India

रिपोर्टर भवानी सिंह के घर पहुंची राजस्थान पुलिस, NEWS 18 बोला- प्रेस फ्रीडम पर हमला

20220823 145138 min
आर्टिकल को शेयर ज़रूर करें :-

एंकर अमन चोपड़ा केस में अब राजस्थान पुलिस ने राजस्थान ब्यूरो चीफ़ भवानी सिंह को टारगेट करना शुरू कर दिया है. अभी तक इस केस में FIR में भवानी सिंह का ना तो नाम है, ना ही किसी ने उनकी शिकायत की है, इसके बावजूद डूंगरपुर पुलिस बिना किसी वारंट और ना ही किसी नोटिस के सोमवार को उनके घर सुबह-सुबह जा पहुंची. न तो कोई नोटिस दिया गया और न ही ये बताया गया कि भवानी सिंह के घर क्यों आई है.

ये एक डिबेट शो था जिसका संबंध ना राजस्थान ब्यूरो चीफ़ भवानी से था ना ब्यूरो के किसी अन्य व्यक्ति से लेकिन क्योंकि न्यूज़ 18 इंडिया प्रमुखता से राजस्थान की खबर प्रमुखता से दिखाता रहा है. न्यूज़18 इंडिया लगातार राजस्थान के मुद्दे दिखाता रहा है इसलिए इसलिए भवानी सिंह को जबरन परेशान करने की कोशिश की जा रही है. ये कोशिश न्यूज़ 18 इंडिया को खबरें दिखाने से रोकने की है.

ये भी पढ़ें -: गौतम अडानी ने मुकेश अंबानी को छोड़ा पीछे, मुकेश अंबानी से 1.5 गुना हुई संपत्ति

भवानी सिंह, राजस्थान के ब्यूरो चीफ हैं. न ही उनका नाम एफआईआर में है और न ही उनके खिलाफ किसी ने शिकायत की है. बावजूद इसके डूंगरपुर पुलिस आज सुबह-सुबह बिना किसी वारंट के उनके घर जा पहुंची. पुलिस से बार-बार पूछा गया लेकिन कोई जवाब नहीं दिया गया.

न्यूज़ 18 इंडिया को खबरों को प्रमुखता से दिखा रहा है, राजस्थान के दर्शकों की हम पहली पसंद बन रहे हैं, ऐसे में सवाल है कि क्या हमें खबरें दिखाने से रोकने की कोशिश की जा रही है.

ये भी पढ़ें -: पाकिस्तान से आया हिंदू शरणार्थी कर रहा था जासूसी, राजस्थान इंटेलिजेंस ने दिल्ली में पकड़ा

भवानी सिंह के जयपुर स्थित आवास पर जांच अधिकारी सुरेंद्र सिंह आज अन्य पुलिसकर्मियों के साथ पहुंचे. न्यूज़18 इंडिया लगातार राजस्थान के मुद्दे दिखाता रहा है इसलिए इसलिए भवानी सिंह को जबरन परेशान करने की कोशिश की जा रही है. गहलोत सरकार मीडिया की आवाज दबाने का प्रयास कर रही है.

ये भी पढ़ें -: किसानों के धरने पर बोले केंद्रीय मंत्री अजय मिश्रा टेनी- दो कौड़ी का आदमी है राकेश टिकैत

ये भी पढ़ें -: अब प्राइवेट सिक्योरिटी गार्ड्स के हवाले होने वाली हैं एयरपोर्ट्स की सुरक्षा, जानें पूरा मामला…

ये भी पढ़ें -: JNU की वीसी बोली- कोई देवता ब्राह्मण नहीं, शिव दलित या आदिवासी


आर्टिकल को शेयर ज़रूर करें :-