Politics

शिंदे गुट के 39 और उद्धव गुट के 14 MLAs की बढ़ी मुश्किलें, जारी हुवा नोटिस

20220710 191818 min
आर्टिकल को शेयर ज़रूर करें :-

महाराष्ट्र में एकनाथ शिंदे और देवेंद्र फडणवीस की अगुवाई में सरकार बनने के बाद भी सियासी गहमागहमी लगातार जारी है। महाराष्ट्र विधानसभा के प्रधान सचिव राजेंद्र भागवत ने शिवसेना के 55 में से 53 विधायकों को कारण बताओ नोटिस जारी कर दिए हैं। इसमें शिंदे गुट के 39 और उद्धव गुट के 14 विधायक शामिल हैं। यह नोटिस दलबदल के आधार पर अयोग्यता के नियम के तहत जारी किया गया है।

दोनों पक्षों के विधायकों ने कारण बताओ नोटिस मिलने की पुष्टि की है। ठाकरे गुट के 14 विधायकों में से एक संतोष बांगर 4 जुलाई को फ्लोर टेस्ट के दिन शिंदे खेमे में शामिल हो गए थे। दोनों गुटों ने एक-दूसरे पर स्पीकर के चुनाव और विश्वास मत पर वोटिंग के दौरान पार्टी व्हिप का उल्लंघन करने का आरोप लगाया है, जिसमें दोनों पक्षों की तरफ से विधायकों को अयोग्य घोषित करने की मांग की गई है।

ये भी पढ़ें -: क्या उमेश कोल्हे की हत्या करने वाले आरोपी ने राणा दंपत्ति के लिए किया था प्रचार ?

शिंदे गुट ने उन विधायकों की सूची में पूर्व मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे के बेटे आदित्य ठाकरे का नाम शामिल नहीं किया है, जिनके खिलाफ उन्होंने अयोग्यता की मांग की है। विधायकों को यह नोटिस महाराष्ट्र विधान सभा के सदस्य (दलबदल के आधार पर अयोग्यता) नियमों के तहत जारी किए गए हैं। सूत्रों ने बताया कि विधायकों को सात दिनों के भीतर अपना जवाब दाखिल करने को कहा गया है।

288 सदस्यीय विधानसभा में शिवसेना के 55 विधायक हैं। शिवसेना के एक विधायक के निधन के बाद सदन में कुल सदस्यों की वर्तमान संख्या 287 है।फ्लोर टेस्ट के दौरान 164 विधायकों ने एकनाथ शिंदे सरकार के समर्थन में वोट किया था जबकि 99 ने इसके खिलाफ मतदान किया था।

ये भी पढ़ें -: दो साल के छोटे भाई का शव गोद में लेकर सड़क पर बैठा मासूम, वाहन के लिए भटक रहा पिता

4 जुलाई को विधानसभा में विश्वास मत जीतने के बाद शिवसेना के एकनाथ शिंदे गुट ने उद्धव ठाकरे खेमे के 14 विधायकों को शिवसेना के व्हिप और शिंदे के वफादार भरत गोगावाले द्वारा जारी किए गए व्हिप का उल्लंघन करने के लिए नोटिस जारी किया था।

फ्लोर टेस्ट से एक दिन पहले महाराष्ट्र विधानसभा अध्यक्ष राहुल नार्वेकर ने गोगावाले को शिवसेना के मुख्य सचेतक के रूप में मान्यता दी थी। स्पीकर ने ठाकरे गुट के सुनील प्रभु को हटा दिया था।

ये भी पढ़ें -: क्या अब गोवा में राजनीतिक संकट?, कांग्रेस के 10 MLA बीजेपी में हो सकते शामिल

ये भी पढ़ें -: शिव-पार्वती के वेश में नुक्कड़ नाटक कर महंगाई पर कसा तंज, कलाकार पर इस धारा में केस दर्ज…

ये भी पढ़ें -: ‘मैं स्कूल जा रहा हूं’ का अंग्रेजी अनुवाद नहीं कर सके हेडमास्टर, भड़के SDO, देखें Video


आर्टिकल को शेयर ज़रूर करें :-