India

रघुराम राजन बोले- मोदी सरकार उसी को सही मानती है जो उसकी वाहवाह करते हैं

20220731 225801 min
आर्टिकल को शेयर ज़रूर करें :-

Raghuram Rajan Opinion On Economy: रिजर्व बैंक के पूर्व गवर्नर रघुराम राजन ने कहा है कि भारतीय अर्थव्यवस्था दुनिया की दूसरी अर्थव्यवस्थाओं से ज्यादा मजबूत है, लेकिन रोजगार के अवसर नहीं पैदा करने से अगले दस सालों में दिक्कतें बढ़ सकती हैं। जिस दर से महंगाई बढ़ रही है, उससे संकट गहरा सकता है। कहा- “हम आराम नहीं कर सकते हैं। हमें और करने की जरूरत है। अपने में कुछ और सुधार करने होंगे। मोदी सरकार उन्हीं को सही मानती है, जो उसकी वाहवाह करते हैं, बाकी सब गलत हैं।

एनडीटीवी को दिए एक इंटरव्यू में उन्होंने कहा कि वैश्विक अर्थव्यवस्था संकट से गुजर रही है। कोविड की वजह से वैश्विक अर्थव्यवस्था काफी प्रभावित हुई है। हम एक गरीब देश हैं। पिछले कुछ वर्षों में जिस तरह की नौकरियों की जरूरत बढ़ी है, उसके लिए विकास अपर्याप्त रहा है। पूर्व गवर्नर रघुराम राजन ने कहा कि हमें लोगों के स्किल बढ़ाने और शिक्षा के क्षेत्र में और तेजी लानी होगी। अगले 10 वर्षों में जो युवा स्नातक होकर निकलेंगे, उनको स्किल बेस शिक्षा देनी होगी, तभी नौकरियां बढ़ सकेंगी।

ये भी पढ़ें -: जंतर-मंतर पर धरने पर बैठे पीएम मोदी के भाई प्रह्लाद मोदी, जानिए पूरा मामला

रघुराम राजन ने कहा लोकतंत्र में संवाद बहुत जरूरी है। पिछले कुछ वर्षों में सरकार ने व्यापक सलाह के बिना कई फैसले लिए- जैसे डीमोनेटाइजेशन, तीन कृषि कानून आदि, जिससे लोगों में नाराजगी बढ़ी और विरोध हुआ। कहा कि लोकतंत्र में यह तब काम करता है जब आप संवाद करते हैं। संवाद एक अंतहीन सिलसिला है, जो चलता रहना चाहिए।

पिछले महीनों में मुद्रास्फीति प्रमुख मुद्दों में से एक रही है, और पिछले दो दिनों में संसद में बहस में सरकार ने घोषणा की कि यह कोविड और यूक्रेन-रूस युद्ध जैसे बाहरी कारकों की वजह से है। लेकिन ऐसा नहीं है। हाल ही में केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने अर्थव्यवस्था के प्रमुख पैरामीटर के रूप में विकास का हवाला देते हुए कहा था कि मौजूदा खुदरा मुद्रास्फीति 7 प्रतिशत है और इसकी तुलना यूपीए शासन के दौरान चार साल के लिए 9 से अधिक प्रतिशत के साथ की गई है। सुश्री सीतारमण ने भारत के आर्थिक प्रदर्शन के बारे में रघुराम राजन की हालिया टिप्पणियों का भी उल्लेख किया था।

ये भी पढ़ें -: कंगना रनौत बोली- आमिर खान ने खुद शुरू करवाया है ‘लाल सिंह चड्ढा’ के बायकॉट का विवाद

रघुराम राजन ने कहा कि ‘RBI ने भारत में विदेशी मुद्रा भंडार बढ़ाने, भारत को पाकिस्तान और श्रीलंका जैसे पड़ोसी देशों की समस्याओं से बचाने के लिए अच्छा काम किया है। उधर, जरूरी सामानों की बढ़ती कीमतों और महंगाई के मुद्दे पर मंगलवार को राज्य सभा में हुई चर्चा के दौरान राष्ट्रीय जनता दल के सांसद मनोज झा ने कहा कि गरीबों की स्थिति में कोई सुधार नहीं हो रहा है। उन्होंने इस पर चिंता जताते हुए सरकार पर महंगाई को बढ़ावा देने का आरोप लगाया।

उन्होंने दिल्ली में रहने वाले नैनसुक लाल नाम के एक सुरक्षाकर्मी का हवाला देते हुए कहा कि वह 12 हजार रुपए हर महीने पाता है और उसी में पत्नी और दो बच्चों के साथ जिंदगी गुजार रहा है। कहा कि वह चार हजार रुपए किराया, दो हजार रुपए बच्चों की ट्यूशन फीस, 12 सौ रुपए गैस सिलेंडर और तीन हजार रुपए खाने में खर्च करता है। यानी 10,200 रुपए खर्च करने के बाद उसके पास कुछ भी नहीं बचता है। स्वास्थ्य और दूसरे खर्चों के लिए शायद ही वह कुछ बचा पाता हो। उन्होंने कहा कि नैनसुक लाल जैसे लोग हर शहर में हैं। नौकरियां नहीं होने, आय नहीं बढ़ने से युवाओं में आक्रोश है। कहा कि जॉब नहीं मिलने से बिहार अकुशल युवाओं का केंद्र बनता जा रहा है।

ये भी पढ़ें -: मनोज तिवारी ने बिना हेलमेट निकाली बाइक रैली, ट्रोल हुवे तो बोले- मैं चालान भर दूंगा, लोग बोले…

ये भी पढ़ें -: कभी संघ मुख्यालय पर तिरंगा फहराने वालों के खिलाफ RSS ने कर दिया था केस, जानें पूरा मामला…


आर्टिकल को शेयर ज़रूर करें :-