India

पटना SSP का बयान- PFI में RSS की तरह दी जाती है ट्रेनिंग, भड़की BJP

20220714 213824 min
आर्टिकल को शेयर ज़रूर करें :-

बिहार के एक बड़े पुलिस अधिकारी ने इस्लामिक संगठन पॉपुलर फ्रंट ऑफ इंडिया (PFI) और हिंदूवादी संगठन राष्ट्रीय स्वयंसेवक (RSS) की तुलना कर नए विवाद को जन्म दे दिया है. ये अधिकारी हैं पटना एसएसपी (Patna SSP) मानवजीत सिंह ढिल्लो. पटना में पकड़े गए PFI के सदस्यों को लेकर गुरुवार 14 जुलाई को की गई एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में मानवजीत सिंह ढिल्लो ने कहा कि जिस तरह से RSS की शाखा होती है और स्वयंसेवकों को ट्रेनिंग दी जाती है, ठीक उसी तरह से PFI भी अपने लोगों को शारीरिक प्रशिक्षण और मार्शल आर्ट की ट्रेनिंग देता है.

एसएसपी के इस बयान पर बीजेपी ने तुरंत प्रतिक्रिया दी. उसने ढिल्लो के बयान का कड़ा विरोध जताते हुए उनको पद से हटाने की मांग की है. वहीं राज्य की मुख्य विपक्षी पार्टी RJD और HAM ने ढिल्लो के बयान का समर्थन किया है. इंडिया टुडे से जुड़े सुजीत झा की रिपोर्ट के मुताबिक, बीजेपी के प्रवक्ता अरविंद कुमार सिंह ने कहा, “पटना के SSP, PFI के प्रवक्ता की तरह बोल रहे हैं. उन्हें SSP के पद से हटा देना चाहिए.

ये भी पढ़ें -: रवि किशन ने गृह प्रवेश में कराया काम पर नही दिया पैसा, मजदूरों ने सीएम योगी से की शिकायत

वहीं बीजेपी विधायक हरीश भूषण ठाकुर ने कहा कि एसएसपी ढिल्लो का बयान उनके मानसिक दिवालियापन को दिखाता है और उन्हें तुरंत अपने बयान के लिए माफी मांगनी चाहिए. बीजेपी विधायक ने कहा कि अगर पुलिस अधिकारी माफी नहीं मांगते तो सरकार को उन्हें बर्खास्त कर देना चाहिए.

दूसरी तरफ, विपक्षी RJD ने एक ट्वीट में कहा, “पटना के वरीय पुलिस अधीक्षक ने संघ के मोडस ऑपरेंडी (काम करने का तरीका) के बारे में बिल्कुल सही कहा कि ये लोग शारीरिक प्रशिक्षण के नाम पर प्रोपेगैंडा और घृणा फैलाते हैं. और किसी क्षेत्र में पांव जमने पर दंगे, मॉब लिंचिंग और अन्य सामाजिक सौहार्द विरोधी गतिविधियों को अंजाम देते हैं. पटना के वरीय पुलिस अधीक्षक ने संघ की मोडस ऑपेरंडी के बारे में बिल्कुल सही कहा कि ये लोग शारीरिक प्रशिक्षण के नाम पर अपना प्रोपेगैंडा और घृणा फैलाते हैं!

ये भी पढ़ें -: इमरजेंसी के लिए इंदिरा गांधी बनीं कंगना का फर्स्ट लुक आउट, लोग कर रहे है तरह-तरह की बातें…

वहीं HAM के प्रवक्ता डॉक्टर दानिश रिजवान ने कहा कि जानबूझकर एसएसपी को विवाद में घसीटा जा रहा है. रिजवान ने कहा कि अगर इस्लामिक स्टेट की बात करना अपराध है, तो फिर हिंदू राष्ट्र की वकालत करना कहां से ठीक है? अगर इस्लामिक राष्ट्र की कल्पना करने वालों को जेल तो फिर हिंदू राष्ट्र की बात करने वालों को छूट क्यों?

इससे पहले पटना पुलिस ने टेरर मॉड्यूल केस में पांच लोगों को गिरफ्तार किया. पुलिस के मुताबिक, ये लोग एक खास समुदाय के लोगों को प्रशिक्षित कर रहे थे. इस मामले की जांच NIA ने भी शुरू कर दी है.

ये भी पढ़ें -: BJP सांसद रवि किशन पर लगा मजदूरों का पैसा हड़पने का आरोप, वीडियो जारी कर बोले- बस 2 लाख के लिए…

ये भी पढ़ें -: अब कुमार विश्वास को मिली कंगना रनौत वाली सिक्योरिटी, जानें वजह…

ये भी पढ़ें -: चीफ जस्टिस की ‍NIA को फटकार, कहा- लगता है आपको किसी आदमी के…


आर्टिकल को शेयर ज़रूर करें :-