India

रेलवे ने दिया बड़ा झटका: अब इतने साल तक के बच्चे का भी लगेगा फुल टिकट

20220817 121715 min
आर्टिकल को शेयर ज़रूर करें :-

शहर के रहने वाले मयंक परिवार के साथ गुजरात के टूर पर निकले। उनको 13 अगस्त को राजकोट से सोमनाथ जाना था। ओखा-सोमनाथ एक्सप्रेस की एसी फर्स्ट में उन्होंने रिजर्वेशन कराया। चार यात्रियों में पहला नाम अपने एक वर्ष के बेटे का भरा। रेलवे के सिस्टम ने कम उम्र होने के बावजूद आवेदन पर आपत्ति नहीं की। एक वर्ष के छोटे बच्चे को आम यात्रियों की तरह ही पूरी सीट आवंटित करते हुए पूरा किराया ले लिया गया।

यदि आप भी मयंक की तरह अपने परिवार के साथ यात्रा करने वाले हैं और साथ में एक से चार वर्ष तक की उम्र के बच्चे हैं तो रिजर्वेशन फार्म संभलकर भरें। रेलवे ने गुपचुप तरीके से उन छोटे बच्चों के रिजर्वेशन की बुकिंग शुरू कर दी है जो अब तक निश्शुल्क यात्रा करते थे।

ये भी पढ़ें -: बिलिकिस बानो के परिवार ने 11 दोषियों की रिहाई पर जताई हैरानी- हमें इस बारे में नहीं बताया गया…

पिछले दिनों लखनऊ मेल की एसी थर्ड बोगी में बेबी बर्थ तैयार करने के बाद अब रेलवे ने चार साल से कम उम्र के बच्चों का भी टिकट बनाकर उनको सीट देने की व्यवस्था लागू कर दी है। अब तक केवल पांच से 11 वर्ष की उम्र के बच्चों के टिकट रेल आरक्षण केंद्र के काउंटरों और आइआरसीटीसी की वेबसाइट पर बनते थे।

पांच से 11 वर्ष की उम्र के बच्चों का टिकट बनाते समय यह विकल्प देना होता है कि पूरी बर्थ लेंगे या फिर नहीं। बर्थ लेने पर ही पांच से 11 वर्ष की उम्र के बच्चों का पूरा किराया पड़ता है। जबकि बर्थ न लेने पर किराया आधा ही देना होता है।

ये भी पढ़ें -: ‘लाल सिंह चड्ढा’ की असफलता पर आमिर खान ने उठाया बड़ा क़दम, पढ़ें विस्तार से…

अब एक से चार वर्ष की उम्र के बच्चों के लिए भी रेलवे ने टिकट बुकिंग शुरू कर दी है। पैसेंजर रिजर्वेशन सिस्टम ने एक से चार वर्ष तक की उम्र के बच्चों के नाम भरने के बाद बर्थ न लेने का कोई विकल्प ही नहीं रखा है। कम उम्र के बावजूद सिस्टम कोई आपत्ति नहीं करता है। ऐसे में अप्लीकेशन फार्म में नाम भरते ही पूरा किराया लेकर रेलवे एक से चार साल की उम्र तक के बच्चों का भी टिकट जारी कर दे रहा है।

ये भी पढ़ें -: शिवमोगा तनाव पर BJP नेता की धमकी- हिन्दू समाज एकजुट हो गए तो वे जिंदा नहीं बचेंगे…

ये भी पढ़ें -: श्रीकांत त्यागी को नहीं मिली राहत, कोर्ट ने जमानत फिर खारिज की अर्जी

ये भी पढ़ें -: ‘रावण से फोन पर बात हुई’, पंडित धीरेंद्र कृष्ण शास्त्री ने सुनाई कथा तो ट्विटर पर हुई खिंचाई


आर्टिकल को शेयर ज़रूर करें :-