Politics

BJP में शामिल होने के बाद निदा खान का आरोप- शौहर दे रहे तेजाब फेंकने की धमकी, पुलिस न आती तो हो जाती लिंचिंग

after-joining-bjp-husband-is-threatening-to-throw-acid-alleges-nida-khan
आर्टिकल को शेयर ज़रूर करें :-

भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) में शामिल होने के बाद उत्तर प्रदेश के बरेली की रहने वाली निदा खान को उनके घर वाले धमकाने करने लगे। उनका आरोप है कि भगवा दल ज्वॉइन करने के बाद शौहर उन्हें तेजाब फेंकने की धमकी देने लगे, जबकि अगर पुलिस नहीं आती तो लिंचिंग (भीड़ द्वारा पीट-पीटकर हत्या) कर दी जाती।

पत्रकारों से बातचीत के दौरान निदा ने बताया, “हाल ही में मेरे मामू के बेटे की शादी थी। मैं उसमें शरीक होने गई थी, जहां मुझे बीजेपी से तौबा करने के लिए कहा गया था। कहा गया कि इसके बाद ही वे मुझे निकाह में शामिल होने देंगे। उनका दावा है, “वहां उस दौरान भीड़ भी जुट गई थी। वे सब कहने लगे कि बीजेपी से तौबा करो। यह सब देखते हुए मैंने पुलिस बुला ली। पुलिस के आने के बाद मामला थोड़ा संभल गया था, पर जैसे ही पुलिस वाले वहां से गए तो फिर से वही सब बातें चालू हो गईं।

ये भी पढ़ें -: हिंदू जागरण मंच के पोस्टर- मंदिरों के आसपास गैर हिंदू नहीं लगाएगा दुकान

खान बोलीं- तीन तलाक को लेकर भी मेरी लड़ाई चली है। उन्होंने (मेरे पति ने) कोर्ट में तेज़ाब फेंकने तक की धमकी दी है। अगर शादी में पुलिस समय पर नहीं आती तो वह लोग लिंचिंग जैसी घटना कर सकते थे। निदा ने आगे एक हिंदी न्यूज चैनल से बातचीत के दौरान बताया, “ससुराल वालों की ओर से मुझे लगातार धमकियां मिल रही थीं। पर भाजपा में शामिल होने मेरे लिए गर्व की बात है।

हालांकि, खान के खिलाफ एक फतवा भी इससे पहले जारी हो चुका है और उन्हें इस्लाम से खारिज किया जा चुका है। फतवे में निदा और उनके परिजन को इस्लाम से खारिज किया जा चुका है। साथ ही उनका हुक्का-पानी भी बंद कर दिया गया था। यही नहीं, जनाजे में शामिल न होने और न दफ्नाने का फतवा भी था। वहीं, आरोपों के बाद बारादरी थाने में पति और ससुराल वालों के खिलाफ एफआईआर दर्ज हो गई है।

ये भी पढ़ें -: पेट्रोल-डीजल की कीमतों पर पत्रकार ने पूछा सवाल तो भड़के रामदेव- क्या पूंछ उखाड़ लेगा मेरी…

बरेली के एसएसपी रोहित सिंह ने बताया, “हमें तहरीर मिली कि पार्टी विशेष में शामिल होने के चलते उनका सामाजिक बहिष्कार किया गया। साथ ही उनको कहा गया कि माफी मांगने के बाद ही वे कार्यक्रमों में हिस्सा ले सकती हैं। हमने इस बाबत आईपीसी की धारा 147, 323, 506 और आईटी एक्ट 67 के तहत छह लोगों के खिलाफ केस दर्ज किया है।

निदा का इस बाबत कहना है कि ऐसे लोगों पर ऐक्शन होना जरूरी है। बता दें कि मौजूदा समय में उनका शौहर के साथ तलाक का मामला चल रहा है।

ये भी पढ़ें -: बस का किराया बचाने के लिए युवक बन गया नकली फौजी, यूं हुआ गिरफ्तार…

ये भी पढ़ें -: डॉ. कफील खान पर मुकदमा दर्ज, ऐंबुलेंस में जबरदस्ती इलाज करने का आरोप

सोर्स – jansatta.com


आर्टिकल को शेयर ज़रूर करें :-