India

कर्नाटक: मुस्लिमों को निशाना बना सोशल मीडिया पर हुआ पोस्ट, भड़की हिंसा में 12 पुलिसकर्मी जख्मी, 40 गिरफ्तार

40-arrested-in-karnataka-violence-over-a-social-media-post
आर्टिकल को शेयर ज़रूर करें :-

कर्नाटक के धारवाड़ जिले के पुराने हुबली पुलिस स्टेशन पर शनिवार (16 अप्रैल, 2022) को भीड़ द्वारा पथराव करने की घटना में 40 लोगों को गिरफ्तार किया गया है। सोशल मीडिया पर एक आपत्तिजनक वीडियो पोस्ट करने के आरोप में एक शख्स की गिरफ्तारी हुई थी। बड़ी संख्या में लोग पुलिस की इस कार्रवाई से संतुष्ट नहीं थे, जिन्होंने कल रात ओल्ड हुबली पुलिस स्टेशन पर पथराव कर दिया। इसमें एक इंस्पेक्टर समेत 12 पुलिसकर्मी घायल हो गए।

मुख्यमंत्री बसवराज बोम्मई ने हमले की निंदा करते हुए, इसे एक संगठित हमला करार दिया है। उन्होंने सख्त लहजे में कहा कि इस तरह की घटनाओं को बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। हुबली-धारवाड़ के पुलिस आयुक्त लाभू राम ने कहा कि एक व्यक्ति ने सोशल मीडिया पर मुस्लिम समुदाय को निशाना बनाते हुए एक आपत्तिजनक पोस्ट साझा किया था, जिस पर लोगों ने आपत्ति जताते हुए शिकायत की थी। इसके बाद पुलिस ने युवक को गिरफ्तार कर उसके खिलाफ मामला दर्ज कर लिया।

ये भी पढ़ें -: कुमार विश्वास बोले- मुझे समझ नहीं आता कि हनुमान चालीसा पढ़नी है तो नमाज के वक्त क्यों पढ़नी है?

हालांकि, पुलिस की इस कार्रवाई से लोग संतुष्ट नहीं थे और भारी संख्या में लोग पुलिस स्टेशन के बाहर जमा हो गए और खूब हंगामा किया। पुलिस अधिकारी राम ने बताया कि भीड़ की तरफ से किए गए पथराव में एक इंस्पेक्टर सहित बारह पुलिसकर्मी घायल हो गए। कुछ पुलिस वाहनों में भी भीड़ ने तोड़फोड़ की। अधिकारियों ने बताया कि स्थिति पर काबू पाने के लिए पुलिस ने हल्का लाठाचार्ज भी किया और भीड़ को तितर-बितर करने के लिए आंसू गैस के गोले दागे।

अधिकारियों ने कहा कि हिंसा के बाद शहर में निषेधाज्ञा लागू कर दी गई है। पुलिस आयुक्त लाभू राम ने कहा, “हिंसा में शामिल लोगों के खिलाफ छह मामले दर्ज किए गए हैं और स्थिति अब नियंत्रण में है।” इस बीच, कर्नाटक के मुख्यमंत्री बसवराज बोम्मई ने इसे एक संगठित हमला करार दिया और कहा कि इसके पीछे जो संगठन हैं उन्हें यह पता होना चाहिए कि राज्य ऐसी घटनाओं को बर्दाश्त नहीं करेगा।

ये भी पढ़ें -: जहांगीरपुरी हिंसा: इलाके के लोग बोले- कुछ ने मस्जिद पर चढ़ने का किया प्रयास, बाहरियों ने बिगाड़ा माहौल

उन्होंने कहा, “मैं साफ तौर पर बताना चाहता हूं कि जो कोई भी कानून अपने हाथ में लेगा, हमारी पुलिस उनके खिलाफ सख्त कार्रवाई करने से नहीं हिचकेगी। वे चाहे कोई भी हों… इसलिए, जो भी इसके पीछे है और भीड़ को उकसाने का काम किया है, उसे दंडित किया जाएगा। मैं ऐसी घटनाओं के पीछे के संगठनों से कहना चाहता हूं कि कानून न तोड़ें। कर्नाटक राज्य इसे बर्दाश्त नहीं करेगा।

राज्य के गृह मंत्री अरागा ज्ञानेंद्र ने संवाददाताओं से बातचीत में कहा कि एक पुलिस अधिकारी की हालत गंभीर है और उसे इलाज के लिए अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

ये भी पढ़ें -: पश्चिम बंगाल के आसनसोल लोकसभा उपचुनाव में तृणमूल कांग्रेस और शत्रुघ्न सिन्हा ने इत‍िहास रच द‍िया

ये भी पढ़ें -: दिल्ली दंगे को संजय राउत ने बताया प्रायोजित, बोले- प्रधानमंत्री इस पर भी करें मन की बात

ये भी पढ़ें -: मुख्तार अब्बास नकवी बोले- कौन क्या खाएगा और क्या नहीं…ये बताना नहीं है सरकार का काम

सोर्स – jansatta.com


आर्टिकल को शेयर ज़रूर करें :-