रवीश कुमार को र‍िकॉर्ड‍िंंग के दौरान म‍िली थी NDTV में अडानी की एंट्री की खबर, ऐसा था रिएक्शन…

रवीश कुमार को र‍िकॉर्ड‍िंंग के दौरान म‍िली थी NDTV में अडानी की एंट्री की खबर, ऐसा था रिएक्शन…
आर्टिकल को शेयर ज़रूर करें :-

NDTV में अडानी की एंट्री के बाद एनडीटीवी इंड‍िया (NDTV India) से इस्‍तीफा दे चुके वरिष्ठ पत्रकार रवीश कुमार (Ravish Kumar) ने एक यूट्यूब चैनल पर इंटरव्‍यू द‍िया है। इसमें उन्‍होंने बताया है क‍ि जब एनडीटीवी के अडानी का हो जाने की खबर उनको म‍िली तो उनकी प्रत‍िक्रि‍या क्‍या थी?

रवीश कुमार ने इंटरव्यू के दौरान बताया कि जब उन्हें जानकारी मिली कि एनडीटीवी में गौतम अडानी की एंट्री हो गयी है तो वह उस समय एक वीडियो रिकॉर्ड कर रहे थे। रवीश कुमार ने कहा,”मैं यह नहीं कह रहा हूं कि मुझे टीवी छोड़ने के बाद कोई दिक्क्त नहीं हुई है। जब पहली बार जब सुना तो मैं रिकॉर्डिंग कर रहा था। खूब ढेर सारे फ़ोन आये थे, मैंने देखा कि अडानी ने कोई प्रेस – कॉन्फ्रेंस की है। मुझे पहले से ही पता था कि ब‍िसात बिछाई जा रही है लेकिन खबर सुनने के बाद मुझे झटका लगा था। ये सब सुनकर बैठ गया। कोरोना के बाद थोड़ी मेरी तबीयत ख़राब रहती है….रिकॉर्डिंग के बाद मेरी सांसे फूलने लगती थी। मेरे कैमरापर्सन को लगा मेरी तबीयत खराब हो गयी है। उन्‍होंने मुझसे कहा क‍ि अगर तबीयत सही नहीं है तो र‍िकॉर्ड‍िंंग रोक देते हैं। पर मैंने कहा- नहीं, रिकॉर्ड‍िंग करेंगे। थोड़ी देर के लिए काम रुका लेकिन मैंने रेकॉर्डिंग की।

इंटरव्‍यू ले रहे अजीत अंजुम ने रवीश कुमार से पूछा कि सेठ ने पूरी तरह से एनडीटीवी को अपने शिकंजे में नहीं लिया है, उससे पहले ही आपने विदाई ले ली? इसके जवाब में रवीश ने कहा,”छुरी एक बार में नहीं चलायी जाती है, बड़े लोग सेब को नफासत से छील-छील कर खाते हैं। वह अभी सेब को छीलकर खा रहे हैं।” रवीश कुमार ने कहा कि वह यह सब पिछले कई महीनों से देख रहे थे। उन्‍होंने यह भी बताया क‍ि वह काफी पहले से ही खुद को ऑफ‍िस से ड‍िटैच करने लगे थे और ऑफ‍िस जाना बंद कर‍ द‍िया था। हालांक‍ि, इस्‍तीफा देने से पहले वह ऑफ‍िस गए थे और लगभग पूरा दफ्तर घूमा था। हालांक‍ि, उस द‍िन उन्‍होंने इस्‍तीफा नहीं द‍िया था, लेक‍िन देने का फैसला जरूर कर ल‍िया था।

ये भी पढ़ें -: लियोन मेसी की कहानी: पिता करते थे फैक्ट्री में मजदूरी, मां करती थी सफाई का काम, पढ़ें विस्तार से…

एक सवाल के जवाब में रवीश ने कहा क‍ि उन्‍होंने अपने शो प्राइम टाइम के जर‍िए मोदी सरकार की ज‍िन खाम‍ियों को द‍िखाया था, 2023 का साल उन सबको र‍िकॉल करने और उन पर सवाल पूछने का साल था। लेक‍िन, इससे पहले उनका एनडीटीवी से र‍िश्‍ता ही नहीं रहा। बता दें क‍ि 2024 में लोकसभा चुनाव होना है। इसी के मद्देनजर रवीश ने इस बात का ज‍िक्र क‍िया।

जानकारी के लिए बता दें कि 29 नवंबर 2022 को NDTV के मालिक और संस्थापक प्रणय रॉय और उनकी पत्नी राधिका रॉय ने आरआरपीआर होल्डिंग प्राइवेट लिमिटेड (RRPRH) के निदेशक मंडल से इस्तीफा दे दिया था। इसके अगले दिन रवीश कुमार ने भी समूह संपादक के अपने पद से इस्तीफ़ा देते हुए एनडीटीवी इंड‍िया से खुद को अलग कर ल‍िया था। रवीश ने यहां 27 साल नौकरी की। वह बता चुके हैं क‍ि उनकी शुरुआत एनडीटीवी में च‍िट्ठी छांटने के काम से हुई थी और उन्‍होंने समूह संपादक तक का सफर तय क‍िया। रवीश कुमार ने बताया क‍ि वह ब‍िना काम के जीना सीख रहे हैं। इस्‍तीफे के बाद सोशल मीड‍िया के जर‍िए उन्‍होंने बताया था क‍ि उनका ठ‍िकाना अब यूट्यूब पर उनका चैनल होगा।

अजीत अंजुम के यूट्यूब चैनल पर रवीश कुमार के इस इंटरव्‍यू के एक वीड‍ियो को तीन द‍िन में ही करीब 35 लाख लोगों ने देखा। करीब डेढ़ घंटे के एक और वीड‍ियो को एक द‍िन में ही करीब 15 लाख व्‍यूज म‍िल गए। इस इंटरव्‍यू पर लोग तरह-तरह के कमेंट कर रहे हैं।

ये भी पढ़ें -: मेसी ने 5 बड़े रिकार्ड को अपने नाम दर्ज करते हुए पहना No-1 फुटबॉलर का ताज

ये भी पढ़ें -: नशे में पुलिसवाले का वीडियों वायरल, बोला- असली क्षत्रिय, मुक्का मार दूंगा, बोल नहीं पाओगे


आर्टिकल को शेयर ज़रूर करें :-