Politics

स्कूटी रोके जाने पर पुलिसवालों पे भड़के BJP सांसद लक्ष्मीकांत वाजपेयी- मैं छाती पर पैर रखकर नाचता हूं

20220912 151350 min
आर्टिकल को शेयर ज़रूर करें :-

बीजेपी से राज्यसभा सांसद और झारखंड के प्रभारी लक्ष्मीकांत वाजपेयी रविवार को स्कूटी चलाकर मेरठ के सर्किट हाउस में जम्मू कश्मीर के लेफ़्टिनेंट गवर्नर मनोज सिन्हा से मिलने पहुंचे थे, लेकिन मौके पर मौजूद पुलिस अधिकारियों ने उनको नहीं पहचाना. उन्होंने लक्ष्मीकांत वाजपेयी को अंदर जाने से रोक दिया. इसके बाद हंगामा खड़ा हो गया.

लक्ष्मीकांत वाजपेयी ने मौके पर मौजूद अधिकारियों को खूब खरी खोटी सुनायी. उन्होंने कहा, ‘इनको वो पसंद आता है जो कार से आता है, जो खुद कमाता है और इनको कमवाता है, हम न पैसा लेते हैं, न देते हैं.’ इसके साथ ही चेतावनी देते हुए कहा, ‘फ़क़ीर जिस दिन उलट देता है जान बचानी मुश्किल हो जाती है…ये मेरठ है… रावण की ससुराल…’

ये भी पढ़ें -: 3 परिवारों ने घरों पर लगाया बैनर- BJP विधायक कब्जा कर रहे हमारी जमीन, इसलिए पलायन को मजबूर…

दरअसल जम्मू कश्मीर के लेफ़्टिनेंट गवर्नर मनोज सिन्हा रविवार को मेरठ पहुंचे थे. सर्किट हाउस में उनसे मिलने बीजेपी के वरिष्ठ नेता और जन प्रतिनिधि पहुंच रहे थे. ऐसे में सांसद लक्ष्मीकांत वाजपेयी भी अपनी स्कूटी चलाकर पहुंचे, लेकिन मौक़े पर मौजूद अधिकारियों ने उनको नहीं पहचाना और वाजपेयी को गेट के अंदर जाने से रोक दिया गया.

इसके बाद लक्ष्मीकान्त वाजपेयी आक्रोशित हो गए. उनका वीडियो भी वायरल हो रहा है. हालांकि पुलिस अधिकारियों ने गलती मानकर उनकी बात सुनी. हाल ही में बीजेपी ने राज्यसभा सांसद और सदन में पार्टी के सचेतक लक्ष्मीकान्त वाजपेयी को झारखंड का प्रभारी घोषित किया है. लक्ष्मीकान्त वाजपेयी मेरठ से ही चार बार विधायक रहे हैं.

ये भी पढ़ें -: जेल से रिहा होने के बाद KRK का ट्वीट- मैं बदला लेने के लिए लौट आया हूं…

लक्ष्मीकान्त वाजपेयी यूपी बीजेपी के अध्यक्ष भी रहे हैं. 2014 के लोकसभा चुनाव में पार्टी को यूपी में बड़ी सफलता मिली थी, उस समय लक्ष्मीकान्त वाजपेयी पार्टी के अध्यक्ष थे. पार्टी को यूपी में 73 सीटें मिली थीं. अध्यक्ष रहते हुए भी वाजपेयी अपने स्कूटर से लखनऊ में कई बार घूमते देखते जाते थे.

ये भी पढ़ें -: आपस में भिड़े उद्धव ठाकरे और एकनाथ शिंदे के समर्थक, विधायक पर गोली चलाने के आरोप

ये भी पढ़ें -: बिलकिस बानो केस पर शाजिया इल्मी के आर्टिकल पर भड़की VHP, पूछा- क्या यह BJP का रूख है?

ये भी पढ़ें -: गुलाम नबी आजाद बोले- आर्टिकल 370 ना मैं वापस दिला सकता हूं, ना कांग्रेस, ना पवार और ना ममता


आर्टिकल को शेयर ज़रूर करें :-