India

दुष्कर्म का झूठा केस दर्ज कराने वाली महिला को दिल्ली HC ने सुनाई अनोखी सजा

20220802 180717 min
आर्टिकल को शेयर ज़रूर करें :-

एक व्यक्ति के खिलाफ दुष्कर्म की एफआइआर दर्ज कराने के बाद समझौते के आधार पर उसे रद करने की मांग को लेकर दायर याचिका पर दिल्ली हाई कोर्ट ने कहा कि यह कृत्य अनुचित और कानून का दुरुपयोग है।

न्यायमूर्ति जसमीत सिंह की पीठ ने कहा कि शिकायतकर्ता महिला ने गुमराह किया गया था, लेकिन अदालत में पेश किए समझौते में कुछ और ही तर्क दिया गया है। हाई कोर्ट की पीठ ने एफआइआर रद करने का आदेश देते हुए महिला को दो महीने के लिए हर दिन तीन घंटे के लिए दिव्यांग बच्चों के स्कूल में सेवा करने को कहा।

ये भी पढ़ें -: साध्वी प्राची बोली- जब तक 100 करोड़ हिन्दू शांत है, तब तक ही वे सुरक्षित है, भड़के लोगों ने कह दी ये बात…

साथ ही मामले में आरोपित को 50 पौधे लगाने का निर्देश दिया। पीठ ने कहा कि याचिकाकर्ता रोहिणी क्षेत्र के बागवानी विभाग से संपर्क करेगा और उनके द्वारा इंगित क्षेत्र में पौधे लगाएगा।

20220802 180717 min

ये भी पढ़ें -: BJP सांसद बोले- मोदी जी 80 करोड़ लोगों को दे रहे फ्री फंड का खाना, लोगों ने कर दिया ट्रोल

एफआइआर में महिला ने दावा किया था कि याचिकाकर्ता ने उसे कोल्ड डिंक पिलाई थी और उसके बेहोश होने के बाद उसके साथ दुष्कर्म किया। समझौता हलफनामे में कहा कि दोनों के बीच पैसे को लेकर विवाद था और इससे वह परेशान थी।

उसने कुछ लोगों की गलत सलाह और गुमराह करने पर याचिकाकर्ता के खिलाफ दुष्कर्म करने के आरोप में एफआइआर दर्ज करवाई थी। सुनवाई के दौरान पीठ ने कहा कि महिला का यह कृत्य अनुचित और कानून का दुरुपयोग है।

ये भी पढ़ें -: मध्य प्रदेश में शव वाहन नहीं मिला तो बाइक पर 80 किमी ले गए मां का शव

ये भी पढ़ें -: ‘हर हर शंभू’ गाने वाली फरमानी नाज बोली- बिना तलाक पति ने की दूसरी शादी, तब कोई कुछ नहीं बोला

ये भी पढ़ें -: योगी सरकार का बड़ा फैसला, 800 से अधिक सरकारी वकील बर्खास्त


आर्टिकल को शेयर ज़रूर करें :-