त्रिपुरा में बीजेपी के एक और विधायक का इस्तीफा, अब तक 7 विधायक दे चुके हैं इस्तीफा

त्रिपुरा में बीजेपी के एक और विधायक का इस्तीफा, अब तक 7 विधायक दे चुके हैं इस्तीफा
आर्टिकल को शेयर ज़रूर करें :-

Tripura BJP MLA Resgines: त्रिपुरा (Tripura) के एक और बीजेपी विधायक (BJP MLA) ने चुनाव से कुछ महीने पहले आज सुबह विधानसभा (Assembly) से इस्तीफा दे दिया। बीजेपी विधायक दीबा चंद्र हरंगखाल (BJP MLA Dibachandra Hrangkhawal) ने बुधवार (28 दिसंबर) की सुबह अपना इस्तीफा दे दिया। इस तरह से अब तक इस्तीफा दे कर जाने वाले बीजेपी के कुल विधायकों (BJP MLA’s) की संख्या 7 पहुंच गई है। बुधवार को त्रिपुरा विधानसभा (Tripura Assembly) के बीजेपी विधायक दीबा चंद्र हरंगखाल ने बताया कि उन्होंने व्यक्तिगत वजहों के चलते इस्तीफा दिया है। इस तरह से वो सत्ताधारी गठबंधन की ओर से इस्तीफा देने वालें सातवें विधायक हैं।

दीबा चंद्र हरंगखाल धलाई में करमचेरा के एक आदिवासी विधायक थे। इस्तीफा देने के बाद मीडिया से बातचीत करते हुए उन्होंने बताया कि आज मैंने विधायक के रूप में अपना इस्तीफा विधानसभा के सचिव को सौंप दिया है, क्योंकि अध्यक्ष रतन चक्रवर्ती मौजूद नहीं थे। मैंने व्यक्तिगत कारण से इस्तीफा दिया है।

हरंगखाल इसके पहले कांग्रेस के त्रिपुरा राज्य के अध्यक्ष थे वो साल 2018 में विधानसभा चुनावों से ठीक पहले बीजेपी में शामिल हुए थे। उन्होंने कहा कि मैंने अभी तक अपने अगले कदम का फैसला नहीं लिया है। उन्होंने ये भी कहा कि वो राजनीति में बने रहेंगे क्योंकि वो एक राजनीतिक शख्स हैं।

ये भी पढ़ें -: मैं चुनाव में आऊंगी… लेकिन यह नहीं कहूंगी कि लोधियों तुम बीजेपी को वोट करो : उमा भारती

दीबा चंद्र हरंगखाल के साथ राज्य कांग्रेस के सीनियर नेता आशीष कुमार साहा भी मौजूद थे। इसके पहले इस साल की शुरुआत में उन्होंने भी विधानसभा सदस्यता से इस्तीफा दे दिया था। इसके साथ ही इस साल बीजेपी के चार विधायक पार्टी छोड़ कर चले गए। साहा के अलावा, विधायक सुदीप रॉय बर्मन और बुरबो मोहन त्रिपुरा ने भी इस साल की शुरुआत में इस्तीफा दे दिया था, जबकि सूरमा विधानसभा क्षेत्र के विधायक आशीष दास को उनके कथित दुर्व्यवहार के लिए अयोग्य घोषित कर दिया गया था।

बीजेपी प्रवक्ता सुब्रत चक्रवर्ती ने न्यूज एजेंसी पीटीआई को बताया कि दीबा चंद्र हरंगखाल काफी लंबे समय से बीमार चल रहे थे। उन्होंने इस बात का भी दावा किया है कि आगामी विधानसभा चुनाव में पार्टी की संभावनाओं पर कोई असर नहीं पड़ेगा। त्रिपुरा की 60 सदस्यीय विधानसभा में बीजेपी के 34 विधायक हैं, जबकि उसकी सहयोगी आईपीएफटी के पांच विधायक हैं। विपक्षी कांग्रेस का एक विधायक और माकपा के 15 विधायक हैं, जबकि पांच सीटें खाली हैं।

ये भी पढ़ें -: यूपी पुलिस का कारनामा, दारोगा ने राइफल की नली में डाल दी गोली, DIG भी हंसने लगे, देखें Video

ये भी पढ़ें -: रोड शो में भगदड़ मचने पर बिना चप्पल ही स्कूटी पर भागीं भोजपुरी एक्ट्रेस अक्षरा सिंह, वीडियो हुवा वायरल


आर्टिकल को शेयर ज़रूर करें :-