Politics

श्रीकांत त्यागी पर डैमेज कंट्रोल में जुटी BJP, बालियान ने ऐक्शन पर उठा दिए सवाल

20220822 184320 min
आर्टिकल को शेयर ज़रूर करें :-

श्रीकांत त्यागी को लेकर भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के लिए मुश्किलें कम होती नहीं दिख रही हैं। पहले ऐक्शन में देरी को लेकर घिरी भाजपा अब ज्यादा सख्ती को लेकर ‘फंस’ गई है। जिस तरह त्यागी बिरादरी श्रीकांत के समर्थन में खड़ी हो गई है उसके बाद भाजपा को नुकसान की आशंका सताने लगी है। शनिवार को नोएडा में जिस तरह महापंचायत में भारी भीड़ उमड़ी उससे भाजपा सतर्क हो गई है और डैमेज कंट्रोल में जुट गई है।

केंद्रीय मंत्री और पश्चिमी यूपी के बड़े जाट नेता संजीव बालियान ने कहा है कि जो कुछ भी श्रीकांत ने किया उसकी सजा उसे ही मिलनी चाहिए, उसके परिवार के साथ किसी तरह का अन्याय नहीं होना चाहिए। मंत्री ने त्यागी बिरादरी की ओर से नोएडा में हुई महापंचायत को लेकर कहा, ” त्यागी समाज ने हमेशा हमारे लिए वोट किया है। इसलिए यदि कुछ है तो हम बैठेंगे और उनसे बात करेंगे।

ये भी पढ़ें -: Filmfare Awards ने ‘झूठे आरोप’ के बाद वापस लिया कंगना रनौत का नॉमिनेशन

उन्होंने कहा, ”श्रीकांत त्यागी ने जो किया उसकी सजा उसे ही मिले, लेकिन यह ठीक नहीं है जिस तरह उसके परिवार को परेशानियों का सामना करना पड़ा।” इस बीच नोएडा के डीएम सुहास लालिनाकेरे यथिराज ने कहा कि महापंचायत शांतिपूर्वक संपन्न हुई। उन्होंने कहा, ”हमने उनसे ज्ञापन लिया है और प्रशासन इसकी जांच करेगा। इसके मुताबिक जरूरी कदम उठाए जाएंगे।

टिकैत भी आए साथ भारतीय किसान यूनियन के राष्ट्रीय अध्यक्ष नरेश टिकैत ने भी त्यागी समाज की इस महापंचायत को अपना समर्थन दिया था। भाकियू के नेता और पदाधिकारी इस महापंचायत में खासे सक्रिय भी रहे और वह मंच से लेकर पंडाल तक में बड़ी संख्या में थे। ऐसे में अब रालोद के इस मामले में सक्रिय होने से सियासी माहौल गरमाया है।

ये भी पढ़ें -: कांग्रेस ने मांगा सिसोदिया का इस्तीफा तो उमर अब्दुल्ला बोले- ये दोहरा चरित्र क्‍यों?

श्रीकांत त्यागी प्रकरण को लेकर त्यागी समाज के लोगों ने चौदह सूत्रीय मांगों के समर्थन में रविवार को सेक्टर-101 रामलीला मैदान में महापंचायत की। इस दौरान पंद्रह दिन में 14 सूत्रीय मांगों को मानने के लिए जिलाधिकारी को ज्ञापन सौंपा। साथ ही, श्रीकांत त्यागी पर लगाई गई गंभीर धाराओं को हटाने के लिए करीब दो हफ्ते का अल्टीमेटम दिया गया। इसके बाद बड़े आंदोलन की चेतावनी दी।

त्यागी समाज के लोगों ने रामलीला मैदान में भारी संख्या में पहुंचकर शक्ति प्रदर्शन किया। इसमें पश्चिमी उत्तर प्रदेश समेत दिल्ली, हरियाणा, राजस्थान, उत्तराखंड, बिहार के त्यागी समाज के हजारों लोग पहुंचे।

ये भी पढ़ें -: नोएडा की गालीबाज़ औरत: 3 महीने पहले किराए पर घर लिया था… गार्ड ने कही ये बात

ये भी पढ़ें -: महिला के साथ रंगरेलियां मनाते पकड़े गए BJP नेता मोहित सोनकर पर पार्टी ने लिया ये एक्शन

ये भी पढ़ें -: अपनी फिल्म लाइगर के बायकॉट पर बोले विजय देवरकोंडा- मैं किसी से डरता नहीं हूं


आर्टिकल को शेयर ज़रूर करें :-