India

नेताओं पर भड़के युवा-हम गोली खाने को करें 4 साल की नौकरी, ये AC में बैठे करेंगे 40 साल राज

agnipath-protest-in-gurgaon
आर्टिकल को शेयर ज़रूर करें :-

सेना में भर्ती के लिए बनाई गई अग्निपथ योजना (Agnipath Protest in Gurugram) का देशभर में विरोध चल रहा है। इस विरोध की आंच अब गुरुग्राम में भी पहुंच गई। गुरुवार सुबह बिलासपुर में ग्रामीण सड़कों पर उतर आए और प्रधानमंत्री और बीजेपी के खिलाफ जमकर नारेबाजी करते हुए जाम लगा दिया। ग्रामीणों का कहना है कि करीब तीन साल से सरकार ने सेना में भर्ती नहीं निकाली और जिन अभ्यर्थियों ने टेस्ट पास कर लिए हैं उनका भी भविष्य अधर में लटका हुआ है। इसके विरोध में हजारों की संख्या में ग्रामीण बिलासपुर चौक पर पहुंच गए और प्रधानमंत्री और सरकार के खिलाफ नारेबाजी करते हुए जाम लगा दिया। पुलिस ने जब जाम लगा रहे ग्रामीणों को हिरासत में लेना शुरू किया तो ग्रामीणों ने इसका विरोध करना शुरू कर दिया। इससे मौके पर स्थिति तनावपूर्ण बनी हुई है।

प्रदर्शन कर रहे युवाओं का साफ कहना है क‍ि सरकार इस फैसले को वापस ले। युवाओं ने कहा क‍ि अगर इस योजना के तहत नेता अपने बच्‍चों को सेना में भेजते हैं तो ही हम जाने को तैयार होंगे लेक‍िन नेता कभी ऐसा नहीं करेंगे। युवाओं ने कहा क‍ि सरकार चाहती है क‍ि हम गोली खाने को 4 साल की नौकरी करें और ये AC में बैठकर 40 साल तक राज करेंगे। तस्वीरों में साफ दिखाई दे रहा है कि किस तरह से युवा सरकार की इस योजना का विरोध कर रहे हैं।

ये भी पढ़ें -: अग्निवीर, अग्निवीर, अग्निवीर, थोड़े से युवा नीति से नाराज़ हैं, राजनीति से नहीं : रवीश कुमार

उधर, द‍िल्‍ली से सटे हर‍ियाणा के पलवल में अग्निपथ’ योजना के विरोध जोरदार प्रदर्शन क‍िया गया। पलवल में कुछ प्रदर्शनकार‍ियों ने डीसी आवास पर पथराव क‍िया। इस पर वहां तैनात पुलिसकर्मियों ने पथराव कर रहे प्रदर्शनकारियों को चेतावनी देने के लिए हवाई फायरिंग की। प्रदर्शनकारी पास में ही विरोध कर रहे थे। इस दौरान कुछ पुलिसकर्मी घायल भी हुए हैं और पुलिस वाहनों में तोड़फोड़ की गई है। इलाके में क‍िसी भी तरह की अफवाह पर रोक लगाने के ल‍िए इंटरनेट सेवा को बंद कर द‍िया गया है। डयूटी मजिस्ट्रेट पलवल ने बताया क‍ि घटना में कुछ पुलिस कर्मी घायल हुए हैं। प्रदर्शनकारियों ने 3-4 वाहनों को आग के हवाले कर दिया. अभी तक प्रदर्शनकारियों की शिनाख्त नहीं हो पाई है।

इन युवा ग्रामीणों का कहना है कि वह लंबे समय से सेना में भर्ती होने की तैयारी कर रहे हैं। सरकार आर्मी को भी प्राइवेट करने में लगी है। जब प्राइवेट नहीं कर सकती तो इसमें चार साल भर्ती की योजना बनाकर देश को बर्बादी की ओर धकेल रहे हैं। इस योजना को तुरंत प्रभाव से वापस लेना चाहिए। वहीं, ग्रामीणों का कहना है कि सरकार के इस फैसले का खामियाजा युवाओं को भुगतना पड़ेगा। हर किसी की इच्छा होती है कि वह फौज में भर्ती होकर देश सेवा करे, लेकिन सरकार के इस फैसले से युवाओं का भविष्य बर्बाद होगा। पहले भी सरकार की लेट लतीफी व मनमानी से कई युवा सेना में भर्ती नहीं हो पाए और उन्होंने मौत को भी गले लगा लिया था।

ये भी पढ़ें -: हिंसक हुआ ‘अग्निपथ’ आंदोलन, छपरा और कैमूर में ट्रेन की बोगियां फूंकी

ग्रामीणों के सड़कों पर उतरने के कारण दिल्ली-जयपुर हाईवे सुबह करीब सवा 9 बजे से जाम है। सूचना मिलते ही ट्रैफिक पुलिस व संबंधित थाना पुलिस मौके पर पहुंची और ग्रामीणों को मौके से हटाने का प्रयास किया, लेकिन ग्रामीण नहीं माने। यहां दिल्ली और रेवाड़ी की तरफ कई किलोमीटर लंबा जाम लग गया। ऐसे में ट्रैफिक पुलिस ने रूट डायवर्ट कर दिया।

इसके अलावा जब जाम लगा रहे लोगों को स्थानीय थाना पुलिस ने मौके से हटाने का प्रयास करते हुए उन्हें हिरासत में लिया तो यहां मौजूद भीड़ उग्र हो गई। फिलहाल मौके पर ग्रामीण व पुलिस आमने-सामने है और स्थिति तनावपूर्ण बनी हुई है। ग्रामीणों का कहना है कि जब तक सरकार इस योजना को वापस लेकर सेना में रेगुलर भर्ती नहीं करती तब तक वह सड़कों से हटने वाले नहीं है।

दरअसल, अग्निपथ योजना के तहत सेना में जवानों की भर्ती चार साल के लिए की जानी है। यह भर्ती प्रक्रिया अगले तीन महीने में शुरू हो जाएगी। इसके बाद 10 हफ्ते से छह महीने तक ट्रेनिंग दी जाएगी। इसके बाद प्रशिक्षित हुए जवान को चार साल के लिए सेना में भेज दिया जाएगा। सेनाओं का यूथफुल बनाने के लिए यह योजना शुरू की गई है। वर्तमान में सेना के जवानों की औसतन आयु 32 साल है। केंद्रीय मंत्री राजनाथ सिंह के मुताबिक, यह योजना सशस्त्र सेनाओं के आधुनिकीकरण व युवाओं को सेना के साथ जोड़ने के लिए अहम कदम है। अग्निवीर बनने के लिए जवान की आयु साढ़े 17 साल से 21 वर्ष के बीच होनी चाहिए।

ये भी पढ़ें -: थाने में पुलिस द्वारा पिटाई वाले वीडियो पर जांच के आदेश, BJP विधायक ने किया था शेयर

ये भी पढ़ें -: कश्मीरी पंडितों और मॉब लिंचिंग साई पल्लवी ने दिया बड़ा बयान, पढ़ें विस्तार से…

सोर्स – navbharattimes.indiatimes.com


आर्टिकल को शेयर ज़रूर करें :-