Anurag Kashyap का बॉलीवुड पर बड़ा बयान: पैन इंडिया फिल्मों की नकल बॉलीवुड को बर्बाद कर रहा है

Anurag Kashyap का बॉलीवुड पर बड़ा बयान: पैन इंडिया फिल्मों की नकल बॉलीवुड को बर्बाद कर रहा है
आर्टिकल को शेयर ज़रूर करें :-

Anurag Kashyap Bollywood’s Pan India Film: फिल्म ‘बाहुबली: द बिगनिंग’ से पहले पैन इंडिया फिल्मों के कॉन्सेप्ट को तो दूर, इस शब्द को भी कोई नहीं जानता था, लेकिन इस फिल्म की रिलीज के बाद से ही बहुत कुछ बदल गया. आज कल पैन इंडिया फिल्में काफी बन रही हैं. कई बॉलीवुड सितारों ने इस ट्रेंड को अपनाया लेकिन कुछ ही सफल हुए. इसे लेकर अब फिल्ममेकर अनुराग कश्यप ने बेबाकी से अपनी बात रखी है.

जी हां, हाल ही में फिल्ममेकर अनुराग कश्यप ने कहा कि पैन इंडिया फिल्मों के लिए अपने जुनून और उन्हें बनाने की कोशिश बॉलीवुड को बर्बाद कर रही है. वैसे आज कल जिस कलाकार को देखो वह पैन इंडिया फिल्में ही कर रहा है.

ऐसे में अनुराग कश्यप का कहना है कि ‘पैन इंडिया फिल्मों के ट्रेंड को फॉलो करने का जोश बॉलीवुड में देर से आया है और खुद को नष्ट करने के लिए भी इंडस्ट्री खुद ही इस गाड़ी में संवार है’.

ये भी पढ़ें -: जनसंख्या नियंत्रण पर रवि किशन ने कांग्रेस की बताई गलती, बोले- तो मेरे 4 बच्चे नहीं होते…

अनुराग कश्यप ने दिया अपनी फिल्म सैराट का उदाहरण – साल 2016 में रिलीज हुई सैराट अब तक की सबसे ज्यादा कमाई करने वाली मराठी फिल्म है. ऐसे में फिल्ममेकर अनुराग ने कहा कि, मराठी सिनेमा में जब लोगों ने सैराट की सफलता देखी तो हर कोई उसकी नकल उतारने लगा, जिसके चलते इंडस्ट्री नुकसान में जाने लगी.

फिल्ममेकर के मुताबिक, ‘पैन-इंडिया ब्लॉकबस्टर्स का क्रेज अब बॉलीवुड को भी हो गया है. पूरे भारत में, अभी जो हो रहा है वह यह है कि हर कोई एक पैन इंडिया फिल्म बनाने की कोशिश कर रहा है. सफलता 5-10% होगी’.

उन्होंने आगे कहा, ‘कांतारा और पुष्पा जैसी फिल्में आपको बाहर जाकर अपनी कहानियां कहने का साहस देती हैं, लेकिन KGF 2, चाहे कितनी भी बड़ी सफलता हो, जब आप कोशिश करते हैं और उसका नकल करके एक प्रोजेक्ट सेट करते हैं, तभी आप नुकसान की ओर बढ़ने लगते हैं. यही वह गाड़ी की सवारी है जिस पर बैठकर बॉलीवुड ने खुद को नष्ट कर लिया है. आपको ऐसी फिल्में ढूंढनी होंगी जो आपको हिम्मत दें’.

ये भी पढ़ें -: MCD चुनाव जीतने वाले कांग्रेस के 2 पार्षद आम आदमी पार्टी में हुवे शामिल

ये भी पढ़ें -: कभी 0 थे, आज 161 विधायक हैं, अरविंद केजरीवाल ने 10 साल में AAP को कैसे बनाया राष्ट्रीय पार्टी?


आर्टिकल को शेयर ज़रूर करें :-