Politics

मुस्लिम विरोधी नारेबाजी मैं BJP प्रवक्ता समेत 5 से पूछताछ, हो सकती है गिरफ्तारी

anti-muslim-slogans-at-jantar-mantar-delhi-police-questioning-bjp-ashwini-upadhyay
आर्टिकल को शेयर ज़रूर करें :-

दिल्ली के जंतर-मंतर (Jantar Mantar) पर मुस्लिम विरोधी नारेबाजी और भड़काऊ टिप्पणी के मामले में दिल्ली पुलिस एक्शन में है. मुस्लिम विरोधी नारे लगाने वालों में बीजेपी प्रवक्ता अश्वनी उपाध्याय (Ashwani Upadhyay) का नाम सामने आने के बाद अब पुलिस कार्रवाई की तैयारी कर रही है.

सूत्रों ने यह जानकारी दी थी. प्राप्त जानकारी के मुताबिक, दिल्ली पुलिस अश्वनी उपाध्याय समेत 5 लोगों को कस्टडी में लेकर पूछताछ कर रही है. थोड़ी देर में गिरफ्तारी हो सकती है. बता दें कि जंतर-मंतर पर अश्विनी उपाध्याय के कार्यक्रम के दौरान कुछ लोगों ने अभद्र आपत्तिजनक और भड़काऊ टिप्पणियां की थी. समुदाय विशेष पर की गई आपत्तिजनक टिप्पणी का वीडियो सोशल मीडिया पर भी वायरल हुआ. मामला पुलिस तक पहुंचा.

ये भी पढ़ें -: बिना मास्क के महिला को रोकने पर हंगामा, बीच सड़क पर महिला सिविल डिफेंस कर्मी को पीटा

दिल्ली पुलिस ने अज्ञात लोगों के खिलाफ एफआईआर भी दर्ज की. ऐसा माना जा रहा है कि दिल्ली पुलिस कमिश्नर ने आरोपियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई करने के निर्देश दिए हैं. इससे पहले, बीजेपी नेता अश्वनी उपाध्याय ने कहा था कि वह किसी भी समय पर पुलिस के सामने पेश होने को तैयार हैं.

अश्वनी उपाध्याय ने सफाई भी पेश की है और दावा किया है कि वह कार्यक्रम में गेस्ट के तौर पर थे और नारे लगाने वाले किसी भी व्यक्ति को नहीं जानते. जंतर मंतर पर हुई हेट स्पीच में अभी चार लोग दिल्ली पुलिस के राडार पर हैं. इनमें उत्तम मालिक, विनीत क्रांति, पिंकी भैया और अश्विनी उपाध्याय, जो कि इस प्रदर्शन के आयोजक थे.

ये भी पढ़ें -: जंतर-मंतर पर भड़काऊ भाषण और नारे लगाने के मामले में दिल्ली पुलिस ने दर्ज की FIR

दिल्‍ली के जंतर-मंतर इलाके में एक ‘मार्च’ में कथित तौर पर सांप्रदायिक नारे लगाए गए. इस ‘मार्च’ का वीडियो रविवार को सोशल मीडिया पर वायरल हुआ. पुलिस का कहना है कि बिना इजाजत के मार्च को आयोजित किया गया था. बताया जाता है कि यह मार्च, सुप्रीम कोर्ट के वकील अश्विनी उपाध्‍याय की ओर से आयोजित किया गया था. वैसे उपाध्‍याय का कहना है कि उन्‍हें वीडियो के बारे में जानकारी नहीं है. केवल पांच या छह लोग ही नारे लगा रहे थे. उन्‍होंने कहा कि ऐसे नारे नहीं लगाए जाने चाहिए थे.

ये भी पढ़ें -: जातिगत जनगणना के मुद्दे पर बोले नीतीश कुमार- PM मोदी ने टाइम ही नहीं दिया

ये भी पढ़ें -: लखनऊ ड्राइवर को चांटे मारने वाली लड़की से पुलिस ने की पूछताछ, अब बताई ये कहानी

सोर्स – ndtv.in


आर्टिकल को शेयर ज़रूर करें :-