बदरुद्दीन अजमल के बयान पर बोले गिरिराज सिंह- बदरुद्दीन हमें नसीहत न दें, हमारे पूर्वज…

बदरुद्दीन अजमल के बयान पर बोले गिरिराज सिंह- बदरुद्दीन हमें नसीहत न दें, हमारे पूर्वज…
आर्टिकल को शेयर ज़रूर करें :-

Giriraj Singh On Badruddin Ajmal: बेगूसराय के सांसद और केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह (Giriraj Singh) ने एक बार फिर सनातन धर्म की वकालत करते हुए AIUDF अध्यक्ष मौलाना बदरुद्दीन अजमल पर निशाना साधा है. उन्होंने बदरुद्दीन के उस पर बयान पर पलटवार किया है, जिसमें एआईयूडीएफ अध्यक्ष ने कहा था कि वो (हिंदू) 40 साल से पहले गैरकानूनी तरीके से 2-3 बीवियां रखते थे. गिरिराज सिंह ने कहा कि बदरुद्दीन और ओवैसी जैसे लोग हमें नसीहत ना दें.

उन्होंने आगे कहा, “सनातन धर्म में सदैव प्रेम की पूजा होती रही है और इसी का प्रतीक है कि हमारे पूर्वज राजा सागर के साठ हजार पुत्र थे तो वहीं कृष्ण की 16,000 प्रेमिका और पत्नियां थीं.” केंद्रीय मंत्री ने आगे कहा, “आज भारत में वही मुसलमान हैं जिन्हें मुगल काल में मुगलों ने सम्मान नहीं दिया था.

ये भी पढ़ें -: सलमान खान पर एक्स गर्लफ्रेंड सोमी अली के आरोप, बोली- सिगरेट से जलाया, शारीरिक शोषण किया औऱ…

ये भी पढ़ें -: शिवराज ने की ‘एक व्यक्ति, एक शादी’ की बात लेकिन मंच पर ही थे 4 पत्नियों वाले मंत्री

बता दें कि असम के करीमगंज में एक कार्यक्रम में पहुंचे AIUDF अध्यक्ष और बदरुद्दीन अजमल (Maulana Badruddin Ajmal) ने कहा, “वो (हिंदू) 40 साल से पहले गैरकानूनी तरीके से 2-3 बीवियां रखते हैं. 40 साल के बाद उनमें बच्चा पैदा करने की क्षमता कहां रहती है. उनको मुसलमानों के फॉर्मूले को अपनाकर अपने बच्चों की 18-20 साल की उम्र में शादी करा देनी चाहिए.

केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह ने राहुल गांधी के एक बयान पर पलटवार किया. उन्होंने कहा, “वह पहले सनातन धर्म की संस्कृति को समझें, हम तो दुर्गा, काली, सीता सहित सभी देवी-देवताओं की एक समान पूजा करते हैं और उन्हें माता का स्वरूप मानते हैं.

दरअसल, राहुल गांधी ने खुले मंच से कहा था कि RSS में सिर्फ ‘जय श्री राम’ बोला जाता है बल्कि ‘सियाराम’ जैसे शब्द आरएसएस और बीजेपी वालों के मुंह से नहीं निकलते क्योंकि बीजेपी में महिलाओं का सम्मान नहीं है.

ये भी पढ़ें -: परेश रावल के खिलाफ कलकत्ता के थाने में शिकायत, जानें क्या लगा है आरोप…

ये भी पढ़ें -: जयवीर शेरगिल बने राष्ट्रीय प्रवक्ता तो अमरिंदर सिंह और सुनील जाखड़ को मिली ये जिम्मेदारी…


आर्टिकल को शेयर ज़रूर करें :-