जयंत चौधरी का BJP पर तंज- चीन के आक्रामक घुसपैठ को छोड़ो, फिल्म का बहिष्कार करो तो जल्द कृपा आएगी

जयंत चौधरी का BJP पर तंज- चीन के आक्रामक घुसपैठ को छोड़ो, फिल्म का बहिष्कार करो तो जल्द कृपा आएगी
आर्टिकल को शेयर ज़रूर करें :-

तवांग में भारतीय सेना और चीनी सेना (Indian-Chinese Army) के बीच हुई झड़प पर जमकर बयानबाजी हो रही है। इसी बीच शाहरुख खान (Shah Rukh Khan, Pathaan Film) की फिल्म पठान को लेकर विवाद खड़ा हो गया है। कुछ लोगों का कहना है कि सोशल मीडिया पर लोगों को चीन के साथ हुई झड़प पर, महंगाई पर, बेरोजगारी पर सरकार से सवाल पूछना चाहिए तो वहीं लोग फिल्मों का बहिष्कार करने को लेकर ट्वीट कर रहे हैं। ऐसा ही एक ट्वीट आरएलडी नेता जयंत चौधरी (Jayant Singh RLD) ने भी किया है।

RLD अध्यक्ष जयंत चौधरी (RLD President Jayant Chowdhary) ने ट्वीट कर लिखा है, “बेरोजगारी, आर्थिक तंगी, सामाजिक भेदभाव को भूलो, चीन के आक्रामक घुसपैठ को छोड़ो, फिल्म का बहिष्कार करो, जल्द कृपा आएगी।” जयंत चौधरी के इस ट्वीट पर सोशल मीडिया पर लोग अपनी प्रतिक्रियाएं दे रहे हैं।

पीस पार्टी के प्रवक्ता शादाब चौहान (Peace Party spokesperson Shadab Chauhan) ने जयंत चौधरी के ट्वीट पर लिखा कि बस कृपा यही रुकी है जैसे ही पठान फिल्म फ्लॉप होगी तुरंत देश की जीडीपी में चार चांद लगेंगे। शिक्षा, स्वास्थ्य, रोजगार जैसी तमाम समस्याएं समाप्त हो जाएंगी, किसान & मजदूर की आय 10 गुना हो जाएगी, आप समझिए यह देश के लिए कितना जरूरी है।

ये भी पढ़ें -: अब उलेमा बोर्ड ने किया पठान फिल्म का बायकॉट, कहा- इस्लाम का मजाक नहीं उड़ाने देंगे, लगाया ये आरोप…

एक यूजर ने लिखा कि पाकिस्तान, चीन, फ़िल्म बहिष्कार ये सब मुद्दे उत्तर प्रदेश निकाय चुनाव की फ़िल्म है क्योंकि बीजेपी को मुद्दों से ध्यान हटाना है और ये पार्टी इस खेल की खिलाडी है लेकिन जनता भी बाजीगरों का खेल अब समझने लगी है।

@rohitagarwal850 यूजर ने लिखा कि बहुत जरूरी मुद्दा है, देश की संस्कृति खतरे में है। अस्तित्व खतरे में है। वैसे आजकल फिल्म इंडस्ट्री वाले बहुत खुश हैं बिना पैसे के पब्लिसिटी हो रही है। @qmrchoudhary यूजर ने लिखा कि इन लोगों ने भारत का मजाक बना कर रख दिया है। जनता को बेवक़ूफ बना रहे हैं और जनता बन रही है। अगर देश में भाईचारा क़ायम हो गया तो इनका खात्मा हो जाएगा। @amant_chaudhary यूजर ने लिखा कि ये ही तो परेशानी है अन्धभक्तों की, ये वो ही देखते हैं जो इन्हें दिखाया जाता है इनका खुद का कोई मत नहीं है और ना ही इनके पास सोचने की क्षमता है।

@jittrending यूजर ने लिखा कि जिसको जिस बात की दिक्कत होगी वह उसी से लड़ेगा ना। आप बेरोजगार हो तो रोजगार खोजो, जिनको फ़िल्म से दिक्कत है वह उस पर अपना निर्णय लेंगे, रोते क्यो हो सब? @urksb252 यूजर ने लिखा कि पठान फिल्म का समर्थन करने वाले भी प्रचार में लगे हैं! यह भी हिन्दू विरोध का एक तरीका है। दूसरे को गलती को भी सराहो क्योंकि वो हिन्दू नहीं है। @PushprajDubey44 यूजर ने लिखा कि शाहरुख खान की फिल्म पठान को लेकर ये देश लंबे समय से प्रतीक्षा कर रहा है, फिल्म को देखने के लिए नहीं बल्कि औंधे मुंह पटकने के लिए।

ये भी पढ़ें -: पूर्व CBI चीफ ने दीपिका की बिकनी वाली फोटो डाली, लोग बोले- CBI में यही करते थे क्या?

ये भी पढ़ें -: विश्व हिंदू परिषद का बयान, बोले- शाहरुख खान माफी मांगें वरना ‘पठान’ को रिलीज़ नहीं होने देंगे


आर्टिकल को शेयर ज़रूर करें :-