Politics

पोलैंड बॉर्डर तक पहुंचने के लिए पैदल ही निकल पड़े 40 भारतीय छात्र

40-indian-students-set-out-on-foot-to-reach-poland-border
आर्टिकल को शेयर ज़रूर करें :-

रूस और यूक्रेन के बीच जारी जंग में भारतीय छात्र भी काफी डरे हुए हैं और जल्द ही वहां से निकलना चाहते हैं। इसी जद्दोजेहद के बीच भारतीय छात्रों का एक दल पैदल ही यूक्रेन पोलैंड बॉर्डर तक पहुंचने के लिए निकल पड़ा है। कॉलेज बस ने इन छात्रों को बॉर्डर से करीब 8 किलोमीटर दूर ही उतार दिया, जिसके बाद ये छात्रों को बॉर्डर तक पहुंचने के लिए पैदल चलना पड़ा। न्यूज एजेंसी ANI ने इस बात की जानकारी दी है।

समाचार एजेंसी के मुताबिक, डैनली हेलित्सकी मेडिकल यूनिवर्सिटी के करीब 40 मेडिकल छात्रों को कॉलेज बस ने बॉर्डर से करीब 8 किमी दूर छोड़ दिया था और बॉर्डर तक का सफर इन्‍हें पैदल करना पड़ा। पोलैंड की सीमा से करीब 70 किमी दूर, लीव (Lviv) के मेडिकल कॉलेज के स्‍टूडेंट यूक्रेन के पड़ोसी देश से निकाले जाने का इंतजार कर रहे हैं क्‍योंकि रूस के हमले बाद यूक्रेन के हवाईक्षेत्र को बंद कर दिया गया है।

यह भी पढ़ें -: UK PM Johnson बोले- Putin हैं तानाशाह, बम, टैंकों से यूक्रेनी राष्ट्रप्रेम खत्म नहीं कर पाएंगे

पोलैंड-यूक्रेन बॉर्डर तक की यात्रा करने वाले भारतीय स्‍टूडेंट्स में से एक के ओर से शेयर किए गए वीडियो में इन्‍हें खाली सड़क के किनारे चलते हुए देखा जा सकता है। यूक्रेन रोमानिया बॉर्डर जाते वक्त इन तमाम छात्रों के चेहरे पर खुशी नज़र आई। छात्रों ने भारत का झंडा हाथ में लिया हुआ था। रूस के हमले के बाद यूक्रेन में हज़ारों भारतीय छात्र और नागरिक फंस गए हैं, जिन्हें वहां से निकालने की कोशिशें की जा रही हैं।

40-indian-students-set-out-on-foot-to-reach-poland-border

यह भी पढ़ें -: फ्रांस का रूस पर पलटवार- पुतिन ये न भूलें कि NATO के पास भी है परमाणु हथियार

बता दें कि, रूस के यूक्रेन पर हमले के बाद हजारों की संख्या में भारतीय स्टूडेंट्स यूक्रेन में फंस गए हैं। इस वक्त मोदी सरकार के सामने सबसे बड़ी चुनौती है कि वहां फंसे भारतीयों को सुरक्षित कैसे बाहर निकाला जाए। भारत ने यूक्रेन में फंसे अपने नागरिकों को निकालने के लिए हंगरी और पोलैंड की सीमाओं के जरिए सरकारी दलों को भेजा है।

भारत के विदेश सचिव हर्षवर्धन श्रृंगला ने कहा, ‘सुरक्षित मार्गों की पहचान कर ली गई है। सड़क मार्ग से, यदि आप कीव से जाते हैं, तो आप नौ घंटे में पोलैंड और लगभग 12 घंटे में रोमानिया पहुंच जाएंगे। सड़क का नक्शा तैयार कर लिया गया है।

यह भी पढ़ें -: यूक्रेन पर हमले के खिलाफ सड़कों पर उतरे रूसी, 1700 से ज्यादा हिरासत में लिए गए

यह भी पढ़ें -: शी जिनपिंग ने की पुतिन से बात, कहा यूक्रेन के साथ ‘बातचीत’ से सुलझे संकट

सोर्स – punjabkesari.in


आर्टिकल को शेयर ज़रूर करें :-