Politics

गिरती करेंसी के बीच बोले RBI गवर्नर- रुपये में तेज उतार-चढ़ाव और अस्थिरता बर्दाश्त नहीं करेंगे

20220722 152227 min
आर्टिकल को शेयर ज़रूर करें :-

भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) के गवर्नर शक्तिकांत दास ने शुक्रवार को कहा कि विकसित अर्थव्यवस्थाओं और विकासशील देशों की मुद्राओं की तुलना में भारतीय रुपया अपेक्षाकृत मजबूत स्थिति में है. बता दें कि घरेलू मुद्रा कुछ दिन पहले ही 80 रुपये प्रति डॉलर के स्तर को पार कर गई थी.

आरबीआई गवर्नर ने कहा कि केंद्रीय बैंक रुपये में तेज उतार-चढ़ाव और अस्थिरता को बिलकुल भी बर्दाश्त नहीं करेगा. उन्होंने कहा कि आरबीआई के कदमों से रुपये के सुगम कारोबार में मदद मिली है. दास ने कहा कि भारतीय रिजर्व बैंक बाजार में अमेरिकी डॉलर की आपूर्ति कर रहा है और इस तरह बाजार में नकदी (तरलता) की पर्याप्त आपूर्ति सुनिश्चित कर रहा है.

ये भी पढ़ें -: ड्राइविंग लाइसेंस सस्पेंड करने पर पुलिस कमिश्नर को लगी फटकार, हाईकोर्ट ने कही ये बात…

उन्होंने यह भी स्पष्ट किया कि आरबीआई ने रुपये के किसी विशेष स्तर का लक्ष्य तय नहीं किया है. आरबीआई गवर्नर ने कहा कि विदेशी मुद्रा की अप्रतिबंधित उधारी से परेशान होने की जरूरत नहीं है. उन्होंने कहा कि बड़ी संख्या में ऐसे लेनदेन सार्वजनिक क्षेत्र की कंपनियां कर रही हैं और सरकार जरूरत पड़ने पर इसमें हस्तक्षेप कर सकती है और मदद भी दे सकती है.

दास ने कहा कि मुद्रास्फीति लक्ष्यीकरण के लिए 2016 में अपनाए गए मौजूदा ढांचे ने बहुत अच्छा काम किया है, उन्होंने जोर देकर कहा कि अर्थव्यवस्था और वित्तीय क्षेत्र के हित की खातिर यह जारी रहना चाहिए.

ये भी पढ़ें -: I&B मंत्रालय ने की कार्रवाई- 747 वेबसाइट और 94 Youtube चैनल बंद, जानें पूरा मामला…

अगर आज रुपये की कीमत को देखें तो विदेशी बाजारों में अमेरिकी डॉलर की मजबूती और कच्चे तेल की बढ़ती कीमतों की वजह से रुपया शुक्रवार को शुरुआती कारोबार में सात पैसे कमजोर होकर 79.92 रुपये प्रति डॉलर के भाव पर आया था लेकिन थोड़ी ही देर में यह 79.92 रुपये प्रति डॉलर पर आ गया. इस तरह एक दिन पहले की तुलना में रुपये में सात पैसे की कमजोरी आ गई.

ये भी पढ़ें -: अडानी समूह को 14000 करोड़ रुपये की जरूरत, SBI से मांगा लोन

ये भी पढ़ें -: भुट्टा खरीदते की मंत्री जी को दिखी महंगाई, बोले- 15 का एक?, भुट्टा तो यहां Free में मिलता है

ये भी पढ़ें -: OP राजभर को मिली Y कैटेगरी की सुरक्षा, क्या राष्ट्रपति चुनाव में BJP को सपोर्ट करने का इनाम?


आर्टिकल को शेयर ज़रूर करें :-