Politics

योगी के मंत्री ने इस्‍तीफे में लिखा- दलित होने के कारण मेरी नहीं सुनते अफसर…पढ़िए विस्तार से…

20220720 125758 min
आर्टिकल को शेयर ज़रूर करें :-

योगी सरकार में जलशक्ति राज्‍यमंत्री दिनेश खटीक (Yogi Minister Dinesh Khatik) ने काम का बंटवारा ना होने से नाराज होकर अपने पद से इस्‍तीफा दे दिया है। केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह को लिखी चिट्ठी में उन्‍होंने अपने विभाग के अफसरों पर तमाम तरह के आरोप लगाए हैं। इसकी कॉपी उन्‍होंने सीएम और राजभवन को भी भेजी है। हालांकि सरकार और पार्टी संगठन के स्‍तर पर इसकी पुष्टि नहीं की गई है। पत्र में दिनेश खटीक ने लिखा है कि जलशक्ति विभाग में दलित समाज का राज्य मंत्री होने के कारण उनके किसी भी आदेश पर कोई कार्यवाही नहीं की जाती है। न ही उन्‍हें सूचना दी जाती है कि विभाग में कौन-कौन सी योजनाएं चल रही हैं और उन पर क्या कार्यवाही हो रही है।

उन्‍होंने आरोप लगाया कि उत्तर प्रदेश सरकार के अफसर दलितों को अपमान कर रहे हैं। उन्‍होंने सिंचाई विभाग के प्रमुख सचिव अनिल गर्ग को एक मामले को लेकर फोन किया पर उन्‍होंने बात सुने बगैर फोन काट दिया। वह दलित जाति के मंत्री हैं, इसलिए विभाग में उनके साथ बहुत ज्यादा भेदभाव किया जा रहा है। यहां पढ़िए मंत्री दिनेश खटीक की चिट्ठी का मजमून:

ये भी पढ़ें -: उद्धव ठाकरे के करीबी रहे इस पूर्व मंत्री ने छोड़ा साथ, थामा एकनाथ शिंदे का हाथ, पढ़ें विस्तार से

माननीय, आदरणीय गृह मंत्री भारत सरकार नई दिल्ली

सादर अवगत कराना है कि आदरणीय प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी और राष्ट्रीय अध्यक्ष श्री नड्डा जी एवं श्री अमित शाह जी के अथक परिश्रम एवं कुशल नेतृत्व में दलितों और पिछड़ों को साथ लेकर चलने के कारण आज भाजपा सरकार का गठन हुआ है। इसी क्रम में दलित समाज से जुड़े होने के कारण मुझे भी एक ईमानदार एवं स्वच्छ छवि वाले मुख्य मंत्री श्री योगी आदित्यनाथ जी के नेतृत्व में जल शक्ति विभाग में राज्य मंत्री नियुक्त किया गया है जिससे पूरा दलित समाज माजरा सरकार के प्रति पूरी तरह से उत्साहित एवं समर्पित है।

ये भी पढ़ें -: नूपुर शर्मा को अगली सुनवाई तक सुप्रीम कोर्ट से राहत, कोर्ट ने कही ये बात…

परन्तु पहल शक्ति विभाग में दलित समाज का राज्य मंत्री होने के कारण मेरे किसी भी आदेश पर कोई कार्यवाही नहीं की जाती है और न ही मुझे किसी की सूचना दी जाती है न ही विभाग में कौन-कौन सी योजनाएं वर्तमान में संचालित है तथा उस पर क्या कार्यवाही हो रही है इत्यादि कोई सूचना अधिकारियों द्वारा नहीं दी जाती है जिसके कारण राज्य मंत्री को विभाग के बारे में कोई ठोस जानकारी नहीं हो पाती है।

ये भी पढ़ें -: लुलु मॉल में नमाज पढ़ने वाले लोगों की हुवी पहचान, पुलिस ने 4 लोगों को पकड़ा

ये भी पढ़ें -: शुद्धिकरण के लिए लुलु मॉल पहुंचे महंत परमहंस दास, पुलिस ने हिरासत में लिया

ये भी पढ़ें -: उद्धव ठाकरे बोले- मुर्गे लड़ा रही है BJP, एक मर जाएगा तो दूसरे को मारकर वो शिवसेना खत्म कर देगी


आर्टिकल को शेयर ज़रूर करें :-