Politics

एकनाथ शिंदे बोले- शिवसेना विधायकों ने पार्टी से बगावत नहीं की, वो बस यही चाहते हैं कि…

20220622 133031 min
आर्टिकल को शेयर ज़रूर करें :-

Maharashtra Political Crisis: महाराष्ट्र के कैबिनेट मंत्री एकनाथ शिंदे, पार्टी से नाराज शिवसेना विधायकों के साथ चार्टर्ड फ्लाइट के जरिए सूरत से रवाना हो गए. फ्लाइट में चढ़ने से पहले एकनाथ शिंदे ने कहा कि शिवसेना के विधायकों ने पार्टी के खिलाफ बगावत नहीं की है, लेकिन उनकी एकमात्र इच्छा विपक्षी बीजेपी के साथ गठबंधन करना है.

सूरत एयरपोर्ट पर शिंदे ने कहा, “मैं और शिवसेना के विधायक चाहते हैं कि महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे बीजेपी के साथ गठबंधन में सरकार बनाएं, मैंने पार्टी नहीं छोड़ी है.” शिंदे ने कहा कि उन्होंने उद्धव ठाकरे के साथ बातचीत की और ‘जय महाराष्ट्र और गर्व से कहो हम हिंदू हैं’ के नारे लगाए.

ये भी पढ़ें -: ब्लैंक चेक शेयर कर DCP-SHO से कहा- जितना मर्जी पैसा भर लो, बस मेरी मदद करो

शिंदे ने कहा कि शिवसेना के विधायकों को पार्टी के संस्थापक दिवंगत बालासाहेब ठाकरे द्वारा निर्धारित विचारधारा पर पूरा भरोसा है. उन्होंने कहा है कि शिवसेना के विधायकों ने पार्टी के खिलाफ कोई बगावत नहीं की है. सीने में दर्द और बेचैनी की शिकायत के बाद मंगलवार को अस्पताल में भर्ती कराए गए शिवसेना विधायक नितिन देशमुख को स्पाइसजेट एयरलाइन के बोडिर्ंग काउंटर पर जाते हुए देखा गया.

सूत्रों के मुताबिक, बागी विधायकों की संख्या 37 पहुंच गई है. दो से तीन और विधायक बुधवार को सीधे गुवाहाटी पहुंच सकते हैं. शिवसेना के बागी विधायकों को पुलिस सुरक्षा घेरे में सूरत एयरपोर्ट तक ले गई. सभी औपचारिकताओं को पूरा करने के बाद, शिवसेना के बागी विधायक 200 यात्रियों की क्षमता वाले विमान में सवार हो गए. बुधवार सुबह चार बजे तक बोडिर्ंग की प्रक्रिया चल रही थी.

ये भी पढ़ें -: कर्नाटक में हिजाब गर्ल इलहाम ने पीयू की परीक्षा में किया टॉप

बीजेपी से शिंदे के साथ हुई बातचीत के आधार पर सूत्रों ने जानकारी दी कि शिंदे अपने गुट को असली शिव सेना बतायेंगे और राज्यपाल को पत्र सौंपेंगे . पत्र पर सभी समर्थक विधायकों से हस्ताक्षर करवाये जायेंगे. शिंदे की सहायता से बीजेपी विधानसभा अध्यक्ष अपना बनवायेगी.

इसके बाद उद्धव का इस्तीफ़ा मांगा जायेगा या फिर विश्वास मत साबित करने की मांग की जायेगी. बीजेपी का दावा है कि यदि विश्वासमत साबित करने की नौबत आती है तो कांग्रेस और एनसीपी के भी कुछ विधायक ठाकरे के विरोध में मतदान करेंगे.

ये भी पढ़ें -: बेटा BJP सांसद औऱ पिता विपक्ष के राष्ट्रपति उम्मीदवार, किसे देंगे वोट? जयंत सिन्हा ने दिया जवाब

ये भी पढ़ें -: सुप्रीम कोर्ट में बोली योगी सरकार- अवैध निर्माण गिराने की कार्रवाई का दंगे से संबंध नहीं


आर्टिकल को शेयर ज़रूर करें :-