India

एम्स के छात्रों ने रामलीला के आपत्तिजनक वीडियो पर मांगी माफी, जानें पूरा मामला

Delhi AIIMS Ramayan Video-aiims-student-ramayan-controversial-video
आर्टिकल को शेयर ज़रूर करें :-

Delhi AIIMS Ramayan Video : सोशल मीडिया (Social Media) में आए दिन कुछ न कुछ वायरल होता रहता है. लेकिन आज एक ऐसा वीडियो वायरल (Viral Video) हुआ जिसने सभी को हैरान कर दिया. वायरल वीडियो में कुछ लोग रामायण (Ramayan) की कहानी पर एक्टिंग कर रहे हैं. कहा जा रहा है कि जो छात्र इसमें परफॉर्म कर रहे हैं वे दिल्ली एम्स के छात्र हैं. पूरे वीडियो में रामायण (Delhi AIIMS Ramayan Video) की कहानी का जमकर मजाक उड़ाया जा रहा है. इतना ही नहीं भगवान राम (Lord Ram) और लक्ष्मण के प्रति काफी अपमानजनक शब्दों का भी प्रयोग किया जा रहा है.

वायरल वीडियों में रामायण के कई पहलुओं को गलत भाषा और गलत एक्टिंग के साथ पेश किया गया. नाटक में राम द्वारा बोले गए डॉयलॉग फिल्म बाहुबली से प्रेरित थे और भगवान राम को सूर्पनखा की गर्दन काटते हुए भी दिखाया गया. नाटक में भोजपुरी भाषा का भी जमकर प्रयोग किया गया.

यह भी पढ़ें -: सलमान खान बोले- जो कहते थे अब दम नही बचा, माही ने सभी को गलत साबित किया

वायरल वीडियो पर लोगों ने व्यक्त की प्रतिक्रियावीडियो वायरल होने के बाद कई लोगों ने इस वीडियो पर अपनी प्रतिक्रिया भी व्यक्त की. भगवान राम के लिए भद्दे शब्दों का प्रयोग करने को शर्मनाक बताया. वहीं कुछ लोगों ने यह भी कहा कि वर्तमान पीढ़ी को भगवान का सम्मान करना नहीं आता. लोगों ने आरोप लगाया कि इस नाटक में कलाकार ने अभिनय कम बल्कि हिंदू धर्म का मजाक उड़ाया है.

गिरफ्तारी की उठी मांगवीडियो पर अपनी प्रतक्रिया देते हुए लोगों ने इसके आयोजकों के खिलाफ कार्रवाई करने की भी मांग की है. कुछ लोगों ने तो भगवान राम को अपमानित करने के लिए इसमें अभिनय करने वालों को गिरफ्तार करने की भी मांग की है.

यह भी पढ़ें -: कबड्डी खेलते वीडियो वायरल होने से भड़कीं प्रज्ञा ठाकुर, बोली- संतो से टकराने वालों का…

छात्रों ने मांगी माफीवीडियो पर हड़कंप मचने के बाद एम्स के छात्रों की तरफ से प्रतिक्रिया दी गई है. छात्रों ने कहा कि रामायण पर जो विवादित वीडियो वायरल हो रहा है हम उसके लिए माफी मांगते हैं लेकिन हमारा उद्देश्य किसी की भावना को ठेस पहुंचाना नहीं था. इतना ही नहीं छात्रों ने यह भी कहा कि हम भविष्य में भी इस बात का ध्यान रखेंगे कि एम्स में ऐसी कोई गतिविधि न हो.

यह भी पढ़ें -: मोदी सरकार पर बरसे चढ़ूनी- सहनशीलता की सीमा होती है, धैर्य की परीक्षा मत लो

यह भी पढ़ें -: मोहन भागवत बोले- अनुच्छेद 370 रद्द करने से जम्मू-कश्मीर की समस्या का नहीं हुआ समाधान

सोर्स – hindi.news18.com


आर्टिकल को शेयर ज़रूर करें :-