Politics

Election watch और ADR की रिपोर्ट- UP मैं सबसे ज्यादा दाग़ी और धन्नासेठ हैं BJP के विधायक

adr-survey-of-up-assembly-says-bjp-has-maximum-criminal-cases-and-rich-mla
आर्टिकल को शेयर ज़रूर करें :-

ADR Survey Of UP Assembly : जैसे-जैसे उत्तर प्रदेश में विधानसभा चुनाव की सरगर्मियां तेज हो रही हैं, उत्तर प्रदेश इलेक्शन वाच और एसोसिएशन फॉर डेमोक्रेटिक रिफॉर्म्स (ADR) ने नेताओं की संपत्ति, उनपर दर्ज मुकदमे और उनकी शिक्षा का ब्यौरा खंगालना शुरू कर दिया है.

लोकतांत्रिक तरीके से चुनाव व्यवस्था और नेताओं पर नजर रखने वाली एडीआर ने उत्तर प्रदेश चुनाव से पहले, मौजूदा विधानसभा के विधायकों की पूरी कुंडली सामने रख दी है. 2017 में विधानसभा चुनाव व उपचुनाव में मौजूदा विधायकों ने जो शपथ पत्र दाखिल किए थे उनके विश्लेषण के बाद, ADR ने एक रिपोर्ट जारी की है. इस रिपोर्ट के मुताबिक, मौजूदा विधानसभा में 35 फीसदी विधायकों पर अपराधिक मामले दर्ज रहे जिनमें बीजेपी के सर्वाधिक 106 विधायक शामिल हैं. इतना ही नहीं अपराधिक छवि के विधायकों के साथ-साथ करोड़पति विधायक भी सबसे ज्यादा बीजेपी में ही हैं.

यूपी इलेक्शन वाच और एसोसिएशन फॉर डेमोक्रेटिक रिफॉर्म्स ने उत्तर प्रदेश की 403 विधानसभा के 396 विधायकों के वित्तीय, आपराधिक व अन्य विवरणों का विश्लेषण किया है. विधानसभा में 7 सीटें खाली हैं. एडीआर ने 2017 मे चुनाव के दौरान उम्मीदवारी पेश करते वक्त दाखिल किए गए शपथ पत्र का विश्लेषण कर रिपोर्ट जारी की है.

ADR सर्वे में पाया गया कि यूपी में 140, यानी 35 फीसदी विधायकों पर आपराधिक मामले दर्ज हैं. इन 140 विधायकों में 106 विधायक ऐसे हैं जिनपर हत्या, लूट, डकैती और दंगे जैसे गंभीर आपराधिक मामले दर्ज हैं. पार्टीवार दागी विधायकों की बात करें, तो बीजेपी के 304 विधायकों में से 106 पर, सपा के 49 में से 18 पर, बीएसपी के 18 में से 2 पर और कांग्रेस के 1 विधायक पर आपराधिक मामले दर्ज हैं.

मौजूदा विधानसभा में हमारे विधायकों की हैसियत यानी संपत्ति की बात करें, तो कुल 396 विधायकों में 313 यानी 79 फीसदी विधायक करोड़पति हैं. सबसे ज़्यादा करोड़पति विधायक बीजेपी में हैं. रिपोर्ट से पता चलता है कि बीजेपी 235, सपा के 42, बीएसपी के 15 और कांग्रेस के 5 विधायक करोड़पति हैं.

हर विधायक की औसत संपत्ति 5.85 करोड़ है. पार्टीवार विधायकों की औसत संपत्ति के हिसाब से बीजेपी के विधायकों की औसत संपत्ति 5.04 करोड़ समाजवादी पार्टी के 49 विधायकों की औसत संपत्ति 6.07 करोड़, बीएसपी के 16 विधायकों की औसत संपत्ति 19.27 करोड़ और कांग्रेस के 7 विधायकों की औसत संपत्ति 10.06 करोड़ है.

अब अगर सबसे धनाढ्य विधायक की बात करें तो सबसे ज्यादा संपत्ति बीएसपी के मुबारकपुर से विधायक शाह आलम उर्फ गुड्डू जमाली के पास 118 करोड़ से ज्यादा की संपत्ति है. दूसरे नंबर पर बीएसपी के चुल्लू पार से विधायक विनय शंकर तिवारी के पास 67 करोड़ से ज्यादा की संपत्ति है, और तीसरे नंबर पर बाह विधानसभा से विधायक रानी पक्षालिका सिंह के पास 58 करोड़ से अधिक की संपत्ति है.

संपत्ति के साथ-साथ मौजूदा विधायकों के ऊपर देनदारियां भी कम नहीं थीं. रिपोर्ट में पाया गया कि 49 विधायकों पर एक करोड़ से ज़्यादा की देनदारी थी, जिसमें उत्तर प्रदेश सरकार में मंत्री नंद गोपाल नंदी पर 26 करोड़, नेचतुर विधानसभा से विधायक ओम कुमार पर 11 करोड़, इलाहाबाद पश्चिमी विधानसभा से विधायक सिद्धार्थ नाथ सिंह पर 9 करोड़ की घोषित देनदारी रही.

एडीआर की रिपोर्ट ने हमारे विधायकों की शिक्षा का भी विश्लेषण किया. रिपोर्ट के मुताबिक, कुल 396 विधायकों में 95 विधायक आठवीं से 12वीं पास है. 290 विधायक ग्रेजुएट हैं, 4 विधायक साक्षर भर है, 5 विधायक डिप्लोमा होल्डर हैं.

यह भी पढ़ें -: CJI बोले- फैसले लेने से पहले, शासकों को गहराई से सोचने की जरूरत, लोकतंत्र में जनता ही सर्वोपरि

यह भी पढ़ें -: किसान महापंचायत में बोले राकेश टिकैत- संघर्ष विराम का ऐलान केंद्र ने किया है, हमने नहीं

सोर्स –  aajtak.in.  ADR Survey Of UP Assembly


आर्टिकल को शेयर ज़रूर करें :-