Politics

आपस में भिड़े उद्धव ठाकरे और एकनाथ शिंदे के समर्थक, विधायक पर गोली चलाने के आरोप

20220911 161822 min
आर्टिकल को शेयर ज़रूर करें :-

Uddhav Thackeray and Eknath Shinde: महाराष्ट्र में शिंदे बनाम ठाकरे की लड़ाई खत्म होने का नाम नहीं ले रही है. अब एकनाथ शिंदे और उद्धव ठाकरे के समर्थकों के बीच तीखी झड़प हुई है. मुंबई के प्रभादेवी इलाके में दोनों गुटों के कार्यकर्ता भिड़ गए. यहां तक कि ठाकरे गुट की तरफ से आरोप लगाया गया है कि, शिंदे गुट विधायक सदासर्वांकर ने दो गोली फायरिंग की.

ऐसे ही कई आरोप दूसरे पक्ष की तरफ से भी लगाए जा रहे हैं. इस मामले में पुलिस ने कार्रवाई शुरू कर दी है. इस मामले में 5 उद्धव ठाकरे गुट के कार्यकर्ताओं को गिरफ्तार किया गया है. जानकारी के मुताबिक शिंदे गुट के कार्यकर्ताओं ने वॉट्सऐप ग्रुप पर ठाकरे गुट को लेकर आपत्तिजनक बात लिखी, जिसके बाद यह दोनों गुट आपस में भिड़ गए.

ये भी पढ़ें -: ह्यूमन डेवलपमेंट से प्रेस फ्रीडम इंडेक्स तक, जानें कहां-कहां गिरी भारत की रैंकिंग

गणेश विसर्जन के वक्त भी दोनों गुटों में आरोप-प्रत्यारोप देखने को मिले. घटना कल देर रात की है. पुलिस ने फिलहाल मामला दर्ज कर कार्रवाई शुरू की है, ठाकरे गुट के कुछ कार्यकर्ताओं को पुलिस ने हिरासत में लिया है. बताया गया है कि मुंबई के प्रभादेवी इलाके में शिंदे और ठाकरे गुट के समर्थकों के बीच हुई मारपीट मामले में पुलिस ने 25 लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किया है. शिंदे गुट के महेश तेलवने की शिकायत के बाद पुलिस ने मामला दर्ज किया है.

हालांकि ठाकरे गुट की तरफ से आरोप लगाया जा रहा है कि पुलिस शिंदे गुट के लोगों के खिलाफ कार्रवाई नहीं कर रही है. हालांकि दादर पुलिस स्टेशन में ठाकरे गुट के सदा सर्वंकर समेत कुछ लोगों के खिलाफ भी शिकायत दर्ज कराई गई है. फायरिंग के आरोपों पर भी पुलिस जांच कर रही है.

ये भी पढ़ें -: सुप्रीम कोर्ट बोला- हिजाब की तुलना सिखों की पगड़ी और कृपाण से नहीं की जा सकती है

सदा सर्वंकर के पास लाइसेंसी पिस्टल है तो उसका रिकॉर्ड नजदीकी स्टेशन में होगा. पुलिस जांच करेगी जिनमें पिस्तौल और सरवंकर के पास कितने कारतूस हैं. पुलिस रिकार्ड में मिली जानकारी के अनुसार सदा सर्वंकर के पास उतने कारतूस होने जरूरी हैं.

इसके अलावा, पुलिस ने उस इलाके के सीसीटीवी फुटेज चेक करना शुरू कर दिया है. इस मामले में पुलिस का कहना है कि फायरिंग के आरोपों की सच्चाई की पुष्टि के लिए पर्याप्त सबूत और गवाह होना जरूरी है. जिन 5 कार्यकर्ताओं को अरेस्ट किया गया है उनमें – महेश सावंत, शैलेश माली, संजय भगत, विनायक देवरूखकर, प्रथमेश बिद्दू शामिल हैं.

ये भी पढ़ें -: कांग्रेस नेता का BJP पर पलटवार, बोले- निक्कर वाले केवल टी-शर्ट ही तो देखेंगे

ये भी पढ़ें -: प्रशांत किशोर का नीतीश कुमार पर तंज, बोले- 90 डिग्री पर झुककर PM मोदी को प्रणाम करते थे अब…

ये भी पढ़ें -: 3 परिवारों ने घरों पर लगाया बैनर- BJP विधायक कब्जा कर रहे हमारी जमीन, इसलिए पलायन को मजबूर…


आर्टिकल को शेयर ज़रूर करें :-