Politics

मोहम्मद आरिफ खान बोले- जो शरीयत में विश्वास करते हैं, वह उस देश में चले जाएं जहां यह लागू है

20220629 224834 min
आर्टिकल को शेयर ज़रूर करें :-

उदयपुर में टेलर की हत्या किए जाने के हंगामे के बीच केरल के राज्यपाल आरिफ मोहम्मद खान ने मदरसों को लेकर भी कई तरह के सवाल उठाए हैं। इसके साथ ही उन्होंने ‘सर तन से जुदा’ वाले नारे पर भड़कते हुए कहा है कि जो लोग शरिया कानून लागू करना चाहते हैं, वह उस देश में चले जाएं जहां यह कानून चल रहा है। केरल के गवर्नर का यह वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है।

आरिफ मोहम्मद खान ने कही यह बात : केरल के गवर्नर ने एक मीडिया चैनल से बातचीत करते हुए कहा कि अगर आप बदलाव की बात करते हैं तो समय के साथ बदलाव जरूरी है। अगर आप शरीयत की बात करते हैं, जो इस देश का कानून नहीं है। उसके कारण आप किसी भी मासूम की गर्दन काट दे रहे हैं। उन्होंने आगे कहा कि फिर शरीयत की इस बात पर भी गौर कीजिए जिसमें लिखा गया है, जिस देश में शरीयत लागू नहीं है। वहां पर मत रहिए।

ये भी पढ़ें -: पटना में बुलडोजर एक्शन से बबाल, पथराव में कई पुलिसकर्मी घायल

लोगों की प्रतिक्रियाएं : आरिफ मोहम्मद खान के वायरल वीडियो पर सोशल मीडिया यूजर्स भी कई तरह के रिएक्शन देते नजर आ रहे हैं। रामस्वरूप नाम के एक यूजर ने कमेंट किया कि शरीयत में विश्वास और हिंदू के प्रति नफरत में भी फर्क है। अमित प्रताप सिंह ने लिखा, ‘इससे अच्छा सजेशन नहीं हो सकता है।’ सरफराज नवाज नाम के एक यूजर सवाल करते हैं कि किस किताब में ऐसा लिखा हुआ है, कृपया उसका नाम बताइए?

20220629 224834 min

ये भी पढ़ें -: जिस आतंकी को पुलिस ने जम्मू में दबोचा वो निकला बीजेपी आईटी सेल का पूर्व प्रमुख

इमरान नाम के एक यूजर ने आरिफ मोहम्मद खान पर तंज करते हुए कमेंट किया कि यह उप राष्ट्रपति की कुर्सी पर बैठना चाहते हैं इसलिए इस तरह के बयान दे रहे हैं। अनिल सिंह नाम के एक यूजर ने लिखा, ‘ अगर इस तरह का बयान कोई हिंदू नेता दे देता तो अवार्ड गैंग देशव्यापी आंदोलन छेड़ देता परंतु सवाल का जवाब नहीं देता।

जानकारी के लिए बता दें कि अभी हाल में ही एक टीवी चैनल से बात कर रहे आरिफ मोहम्मद खान से एंकर ने सवाल किया कि अगर बीजेपी से निलंबित प्रवक्ता नूपुर शर्मा पैगंबर मोहम्मद के लिए आपत्तिजनक टिप्पणी ना करती तो पूरे देश में इस तरह का माहौल न बनता? इसके जवाब में उन्होंने कहा था कि भारत का मतलब नूपुर शर्मा, आप और हम नहीं हैं। भारत की संस्कृति का इतिहास 5000 साल पुराना है। भारत में विभिन्न प्रकार के लोग होने के बावजूद भी सभी लोग एक हैं।

ये भी पढ़ें -: हाई कोर्ट में याचिका- जेल से रिहा हुआ गुरमीत राम रहीम नकली, असली डेरा प्रमुख हुआ किडनैप

ये भी पढ़ें -: अपनी ही सरकार पर बरसे BJP विधायक, बुलडोजर की कार्रवाई को बताया दमनकारी


आर्टिकल को शेयर ज़रूर करें :-