आचार्य प्रमोद कृष्णम के ट्वीट से राजस्थान मैं सियासी हलचल तेज, जानिए क्या कहा?

आचार्य प्रमोद कृष्णम के ट्वीट से राजस्थान मैं सियासी हलचल तेज, जानिए क्या कहा?
आर्टिकल को शेयर ज़रूर करें :-

Rajasthan News: हिमाचल और गुजरात के चुनाव के नतीजे लगभग जारी हो गए हैं, जिसके अनुसार गुजरात में बीजेपी और हिमाचल में कांग्रेस की सरकार बनने जा रही है. इस बीच कांग्रेस नेता प्रियंका गांधी के करीबी आचार्य प्रमोद कृष्णम ने एक ट्वीट किया है. आचार्य प्रमोद कृष्णम ने सोशल मीडिया पर लिखा कि “युवा नेता सचिन पायलट हिमाचल के ऑब्जर्वर थे और हमारे अनुभवी नेता अशोक गहलोत जी “गुजरात” के, आगे मुझे कुछ नहीं कहना.’ इस बात की खूब चर्चा हो रही है.

आचार्य प्रमोद कृष्णम लगातार सचिन पायलट और अशोक गहलोत पर बयान देते रहे हैं और इस बयान ने फिर से राजस्थान की सियासत में हलचल मचा दिया है. वहीं जहां आचार्य राजस्थान में मचे सियासी ‘कोल्ड वार’ के हल की बात करते थे अब उन्होंने इशारों-इशारों में कुछ और कह दिया है.

आचार्य प्रमोद कृष्णम ने 12 नवंबर को जयपुर में कहा था कि गुजरात और हिमाचल के चुनाव परिणाम से पहले ही राजस्थान में बदलाव हो जायगा. मगर अब तो परिणाम आ चुके हैं. उन्होंने कहा था कि फैसला लेने के लिए कांग्रेस आलाकमान ने मन बना लिया है. फैसला लेना उन्हें ही है. कब डिक्लेयर होगा यह सब जल्द साफ़ हो जाएगा. राजस्थान की जनता के हितों और मन की बात को भी समझने का प्रयास जारी है.

ये भी पढ़ें -: Shivpal Yadav in SP: शिवपाल यादव हुए सपा में शामिल, पार्टी का भी किया विलय

आचार्य ने यह भी बताया कि साल 2023 में फिर से कांग्रेस की सरकार कैसे बने इसके लिए भी अध्यक्ष से बातचीत और मंत्रणा करने की बात कही थी. आचार्य प्रमोद कृष्णम ने विधान सभा अध्यक्ष से जयपुर में 3 घंटे बातचीत की थी. उसके बाद यहां से जाते समय उन्होंने कहा था कि अलाकमान को इस मुलाकात की पूरी जानकारी दूंगा. विधान सभा अध्यक्ष डॉ. सीपी जोशी से मुलाकात को बेहतर बताया था.

कांग्रेस आलाकमान ने राजस्थान के लिए लगभग फैसला ले लिया है. बस सुनाना बाकी है. जल्द ही इस पर निर्णय सभी को सुनने को मिलेगा. तो क्या अब फिर एक बार उसी ओर आचार्य इशारा कर रहे हैं.

उस दिन आचार्य ने कहा था कि भारत जोड़ो यात्रा के लिए चर्चा हुई थी, लेकिन अब भारत जोड़ो यात्रा राजस्थान में चल रही है. डॉ. सीपी जोशी से आचार्य की मुलाकात ने यहां के सियासी गलियारे में बैठकों का दौर शुरू कर दिया था. कृष्णम की मुलाकात के कई मायने निकाले गए थे और भी चर्चा है. आचार्य प्रमोद ने उस दिन कहा था कि प्रदेश का हर एक कांग्रेस विधायक पार्टी नेतृत्व के फैसले के साथ खड़ा है. पार्टी आलाकमान जो भी निर्णय करेगा, सभी उसे मानेंगे. फिर आज के सोशल मीडिया पर लिखी गई बात बहुत कुछ कह रही है.

ये भी पढ़ें -: हिमाचल में भाजपा ने शुरू किया गेम, निर्दलियों से संपर्क, विनोद तावड़े को शिमला भेजा

ये भी पढ़ें -: सरकार से बोला SC- मंत्रियों को समझाएं कि कॉलेजियम पर ना बोलें, हम संसद के कानून खारिज कर दें तो ?


आर्टिकल को शेयर ज़रूर करें :-