India

राजीव गांधी हत्याकांड की दोषी नलिनी बोली- प्रियंका गांधी फरिश्ता हैं, जेल मैं उन्होंने…

20221113 224421 min
आर्टिकल को शेयर ज़रूर करें :-

पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी हत्याकांड की दोषी नलिनी श्रीहरन ने प्रियंका गांधी वाड्रा को फरिश्ता बताया है. उन्होंने कहा, ‘मेरी उनसे जेल में भावुक मुलाकात हुई थी. वह बहुत दयावान हैं. उन्होंने खुद ही मेरा सम्मान किया. यह बहुत बड़ी बात थी क्योंकि हमारे साथ जेल में अच्छा व्यवहार नहीं किया जाता था.

नलिनी श्रीहरन ने कहा, ‘हमें अधिकारियों के सामने बैठने तक की मनाही थी. हमें खड़े होकर बात करनी पड़ती थी, लेकिन जब प्रियंका आईं तो उन्होंने मुझे अपने पास बैठाया. यह मेरे लिए अलग अनुभव था. प्रियंका ने अपने पिता की हत्या के बारे में पूछा और भावुक होकर रो पड़ीं.

जेल से रिहा होने के बाद नलिनी श्रीहरण ने ये बातें एनडीटीवी को दिए इंटरव्यू में कही हैं. इसमें उन्होंने कहा कि पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी की हत्या में उनकी कोई भूमिका नहीं थी. वह जेल इसलिए गईं क्योंकि उनके पति के दोस्त की उनसे जान-पहचान थी. नलिनी कहती हैं, ‘मैं जानती हूं मैं दोषी नहीं हूं, लेकिन मेरा मन और मेरी अंतरआत्मा जानती है कि उस दिन क्या हुआ था.

ये भी पढ़ें -: रिटायरमेंट के बाद राज्यसभा सीट पर बोले पूर्व CJI ललित, कॉलेजियम सिस्टम पर भी रखी अपनी बात

मुझ पर इसलिए आरोप लगे क्योंकि हत्याकांड का षड्यंत्र रचने वाले समूह का मैं हिस्सा थी. जिन्होंने साजिश रची वह मेरे पति के दोस्त थे. मैं अपने आप में ही रहती थी. मेरी उनसे बात भी नहीं होती थी. बस, जरूरत पर मैं उनकी मदद कर देती थी. जैसे उनके साथ मंदिर जाना, बाजार जाना या कहीं भी जाना हो मैं जाती थी. इसके अलावा मेरा उनसे कोई निजी संबंध नहीं है. मैं तो उनके परिवारों को भी नहीं जानती.

नलिनी ने कहा, ‘साल 2001 में सजा में हुए बदलाव से पहले ही मैं सोच चुकी थी कि मुझे किसी भी वक्त फांसी दी जा सकती है. मैं इसके लिए सात बार तैयारी कर चुकी थी, क्योंकि सात बार मेरे लिए ब्लैक वॉरंट जारी हुआ था.’ नलिनी ने इस इंटरव्यू में अपनी बेटी हरीथ्रा से मुलाकात का भी जिक्र किया. नलिनी की बेटी वर्ष 1992 में जेल में ही पैदा हुई थी. उसके बाद उसकी परवरिश बाहर हुई. आज वह लंदन में डॉक्टर है. साल 2019 में उसकी शादी हुई थी. शादी के लिए नलिनी को एक महीने की पेरोल मिली थी.

नलिनी ने कहा, ‘वह मुझे पूरी तरह भूल चुकी थी. मैंने ही उसे जन्म दिया था और जब वह दो साल की हुई तो मुझसे बिछड़ गई. बाहर परवरिश होने की वजह से वह भूल चुकी है कि मैं कौन हूं. अब हम रिश्तों को दोबारा मजबूत करने की कोशिश कर रहे हैं. हम दोनों के लिए यह मुश्किल भरा समय है. हम दोनों परिपक्व हैं, चीजों को समझ सकते हैं, लेकिन वह अभी युवा है. वह नहीं समझ सकेगी कि क्या हो रहा है. इसी वजह से अभी वह जिंदगी का संघर्ष कर रही है. यह मेरी बेटी के लिए वाकई बहुत मुश्किल है.

ये भी पढ़ें -: पाकिस्तान की हार पर बोले शोएब अख्तर तो मोहम्मद शमी ने लिए मज़े

ये भी पढ़ें -: गुजरात में 18 गांव के लोगों ने किया चुनाव का बहिष्कार, किया ये ऐलान…


आर्टिकल को शेयर ज़रूर करें :-