Politics

इसे कहते हैं रिमोट कंट्रोल सरकार… प्रेस कांफ्रेंस में शिंदे को नोट लिखकर देते दिखे फडणवीस तो…

20220716 194706 min
आर्टिकल को शेयर ज़रूर करें :-

महाराष्ट्र में हुए कई दिन के सियासी ड्रामे के बाद एकनाथ शिंदे मुख्यमंत्री और देवेंद्र फडणवीस उप मुख्यमंत्री बने। जिसके बाद से बीजेपी पर महाराष्ट्र में रिमोट कंट्रोल सरकार चलाने के आरोप लग रहे हैं। कांग्रेस नेता अशोक बसोया ने ट्विटर पर एकनाथ शिंदे और देवेंद्र फडणवीस का एक वीडियो शेयर कर तंज कसते हुए लिखा कि इसे कहते हैं रिमोट कंट्रोल सरकार।

अशोक बसोया ने अपने ट्विटर अकाउंट पर सीएम एकनाथ शिंदे की प्रेस कांफ्रेंस का एक वीडियो शेयर किया है जिसमें उप मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस सीएम को नोट लिखकर दे रहे हैं। वीडियो में देख सकते हैं कि फडणवीस ने अपनी जेब से कलम निकालकर कुछ लिखते हैं और एकनाथ शिंदे की ओर बढ़ा देते हैं। वीडियो के साथ ही कांग्रेस नेता ने लिखा, “बोलेंगे मुख्यमंत्री क्या बोलना है यह बताएंगे उप मुख्यमंत्री इसे कहते हैं रिमोट कंट्रोल सरकार! आप भी देखें।

ये भी पढ़ें -: यशवंत सिन्हा का दावा- नीतीश कुमार ने एक भी बार मेरा फोन नहीं उठाया औऱ…

सोशल मीडिया पर वायरल हुए वीडियो: इससे पहले भी सोशल मीडिया पर सीएम और डिप्टी सीएम के कई वीडियो वायरल हुए थे। एक वीडियो में एकनाथ शिंदे और देवेंद्र फडणवीस एक प्रेस कांफ्रेंस को संबोधित कर रहे थे। इस दौरान एक मीडियाकर्मी के सवाल पर एकनाथ शिंदे बोलना शुरू करते हैं तो देवेंद्र फडणवीस उनके सामने से माइक हटा लेते हैं और खुद जवाब देने लगते हैं। वहीं दूसरे वायरल वीडियो में महाराष्ट्र विधानसभा में देवेंद्र फडणवीस अपनी बात रख रहे थे, इस दौरान एकनाथ शिंदे उनसे पूछते हैं कि क्या वह बोल सकते हैं। इस पर देवेंद्र फडणवीस इशारा करते हैं कि हां बोल लो।

ये भी पढ़ें -: पूर्व IAS सूर्य प्रताप सिंह का तंज- रुपये पर छपा शेर डॉलर को कब दांत दिखाएगा?

औरंगाबाद और उस्मानाबाद का नाम बदला: वहीं, दूसरी ओर शिंदे सरकार ने औरंगाबाद का नाम संभाजीनगर और उस्मानाबाद का नाम धाराशिव करने का फैसला किया है। इसके साथ ही नवी मुंबई हवाई अड्डे का नाम डीबी पाटिल करने के फैसले पर कैबिनेट ने मुहर लगाई है। मुख्यमंत्री शिंदे और उपमुख्यमंत्री फडणवीस ने कहा कि उद्धव ठाकरे ने अपनी आखिरी कैबिनेट बैठक में इन शहरों का नाम बदला था। हालांकि, उनका यह निर्णय अवैध था इसलिए एक बार फिर से दोनों शहरों और हवाई अड्डे का नाम बदला गया है।

शुक्रवार को सीएम शिंदे ने अपने समर्थक विधायक अब्दुल सत्तार की एक रैली को संबोधित करते हुए कहा, “मुझे विश्वास है कि ये सभी 50 विधायक चुनाव जीतेंगे। अगर इनमें से कोई भी हारता है, तो मैं राजनीति छोड़ दूंगा।

ये भी पढ़ें -: राष्ट्रपति चुनाव के लिए आम आदमी पार्टी ने लिया बड़ा फैसला, इस उम्मीदवार को देगी समर्थन

ये भी पढ़ें -: लखनऊ के Lulu मॉल के बाहर बवाल, हनुमान चालीसा पाठ के लिए पहुंचे 15 लोग हिरासत में


आर्टिकल को शेयर ज़रूर करें :-