोस्टमार्टम कराने के बाद पुलिस ने मृतक कैदी शाहिद का शव उसके परिजनों को सौंप दिया। परिजनों ने शव को सड़क पर ही रखकर जाम लगा दिया। बाद में पुलिस अफसरों ने लोगों को समझा-बुझाकर शांत कराया, तब जाकर उसके परिजनों ने शव को दफनाया।

ये भी पढ़ें -: पंजाब मैं केजरीवाल की मौजूदगी में AAP में शामिल हुए पूर्व IPS कुंवर विजय प्रताप

ये भी पढ़ें -: जमीन कब्जाने के आरोप में चंपत राय को क्लीन चिट, पुलिस ने कही ये बात…

सोर्स – jansatta.com


आर्टिकल को शेयर ज़रूर करें :-