India

मोटरसाइकिल और स्कूटर चालक सावधान- अब हेलमेट पहने होने पर भी कटेगा 2000 का चालान

2000-rs-traffic-challan-if-helmet-strap-not-tied-or-not-confirming-bis-new-rules-motorcycle-scooter
आर्टिकल को शेयर ज़रूर करें :-

नए ट्रैफिक नियम के अनुसार आपका हेलमेट पहने होने के बावजूद 2000 रुपए का चालान कट सकता है। ऐसा कैसे हो सकता है, आज हम आपको इसकी जानकारी देंगे। दसअसल मोटर व्हीकल एक्ट के अनुसार मोटरसाइकिल, स्कूटर चलाते हुए अगर आपको हेलमेट की स्ट्रिप नही बंधी है तो नियम 194D MVA के अनुसार आपका 1000 रुपए का चालान और अगर आपने दोषपूर्ण हेलमेट (बिना बीआईएस वाला) पहना है तो 194D MVA के अनुसार आपका 1000 रुपए का चालान कट सकता है।

ऐसे में हेलमेट पहने होने के बावजूद नए नियमों का पालन ना करने के कारण आपको 2000 रुपए का चालान भुगतना पड़ सकता है। हमारा मकसद आपको ट्रैफिक नियमों को लेकर जानकारी देते हुए जागरुक करना है। ताकि सड़क हादसों को भी रोका जा सके।

ये भी पढ़ें -: आर्यन खान को मिली क्लीन चिट, NCB के चार्जशीट में आर्यन खान का नाम नही

इसके अलवा नए मोटर व्हीकल एक्ट के अनुसार वाहन में ओवरलोडिंग करने पर आपको 20000 रुपए का भारी भरकम जुर्मना भुगतना पड़ सकता है। इसके अलावा ऐसा करने पर प्रति टन 2000 रुपए का अतिरिक्त जुर्माना भी देना होगा। ऐसा पहले भी हो चुका है जब ऐसा करने पर कई हजार के चालान कटने के मामने सामने आए है।

https://echallan.parivahan.gov.in वेबसाइट पर जाएं। चेक चालान स्टेटस का विकल्प चुनें। आपको चालान नंबर, वाहन नंबर और ड्राइविंग लाइसेंस नंबर (DL) का ऑप्शन मिलेगा। वाहन नंबर का ऑप्शन चुनें। मांगी गई जरूरी जानकारी भरें और ‘Get Detail’ पर क्लिक कर दें। अब चालान का स्टेटस सामने आ जाएगा।

ये भी पढ़ें -: होटल भी बुक था, तारीख भी तय थी, फिर आ गया RCB का बुलावा, रजत पाटीदार की अद्भुत कहानी

https://echallan.parivahan.gov.in/ पर जाएं। चालान से जुड़ी जरूरी जानकारी और कैप्चा भरें और गैट डिटेल पर क्लिक करें। नया पेज खुलेगा, जिसपर चालान की जानकारी होगी। जिस चालान का भुगतान करना है, उसे तलाशें।

चालान के साथ ही ऑनलाइन भुगतान का विकल्प दिखेगा, उस पर क्लिक करें। भुगतान से जुड़ी जानकारी भरें। भुगतान को कंफर्म करें। अब आपका ऑनलाइन चालान भरा गया।

ये भी पढ़ें -: मिड डे मिल का जायजा लेने पहुचे डीएम ने जमीन पर बैठकर छात्रों के साथ भोजन किया

ये भी पढ़ें -: शहीद मुदस्सिर के पिता बोले- मेरा बेटा अब वापस नहीं आएगा, लेकिन हजारों जिंदगियां बचा गया

सोर्स – livehindustan.com


आर्टिकल को शेयर ज़रूर करें :-