Politics

भाई को टिकट देने के विरोध में बंदना ने दिया BJP महिला मोर्चा महामंत्री पद से इस्तीफा

20221020 081019 min
आर्टिकल को शेयर ज़रूर करें :-

धर्मपुर क्षेत्र में इस बार कैबिनेट मंत्री महेंद्र सिंह ने अपने बेटे रजत ठाकुर को चुनावी मैदान में उतारा है। इससे उनकी बेटी भाजपा महिला मोर्चा महामंत्री बंदना गुलेरिया प्रदेश नाराज हो गई हैं। बंदना ने अपने पद से इस्तीफा भी दे दिया है। सूत्रों के अनुसार कांग्रेस के शीर्ष नेतृत्व के बुलावे पर बंदना गुलेरिया दिल्ली रवाना हो गई हैं। इसके साथ ही धर्मपुर भाजपा महिला मोरचा की 55 कार्यकर्ताओं ने भी इस्तीफा दे दिया है।

उधर, करसोग भाजपा में बगावत के सुर तेज हो गए हैं। विधायक समेत दो अन्य दावेदारों की टिकट को बदलने की मांग उठ गई है। कार्यकर्ताओं का आरोप है कि पैराशूट से उतारा गया उम्मीदवार मंजूर नहीं होगा। इसको लेकर देर शाम बैठक में मंथन किया गया

नालागढ़ से भाजपा से टिकट न मिलने से नाराज पूर्व विधायक केएल ठाकुर ने बगावत कर दी है। केएल ठाकुर ने आजाद उम्मीदवार के तौर पर चुनाव लड़ने की घोषणा की है। वे 21 अक्तूबर को नामांकन दाखिल करेंगे। अपने घर पर समर्थकों के साथ बैठक में उन्होंने यह फैसला लिया। भाजपा ने नालागढ़ से लखविंद्र राणा को प्रत्याशी घोषित किया है।

ये भी पढ़ें -: कथावाचक अनिरुद्धाचार्य पर लटकी गिरफ्तारी की तलवार, माता सीता और द्रौपदी पर की थी अभद्र टिप्पणी

धर्मपुर क्षेत्र में इस बार कैबिनेट मंत्री महेंद्र सिंह ने अपने बेटे रजत ठाकुर को चुनावी मैदान में उतारा है। इससे उनकी बेटी भाजपा महिला मोर्चा महामंत्री बंदना गुलेरिया प्रदेश नाराज हो गई हैं। बंदना ने अपने पद से इस्तीफा भी दे दिया है। सुबह उन्होंने सोशल मीडिया पर एक पोस्ट डालकर खूब बवाल खड़ा कर दिया है।

उन्होंने पोस्ट में लिखा है कि दिल्ली से टिकट तो ले आते हैं, मगर वोट कहां से लाएंगे। वहीं, बाद में एक और पोस्ट डाली और कहा कि हर बार परिवारवाद में बेटियों की बलि क्यों दी जाती है और बाद में इन्होंने पोस्ट पर ही इस्तीफा दे दिया है। उनके साथ ही 55 अन्य महिलाओं ने भी इस्तीफा दे दिया है। इस पोस्ट के बाद अपने ही भाई और पिता के प्रति उनकी नाराजगी जगजाहिर हुई है।

उनके इस पोस्ट के बाद राजनीतिक गलियारों में कई तरह की चर्चाएं होने लगी हैं। हालांकि बताया यह भी जा रहा है कि पिता महेंद्र सिंह ठाकुर और भाई रजत ठाकुर उन्हें मनाने में जुट गए हैं। बताया जा रहा है कि बंदना गुलेरिया भी टिकट के लिए दावेदारी जता रही थीं, मगर उन्हें टिकट नहीं मिला है, जिससे वह अपने पिता और भाई से खासी नाराज हैं

ये भी पढ़ें -: रे’प के दोषी गुरमीत राम रहीम के सत्संग में शामिल हुए हरियाणा बीजेपी के कई नेता

ये भी पढ़ें -: जय शाह के बयान से बौखलाया पाकिस्तान, बोला- हिस्सों में बंट जाएंगे देश…


आर्टिकल को शेयर ज़रूर करें :-