India

आर्थिक आरक्षण को SC की मंजूरी, फैसले पर उदित राज ने दिया बड़ा बयान, पढ़ें…

20221107 141326 min
आर्टिकल को शेयर ज़रूर करें :-

EWS Reservation : सुप्रीम कोर्ट ने सामान्य वर्ग के आर्थिक रूप से कमजोर लोगों को 10 फीसदी आरक्षण के प्रावधान को बरकरार रखा है। अब देश में EWS आरक्षण जारी रहेगा। 5 जजों की बेंच में से 3 जजों ने संविधान के 103 वें संशोधन अधिनियम 2019 को सही माना है।

केंद्र सरकार ने संविधान में संशोधन कर सामान्य वर्ग के आर्थिक रूप से कमजोर लोगों के लिए 10 फीसदी आरक्षण का प्रावधान किया था। आरक्षण का प्रावधान करने वाले 103वें संविधान संशोधन को सुप्रीम कोर्ट में चुनौती दी गई थी।

5 जजों की बेंच में 3 जजों जस्टिस दिनेश माहेश्वरी, जस्टिस बेला त्रिवेदी और जस्टिस जेबी पारदीवाला ने EWS आरक्षण के समर्थन में फैसला सुनाया. जबकि चीफ जस्टिस यूयू ललित और जस्टिस रविंद्र भट्ट ने EWS आरक्षण पर अपनी असहमति जताई है।

ये भी पढ़ें -: Twitter एकाउंट्स सस्पेंड पर एलन मस्क का बड़ा ऐलान, ऐसे एकाउंट्स बिना वार्निंग सस्पेंड होंगे…

भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव सी टी रवि ने सुप्रीम कोर्ट के इस फैसले को मोदी सरकार के सामाजिक न्याय मिशन की जीत बताया है। वहीं कानून राज्य मंत्री एसपी सिंह बघेल ने इसे आर्थिक रूप से कमजोर बच्चों के चहरों पर मुस्कुराहट लाने वाला फैसला कहा है।

कांग्रेस नेता उदित राज ने सुप्रीम कोर्ट के इस फैसले के बाद अपनी प्रतिक्रिया सामने रखते हुए एक ट्वीट के जरिए संदेह जाहिर किया है, उन्होने अपने ट्वीट में लिखा – सुप्रीम कोर्ट जातिवादी है,अब भी कोई शक! EWS आरक्षण की बात आई तो कैसे पलटी मारी कि 50% की सीमा संवैधानिक बाध्यता नही है लेकिन जब भी SC/ST/OBC को आरक्षण देने की बात आती थी तो इंदिरा साहनी मामले में लगी 50% की सीमा का हवाला दिया जाता रहा।

बीजेपी से राज्य सभा सांसद एवं बिहार के पूर्व डिप्टी सीएम सुशील कुमार मोदी ने कहा कि आरजेडी ने संसद के दोनों सदनों में EWS आरक्षण का विरोध किया था अब सुप्रीम कोर्ट ने इस पर मुहर लगा दी है, अब तेजस्वी की पार्टी आरजेडी क्या मुहर दिखाएगी ?

ये भी पढ़ें -: फैन को मैदान में घुसकर रोहित शर्मा से मिलना पड़ा महंगा, लगा इतने लाख का जुर्माना…

ये भी पढ़ें -: सूर्यकुमार यादव के शॉट्स पर वीरेंद्र सहवाग ने दिया बड़ा बयान, पढ़ें विस्तार से…


आर्टिकल को शेयर ज़रूर करें :-