Entertainment

पनीर-बिस्किट पर लोग दे रहे GST, ध्यान भटकाने के लिए चलाया जाता है बायकॉट ट्रेंड: अनुराग कश्यप

20220816 121759 min
आर्टिकल को शेयर ज़रूर करें :-

अनुराग कश्यप की गिनती बॉलावुड के बेहतरीन फिल्म निर्देशकों में होती है। उन्होंने अब तक बनाई गई अपनी फिल्मों से भारतीय सिनेमा में महत्वपूर्ण योगदान दिया है। फिलहाल वह अपनी अपकमिंग फिल्म ‘दोबारा’ के प्रचार में व्यस्त हैं। निर्देशक हर मुद्दे पर बेबाकी से अपनी राय रखने के लिए जाने जाते हैं। हाल ही में एक इंटरव्यू के दौरान फिल्ममेकर ने हिंदी फिल्मों के न चलने पर काफी अलग बात कही है, उन्होंने इसके बारे में अच्छी तरीके से समझाया भी है।

अनुराग कश्यप ने बॉलीवुड नाउ को दिए इंटरव्यू के दौरान कहा कि जितना बताया जा रहा है स्थिति उतनी गंभीर नहीं है। फिल्म निर्माता केवल मीडिया में बनाई जा रही कहानी से डर महसूस कर रहे हैं। स्थिति उतनी गंभीर नहीं है जितनी कि अनुमान लगाया जा रहा है। मुझे नहीं लगता कि हिंदी फिल्मों में कुछ गलत हो रहा है या कमी हो रही है। कुछ इसे खरीद लेते हैं, दूसरे नहीं। हम हर तरह की फिल्में बना रहे हैं और ‘बड़ी ब्लॉकबस्टर’ फिल्मों के बारे में धारणा बनाई जा रही है जो हिंदी फिल्म से नहीं आई हैं।

ये भी पढ़ें -: रुबिका लियाकत बोली- PM मोदी ने बगैर टेलीप्रॉन्पटर दिया 82 मिनट का भाषण, हुवी ट्रोल

फिल्ममेकर ने आगे कहा कि बॉलीवुड ही नहीं दूसरी इंडस्ट्री में भी फिल्में नहीं चल रही हैं। उनके बारे में लोगों को पता नहीं है। हिंदी में दो फिल्में चली हैं, तमिल में भी दो ही फिल्में चलीं, तेलुगू और कन्नड़ में एक-एक फिल्में सफल रही हैं।

आप बताइए कि कौन सी साउथ की फिल्म पिछले शुक्रवार को रिलीज हुई। उससे पहले शुक्रवार को कौन सी फिल्म रिलीज हुई। नहीं पता ना? क्योंकि वहां भी फिल्में काम नहीं कर रही हैं। समस्या ये है कि लोगों के पास पैसे नहीं है। पनीर पर तो जीएसटी दे रहे है। खाने के लिए जीएसटी दे रहे है। उससे ध्यान हटाने के लिए ट्रेंड होता है, बायकॉट ये, बायकॉट वो।

ये भी पढ़ें -: फिल्मों के बायकॉट पर बोले अक्षय कुमार- ऐसी शरारत से देश की अर्थव्यवस्था पर पड़ता है असर

20220816 121759 min

लोग फिल्म तब देखने जाना चाहते हैं जब उन्हें लगता है कि यह फिल्म सबको पसंद आ जाए। या फिर उस फिल्म का सालों से इंतजार कर रहे हैं। केजीएफ 2 का सालों से इंतजार हो रहा था। आरआरआर का बाहुबली के बाद से इंतजार हो रहा था। भूल भुलैया सीक्वल है तो उसका सालों से इंतजार हो रहा था। संजय लीला भंसाली की फिल्म लोग देखने गए क्योंकि उसे माउथ पब्लिसिटी मिली।

ये भी पढ़ें -: PM मोदी ने भाषण में किया सावरकर का जिक्र, लोग गोडसे का नाम लेकर मारने लगे ताना

ये भी पढ़ें -: सावरकर के पोस्टर को लेकर शिवमोगा में तनाव, पुलिस ने किया लाठीचार्ज, कई हिस्सों में कर्फ्यू


आर्टिकल को शेयर ज़रूर करें :-