Politics

‘शराब, बच्चे, 500 कंडोम’, पुलिस ने कही मेघालय BJP उपाध्यक्ष के यहां सेक्स रैकेट भंडाफोड़ की बात

20220724 144822 min
आर्टिकल को शेयर ज़रूर करें :-

मेघालय पुलिस (Meghalaya Police) ने भारतीय जनता पार्टी (BJP) नेता के फार्महाउस में चल रहे कथित सेक्स रैकेट (Sex Racket) का भंडाफोड़ किया है. पुलिस के मुताबिक, यहां से 6 बच्चों का रेस्क्यू किया गया है और इस मामले में अभी तक 73 लोगों को गिरफ्तार किया जा चुका है. न्यूज एजेंसी पीटीआई की रिपोर्ट के मुताबिक, एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया है कि इस कथित सेक्स रैकेट को मेघालय BJP के उपाध्यक्ष और आतंकी से नेता बने बर्नार्ड एन मारक (Bernard N Marak) ऑपरेट कर रहे थे.

रिपोर्ट के मुताबिक, पुलिस को टिप मिली थी कि रिंपू बागान नाम के इस फार्महाउस में सेक्स रैकेट चलाया जा रहा है. जिसके बाद शनिवार, 24 जुलाई को पुलिस ने यहां छापेमारी की. फार्महाउस से छापेमारी में मिली चीजों के बारे में जानकारी देते हुए वेस्ट गारो हिल्स जिले के एसपी विवेकानंद सिंह ने PTI को बताया – हमने 6 नाबालिगों का रेस्क्यू किया है. इसमें 4 लड़के और 2 लड़कियां शामिल हैं. ये सभी रिंपू बागान के गंदे और बदबूदार केबिन जैसे कमरों में बंद थे. ये ‘वेश्यालय’ बर्नार्ड एन मारक और उसके सहयोगियों की मदद से ‘देह व्यापार’ के इरादे से चलाया जा रहा था.

ये भी पढ़ें -: नेशनल अवॉर्ड में विवेक अग्निहोत्री की फिल्म द कश्मीर फाइल्स को नहीं मिला स्थान तो भड़कते हुवे कह दी ये बात…

उन्होंने आगे बताया, रेड के दौरान हमने 27 गाड़ियां, 8 दोपहिया, करीब 400 शराब की बोतलें, और 500 कंडोम, धनुष और तीर बरामद किए हैं. पुलिस ने बताया कि फार्महाउस में करीब 30 छोट-छोटे कमरे थे. वहीं, पुलिस ने ये भी कहा कि जब्त हुए सामान के आधार पर ‘घृणित गतिविधियों’ में शामिल होने के आरोप में 73 लोगों को गिरफ्तार किया गया है.

पुलिस को शक है कि ये वही जगह है, जहां फरवरी में एक लड़की का यौन उत्पीड़न किया गया था. पुलिस ने उस वक्त इस संबंध में मामला भी दर्ज किया था. बाद में पीड़िता के रिश्तेदारों ने उसे रिंपू बागान से ही ढूंढा था. पुलिस के मुताबिक, उस वक्त पता चला था कि एक हफ्ते के अंदर उस नाबालिग का कई बार यौन उत्पीड़न किया गया था. उस वक्त इस मामले में IPC की धारा 366A (नाबालिग लड़की की खरीदफरोख्त), 376 (रेप) और POCSO एक्ट के तहत मामला दर्ज किया गया था. उस वक्त पीड़िता ने कोर्ट को बताया था कि आरोपी उसे और उसकी एक दोस्त को रिंपू बागान ले गया था. वहां उसने एक कमरा बुक किया और कई बार दोनों का उत्पीड़न किया.

ये भी पढ़ें -: गोरखपुर मुख्य विकास अधिकारी के गेट पर बुजुर्ग ने पढ़ी नमाज, बताई ये वजह…

अधिकारी ने बताया कि इस मामले के अलावा कई बार मौखिक रुप से लोगों ने फार्महाउस को लेकर शिकायत की थी. तुरा कस्बे के लोगों का कहना था कि रिंपू बागान में अवैध गतिविधियां चल रही हैं. इन शिकायतों के आधार पर ही ये ऑपरेशन चलाया गया. पुलिस ने बताया कि रेड के दौरान कई युवक और युवतियां शराब पीते हुए आपत्तिजनक स्थिति में मिले थे. उन सभी 68 लोगों को गिरफ्तार कर लिया गया है. इसके अलावा, फार्महाउस के मैनेजर, केयरटेकर और तीन अन्य स्टाफ को भी गिरफ्तार किया गया है.

पुलिस ने बताया कि IPC की संबंधित धाराओं और अनैतिक तस्करी (रोकथाम) अधिनियम, 1956 के तहत मामला दर्ज किया गया है. पुलिस के मुताबिक, उन्होंने मारक से भी जांच में सहयोग करने को कहा था. और तुरंत शिलॉन्ग सदर पुलिस स्टेशन में सरेंडर करने को कहा है, लेकिन वो गिरफ्तारी से बच रहा है.

ये भी पढ़ें -: देश के बैंकों का सबसे बड़ा कर्जदार है दुनिया में चौथे नंबर का अमीर अडानी समूह

ये भी पढ़ें -: 54 साल पहले चुराई थी साइकिल अब 92 की उम्र में हुआ गिरफ्तार,इतने का ईनाम था घोषित


आर्टिकल को शेयर ज़रूर करें :-