India

होटल बुक करने पर GST दी? अब बुकिंग कैंसिल पर भी GST दो जितना बुकिंग के टाइम दिया था

20220806 124706 min
आर्टिकल को शेयर ज़रूर करें :-

अगर आपने होटल या ट्रेन का टिकट (Train Ticket) बुक कराया और आपका मन बदल गया या किसी और वजह से आपने बुकिंग कैंसिल करा दी, तो अब ये आपकी जेब पर भारी पड़ेगा. दरअसल, सरकार ने साफ कर दिया है कि होटल या ट्रेन का टिकट कैंसिल कराने पर आपको जीएसटी (GST) चुकाना होगा. जीएसटी की दर वही रहेगी, जो बुकिंग के समय आपने चुकाई थी.

अंग्रेजी अखबार टाइम्स ऑफ इंडिया की रिपोर्ट के मुताबिक, वित्त मंत्रालय के टैक्स रिसर्च यूनिट ने इस बारे में एक सर्कुलर जारी किया है. सर्कुलर में कहा गया है कि फर्स्ट क्लास या एसी कोच टिकट के लिए कैंसिलेशन चार्ज पर पांच फीसदी जीएसटी लगेगा, जो टिकट पर लगया जाने वाला रेट है.

ये भी पढ़ें -: UP के देवरिया में आयुष्‍मान भारत योजना के इलाज के नाम लाखों का फर्जीवाड़ा

केंद्रीय अप्रत्यक्ष कर एवं कस्टम बोर्ड ने साफ किया है कि धार्मिक स्थलों से जुड़े सरायों या विश्राम गृहों में रूम किराये पर लेने पर पहले की तरह जीएसटी से छूट जारी है. साथ ही बोर्ड ने मीडिया में छपी उन खबरों को गलत बताया है, जिनमें ये यह दावा किया गया है कि धार्मिक स्थलों से जुड़े विश्राम गृहों और सरायों पर सरकार ने जीएसटी लगा दी है.

बोर्ड की तरफ से जारी ट्वीट में कहा गया है कि जीएसटी काउंसिल की चंडीगढ़ में हुई 47वीं बैठक में जो फैसला लिया गया, उसके मुताबिक अगर किसी साधारण होटल या विश्राम गृह में एक हजार रुपये से कम किराये का कमरा बुक किया जाता है, तो उसपर जीएसटी की पहले से जारी छूट खत्म कर दी गई और 12 फीसदी जीएसटी लगाने का फैसला किया गया है.

ये भी पढ़ें -: ED का दावा- अर्पिता मुखर्जी के पास थीं 31 LIC पॉलिसी, सभी में नॉमिनी निकले पार्थ चटर्जी

लेकिन बोर्ड के मुताबिक ये फैसला किसी धार्मिक स्थल से जुड़े विश्राम गृह पर लागू नहीं होता है. जीएसटी काउंसिल ने चंडीगढ़ में आयोजित अपनी बैठक में फैसला किया था कि एक हजार रुपये प्रतिदिन से कम कीमत वाले होटल कमरों पर 12 फीसदी का टैक्स लगाया जाएगा.

18 जुलाई, 2022 को एक हजार रुपये से कम किराए वाले कमरे पर जीएसटी प्रस्ताव के लागू होने के बाद शिरोमणि गुरुद्वारा प्रबंधक समिति (एसजीपीसी) द्वारा संचालित कुछ सरायों ने एक हजार रुपये से कम किराये वाले कमरों के लिए जीएसटी जुटाना शुरू कर दिया था.

ये भी पढ़ें -: सरकार ने लगाया 5% GST तो कंपनी ने बढ़ा दी 50% दही की कीमत

ये भी पढ़ें -: सुप्रीम कोर्ट ने संजीव भट्ट को जमानत देने से किया इनकार, जानें पूरा मामला…

ये भी पढ़ें -: जाना था समस्तीपुर, ट्रेन पहुंच गई कहीं और… बिहार में हुई लापरवाही, टला बड़ा हादसा


आर्टिकल को शेयर ज़रूर करें :-