Sports

फील्डिंग के दौरान गिरकर चोटिल हुवे शाहीन अफरीदी, यही से पलटा मैच का रुख

20221113 224325 min
आर्टिकल को शेयर ज़रूर करें :-

इंग्लैंड ने 30 साल पुराना बदला चुकता करते हुए रविवार यानी 13 नवंबर को पाकिस्तान को 5 विकेट से हराकर दूसरी बार T20 वर्ल्ड कप के खिताब पर कब्जा कर लिया। इंग्लैंड को 30 साल पहले 1992 में इमरान खान की पाकिस्तानी टीम से मेलबर्न में ही वनडे वर्ल्ड कप के फाइनल में 22 रन से हार का सामना करना पड़ा था लेकिन इंग्लैंड ने इस बार बाबर आजम की टीम को वो इतिहास दोहराने का मौका नहीं दिया।

इंग्लैंड ने पाकिस्तान को आठ विकेट पर 137 रन पर रोकने के बाद 19 ओवर में पांच विकेट पर 138 रन बनाकर खिताबी जीत हासिल कर ली। बेन स्टोक्स ने 49 गेंदों पर पांच चौकों और एक छक्के की मदद से नाबाद 52 रन की मैच विजयी पारी खेली। इस तरह इंग्लिश टीम 2010 के बाद एक बार फिर से T20 वर्ल्ड कप को अपने नाम करने में कामयाब रही।

पाकिस्तान ने भले ही स्कोरबोर्ड पर 137 रनों का स्कोर खड़ा किया लेकिन इंग्लिश टीम को टारगेट तक आसानी से पहुंचने नहीं दिया। एक समय इंग्लैंड 138 रनों के लक्ष्य की ओर आसानी से पहुंचती नजर आ रही थी लेकिन शादाब खान और नसीम शाह ने 11 से 14 ओवर के बीच किफायती गेंदबाजी करते हुए गेंद और रनों के अंतर को बढ़ा दिया। इस दौरान हैरी ब्रूक का कैच लेने के चलते शाहीन अफरीदी चोटिल हो गए और मैदान से बाहर चले गए। यही लम्हा पाकिस्तान की हार की सबसे बड़ी वजहों में से एक बना।

ये भी पढ़ें -: पाकिस्तान की हार पर बोले शोएब अख्तर तो मोहम्मद शमी ने लिए मज़े

दरअसल, 13वें ओवर में शादाब खान की तीसरी गेंद को हैरी ब्रूक ने लांग ऑफ के ऊपर से मारने का प्रयास लेकिन गेंद सीधे लांग ऑफ के फील्डर शाहीन अफरीदी के हाथों में चली गई। इस कैच को लेने के चक्कर में शाहीन अपने बाएं पैर को चोटिल कर बैठे और फिर लंगड़ाते हुए पवेलियन की तरफ चले गए। इसके बाद शाहीन 16वें ओवर में गेंदबाजी करने आए लेकिन एक गेंद से ज्यादा नहीं कर सके और वापस पवेलियन चले गए। शाहीन सिर्फ 2.1 ओवर ही फेंक सके। इसके बाद अफरीदी की जगह गेंदबाजी करने आए इफ्तिखार की पांच गेंदों पर इंग्लैंड ने 13 रन लूट लिए।

अगर शाहीन अफरीदी अपना स्पेल पूरा करने में कामयाब हो जाते तो शायद मैच का रिजल्ट पाकिस्तान के हक में जा सकता था क्योंकि वह बेहद खतरनाक गेंदबाजी कर रहे थे। अफरीदी ने 2.1 ओवर में 6 की इकॉनमी रेट से 13 रन देकर एक विकेट झटका।

इफ्तिखार के ओवर में 13 रन बटोरने के बाद इंग्लैंड को लक्ष्य तक पहुंचने में ज्यादा दिक्कत नहीं आई और उसने बेन स्टोक्स के नाबाद अर्धशतक के दम पर 19 ओवर में फाइनल जीतने के साथ ही खिताब पर कब्जा जमा लिया।

ये भी पढ़ें -: फाइनल मैं हार पर बोले कप्तान बाबर आजम- दुर्भाग्य से शाहीन…

ये भी पढ़ें -: सचिन तेंदुलकर ने किया भारतीय खिलाड़ियों का बचाव, कही ये बात…, पढ़ें विस्तार से…


आर्टिकल को शेयर ज़रूर करें :-