Politics

रोहिंग्या को घर देने का ऐलान: BJP समर्थक बोले- CAA-NRC सिर्फ चुनावी स्टंट था, सरकार ने भी…

20220817 140659 min
आर्टिकल को शेयर ज़रूर करें :-

दिल्ली में रह रहे रोहिंग्याओं को घर देने के लिए सरकार ने पहल तेज कर दी है। केंद्रीय मंत्री हरदीप सिंह पुरी ने जानकारी देते हुए कहा है कि भारत ने हमेशा उन लोगों का स्वागत किया है जिन्होंने देश में शरण मांगी है। इसके साथ ही जानकारी सामने आई कि 1100 रोहिंग्याओं को घर देने का फैसला भी ले लिया गया है। केंद्र सरकार में आवास और शहरी मामलों के मंत्री पूरी ने ट्वीट कर यह जानकारी दी तो लोग सरकार पर तंज कसने लगे।

केंद्रीय मंत्री ने बताया, ‘एक ऐतिहासिक फैसले में सभी रोहिंग्या शरणार्थियों को दिल्ली के बक्करवाला इलाके में ईडब्ल्यूएस फ्लैटों में शिफ्ट कर दिया जाएगा। उन्हें मूलभूत सुविधाएं, यूएनएचसीआर आईडी और चौबीसों घंटे संरक्षण प्रदान किया जाएगा।’ केंद्रीय मंत्री के इस ट्वीट के सामने आते ही विपक्ष के कई नेता सरकार पर तंज कसने लगे, साथ ही भाजपा के समर्थक भी इस फैसले पर सवाल उठाने लगे।

ये भी पढ़ें -: लाल सिंह चड्ढा’ की असफलता पर आमिर खान ने उठाया बड़ा क़दम, पढ़ें विस्तार से…

राष्ट्र मंच के ट्विटर हैंडल ने लिखा गया, ‘CAA और NRC सांसद में पास करना और उसपर 2 साल से कोई कानून ना बनाना पूरी तरह से एक वोट बैंक था, ये बातें केंद्र सरकार ने भी मान ली हैं। केंद्र सरकार को धन्यवाद बड़ा दिल दिखाने के लिए पर बेचारे 2 रुपये वाले ट्रोल का क्या ? रो रो कर बुरा हाल हो रहा होगा..! इस ट्वीट को पूर्व भाजपा नेता और राष्ट्रपति पद के लिए उम्मीदवार रहे यशवंत सिन्हा ने रिट्वीट किया है।

भाजपा नेता कपिल मिश्रा ने लिखा, ‘कृपया करके रोहिंग्या से पहले कश्मीरी पंडितों और अफगानिस्तान से आए हिंदू सिखों को फ्लैट्स और पुलिस सुरक्षा दिलवा दीजिए सर, पाकिस्तान से आए हिंदू शरणार्थियों को वर्षों से झुग्गियों में बिना बिजली रहना पड़ रहा हैं। इस अद्भुत शरणार्थी नीति का लाभ उन तक नहीं पहुंच पाया है। आप नेता नरेश बालियान ने कश्मीरी पंडितों के प्रदर्शन वाले वीडियो को शेयर कर लिखा कि आप लोग प्रदर्शन करते रहें। मोदी सरकार अभी रोहिंग्या को 250 नये फ्लैट देने में व्यस्त है। आप लोग मरते रहिए। वोट तो आपके ही नाम पर मिलेगा। भाजपाइयों से बड़ा दोग्लापल मिलना मुश्किल है।

ये भी पढ़ें -: शिवमोगा तनाव पर BJP नेता की धमकी- हिन्दू समाज एकजुट हो गए तो वे जिंदा नहीं बचेंगे…

विजय पटेल नाम के यूजर ने लिखा कि रोहिंग्या को ये फायदे चुनिंदा तरीके से क्यों दिए जा रहे हैं? हिंदू शरणार्थियों की स्थिति बहुत खराब है। उनके पास सरकार की ओर से कोई बुनियादी सुविधा नहीं है। वे एक वन क्षेत्र में रह रहे हैं जहां आपको हर जगह सांप मिल जाएंगे।

फिल्ममेकर अशोक पंडित ने लिखा कि सर यह एक भूल है। इसका खामियाजा भारत को बाद में भुगतना पड़ेगा। हम उन्हें किससे बचा रहे हैं? कश्मीरी पंडित जो अपने ही देश में शरणार्थी हैं, जम्मू में आज भी दयनीय स्थिति में हैं। कृपया कश्मीर में जगती और कश्मीरी पंडितों की कॉलोनियों में जाकर हालात को देखें। पत्रकार मीनाक्षी ने लिखा, ‘आदरणीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी व गृह मंत्री अमित जी, आपने तो कहा था कि NRC लाकर रोहिंग्या व बांग्लादेशी घुसपैठियों को देश से बाहर करोगे लेकिन इसके उलट आपके मंत्री रोहिंग्याओं का स्वागत कर रहे हैं। आखिर क्यों?’

ये भी पढ़ें -: श्रीकांत त्यागी को नहीं मिली राहत, कोर्ट ने जमानत फिर खारिज की अर्जी

ये भी पढ़ें -: ‘रावण से फोन पर बात हुई’, पंडित धीरेंद्र कृष्ण शास्त्री ने सुनाई कथा तो ट्विटर पर हुई खिंचाई

ये भी पढ़ें -: उल्टा फहरा दिया तिरंगा, BJP नेता पर राष्ट्रीय ध्वज के अपमान का केस दर्ज


आर्टिकल को शेयर ज़रूर करें :-