Politics

रेप की FIR दर्ज करने के आदेश के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट पहुंचे शाहनवाज़ हुसैन, कही ये बात…

20220818 142605 min
आर्टिकल को शेयर ज़रूर करें :-

बीजेपी के वरिष्ठ नेता शाहनवाज हुसैन ने अपने खिलाफ बलात्कार का केस दर्ज करने के आदेश को सुप्रीम कोर्ट में चुनौती दी है. सुप्रीम कोर्ट ने मामले पर अगले हफ्ते सुनवाई की बात कही है. बुधवार को दिल्ली हाई कोर्ट ने 2018 के एक मामले में दिल्ली पुलिस को एफआईआर दर्ज करने और 3 महीने में जांच पूरी करने का आदेश दिया था.

दिल्ली हाई कोर्ट की जस्टिस आशा मेनन की बेंच ने पुलिस को मामले में एफआईआर दर्ज न करने के लिए आड़े हाथों लिया था. हाई कोर्ट ने पूर्व केंद्रीय मंत्री शाहनवाज हुसैन की याचिका खारिज करते हुए 2018 में आए निचली अदालत के आदेश को बरकरार रखा था.

ये भी पढ़ें -: सुब्रमण्‍यम स्‍वामी बोले- पार्टी में कोई चुनाव नहीं, मोदी की मंजूरी से मनोनीत होते हैं सदस्य

हुसैन ने हाई कोर्ट में दलील दी थी कि पुलिस ने प्राथमिक जांच में महिला की तरफ से लगाए गए आरोप को झूठा और निराधार पाया था. लेकिन निचली अदालत के जज ने बिना कोई कारण बताए एफआईआर दर्ज करने का आदेश दे दिया. लेकिन हाई कोर्ट ने इस दलील को अस्वीकार कर दिया.

जस्टिस मेनन ने अपने आदेश में लिखा है कि संज्ञेय और गंभीर प्रकृति के अपराध की जानकारी मिलने पर एफआईआर दर्ज करना पुलिस की ज़िम्मेदारी थी. लेकिन इसका पालन नहीं किया गया.

ये भी पढ़ें -: रोहिंग्या मामले में हरदीप पुरी पर बरसे BJP के पूर्व सांसद, मोदी से की कैबिनेट से बाहर करने की मांग औऱ…

हाई कोर्ट के आदेश के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट पहुंचे शाहनवाज़ ने कहा है कि वह कई दशक से सार्वजनिक जीवन में हैं. उन्होंने अलग-अलग पदों पर रहते हुए बहुत सम्मान अर्जित किया है. जो मामला प्राथमिक जांच में ही झूठा पाया गया, उसमें अगर एफआईआर दर्ज होती है तो यह उनकी छवि को नुकसान पहुंचाएगा.

ये भी पढ़ें -: दोषियों की रिहाई पर बिलकिस बानो ने बयां किया अपना दर्द, बोली- उठ गया न्याय व्यवस्था से विश्वास

ये भी पढ़ें -: अग्निवीर की तर्ज पर बैंकों में भी होगी भर्ती, कॉन्ट्रेक्ट पर रखे जाएंगे कर्मचारी

ये भी पढ़ें -: दिल्ली हाईकोर्ट का आदेश : BJP नेता शाहनवाज हुसैन पर रेप का केस चलेगा, जानें पूरा मामला…


आर्टिकल को शेयर ज़रूर करें :-